एसपी की समझाइश के बाद उठाया शव, किया अंतिम संस्कार

एसपी की समझाइश के बाद उठाया शव, किया अंतिम संस्कार
तीन दिन धरना-प्रदर्शन के बाद एसपी डॉ. विकास पाठक द्वारा परिजनों को समझाइश कर शव उठाने पर राजी किया।

Sandeep Pandey | Updated: 11 Sep 2019, 11:23:56 AM (IST) Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

नावां शहर. शहर के निकटतम ग्राम राजास घाटी में शनिवार सुबह फांसी पर लटके हुकमाराम के शव पर चल रहे गतिरोध का खात्मा हो गया। तीन दिन धरना-प्रदर्शन के बाद एसपी डॉ. विकास पाठक द्वारा परिजनों को समझाइश कर शव उठाने पर राजी किया।

नावां शहर. शहर के निकटतम ग्राम राजास घाटी में शनिवार सुबह फांसी पर लटके हुकमाराम के शव पर चल रहे गतिरोध का खात्मा हो गया। तीन दिन धरना-प्रदर्शन के बाद एसपी डॉ. विकास पाठक द्वारा परिजनों को समझाइश कर शव उठाने पर राजी किया। मंगलवार को हुकमाराम का अंतिम संस्कार किया गया। गौरतलब है राजास घाटी में शनिवार सुबह हुकमाराम पुत्र गोपीराम (33) निवासी लोहराणा का फंदे पर लटका हुआ मिला। हुकमाराम पर 3 सितंबर को गांव के ही एक व्यक्ति ने हमला किया था। तब हुकमाराम ने 4 सितंबर को नावां थाने में रिपोर्ट दे बताया था कि वह अपनी भेड़-बकरियां चरा रहा था। इस दौरान पप्पूराम मीणा निवासी दौसा हाल निवासी गोपाल गोशाला लोहराणा द्वारा मारपीट की गई, जिससे हाथ की अंगुलियां टूट गई। फिर भी पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया और रिपोर्ट दर्ज नहीं की। इस बीच शनिवार सुबह करीब 11 बजे सूचना मिली कि राजास घाटी के पास हुकमाराम का शव पेड़ से लटका हुआ है। हुकमाराम की मौत के बाद 7 सितंबर को परिजनों ने नामजद आरोपियों के खिलाफ हत्या करने की रिपोर्ट दी। इस रिपोर्ट के बाद 8 सितंबर को हुक्माराम के साथ 3 सितंबर के दिन हुई मारपीट का मामला दर्ज किया गया था। देर रात 1 बजे समझाइश होने के बाद परिजनों ने शव उठाया।

सोमवार देर रात करीबन 1 बजे एसपी ने आश्वस्त किया कि दोषियों पर कार्रवाई होगी और साथ ही उचित मुआवजा दिलवाया जाएगा। इसके बाद परिजन शव उठाने पर राजी हुए।

3 सितंबर को हमला हुआ, 7 को उसकी मौत के बाद दर्ज किया मामला

हुकमाराम पर 3 सितंबर को जानलेवा हमला हुआ था। 4 सितंबर को हुकमाराम ने नावां थाने में रिपोर्ट दी। 5 सितंबर को अंगुली में अधिक चोट के कारण अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। 6 सितंबर को हुकमाराम के हाथ का ऑपरेशन हुआ। 7 सितंबर को सुबह साढ़े 9 बजे हुकमाराम अस्पताल से बिना बताए चला गया। इस बीच 11 बजे उसका शव राजास घाटी में एक पेड़ पर लटका मिला। मृतक के भाई नाथूराम पुत्र गोपीराम ने हमला करने वाले आरोपी पप्पू राम मीणा, पप्पू राम की मां निवासी दौसा, मोतीराम पुत्र उधाराम निवासी लोहराणा, छीतरमल पुत्र सूजाराम निवासी लोहराणा, केसाराम पुत्र सूजाराम निवासी लोहराणा, प्रभूराम पुत्र घीसाराम सहित अन्य तीन-चार अन्य पर हत्या का मामला दर्ज कराया गया था।

इनका कहना

परिजनों व ग्रामीणों ने जो मांग रखी उस पर अमल किया जा रहा है। आरोपियों पर कठोर कार्रवाई के साथ अन्य मांगों पर जल्द कदम उठाए जाएंगे।

एसपी विकास पाठक नागौर।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned