scriptThe officers of the state government were engaged in defrauding the revenue... | राज्य सरकार के अधिकारी ही राजस्व को चूना लगाने में लग गए...! | Patrika News

राज्य सरकार के अधिकारी ही राजस्व को चूना लगाने में लग गए...!

Nagaur. गुटखे का करोड़ों में कारोबार, हिसाब किसी के पास नहीं
- सरकार को लगा रहे राजस्व का चूना, जिम्मेदारों ने साध रखा मौन

- दुकानदार खरीद का नहीं लेते-देते बिल

नागौर

Updated: June 22, 2022 09:28:54 pm

नागौर. सरकार के बढ़ते राजस्व घाटे में राज्यकर विभाग की बेफिक्री भी कम नहीं है। विभाग की ओर से गुटखा कारोबारियों पर कोई नजर नहीं, जबकि यह करोड़ों का कारोबार कर रहे हैं। कई दुकानदारों के पास गुटखा खरीद की कोई पक्की रसीद तक नहीं है। इससे राजस्व के नुकसान की स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है। जिले में नागौर, मकराना, डीडवाना, कुचामन, डेगाना, मौलासर, जायल, खींवसर, रियाबड़ी एवं मेड़ता क्षेत्रों में गुटखे की बिक्री करने वाले दुकानदारों की पड़ताल की गई। पड़ताल के दौरान कई दुकानदारों से बातचीत की। अधिकतर दुकानदार के पास खरीद को लेकर कोई पक्की रसीद मिली।

na240961.jpg

फिर हुंकार भरने की तैयारी में हनुमान बेनीवाल, 27 को जोधपुर से होगी शुरुआत

पड़ताल की तो दुकानों में मिली लापरवाही

नागौर शहर के रेलवे स्टेशन, कलक्ट्रेट चौराहा, मानासर चौराहा, नया दरवाजा, कॉलेज रोड, मूण्डवा चौराहा, विजयबल्लभ चौराहा आदि क्षेत्रों में दुकानों पर पड़ताल की। इस दौरान दुकानदारों से बातचीत की, जिसमें पाया कि खरीद की कोई रसीद नहीं मिलती। वह सीधे नगद राशि देकर गुटखा खरीद ले आते हैं। शहर में अधिकतर गुटखा दुकानदार से बातचीत की तो खरीद का बिल होने का इनकार कर दिया।

पपीता-गुलमोहर एवं रोहिड़ा पौधों की हरियाली से लहराएगा जिला |

दिनभर बिक्री, कोई हिसाब नहीं

दुकानदारों से बातचीत हुई तो पता चला कि विभिन्न प्रकार के गुटखा उत्पादों की बिक्री कर रहे हैं। बिक्री का आंकड़ा हजारों में है। दुकान पर गुटखा खत्म हुआ तो डीलर से फिर से ले आते हैं। इसका कोई हिसाब नहीं रखते। न ही किसी ने कभी इसकी जांच की है।

स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव

गुटखा खाने से लोगों के स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। कई-कई जगहों पर तो बच्चे और महिलाओं को भी इसकी लत लग रही है।

इनका कहना ...

जीएसटी से जुड़े प्रकरणों पर जिले के तीनो सीटीओ को आवश्यक दिशा-निर्देश पहले ही दिए जा चुके हैं। इसके बाद भी इस संबंध में कोई गड़बड़ी हो रही है तो इसे देखवाया जाएगा।

रामप्रसाद, अतिरिक्त आयुक्त, राज्यकर अजमेर
कृषि भूमि के 20 प्रकरण निस्तारित
नागौर. प्रशासन-शहरों संग अभियान के तहत नेहरू उद्यान में मंगलवार को वार्ड 36, 37, 38, 39 एवं 40 का शिविर लगा। इसमें कृषि भूमि के 20 प्रकरण, 69-क के 13 प्रकरण, भू उपयोग परिवर्तन के दो प्रकरण, लीज होल्ड से फ्री होल्ड के एक प्रकरण, खांचा भूमि के एक प्रकरण, भवन निर्माण के एक प्रकरण, जन्म, मृत्यु, विवाह के 28 प्रकरण, नामान्तरण के पांच प्रकरण, पानी व बिजली एन.ओ.सी. के छह प्रकरण का निस्तारण किया गया। 27 जून को वार्ड 41, 42, 43, 44 व 45 का लगाया जाएगा। इस दौरान सभापति मीतू बोथरा, आयुक्त श्रवणराम चौधरी, सचिव अनिता बिरदा, उपसभापति सदाकत अली, पार्षद मनीष कच्छावा, किशोर, भरत टाक एवं अशोक जैन आदि मौजूद थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Sharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'Mumbai News Live Updates: शिवसेना के बागी विधायकों के साथ गोवा से मुंबई पहुंचे सीएम एकनाथ शिंदे, कहा- फ्लोर टेस्ट सिर्फ एक औपचारिकता हैIND vs ENG, 5th Test Match Day 2 Live Updates: बारिश की वजह से खेल दोबारा रुका, इंग्लैंड 3 विकेट के नुकसान पर 60 रनों परआईएमडी ने जताई अगले 48 घंटों के लिए चेन्नई में बारिश की संभावनासमुद्र के फैलाव से भूकम्प के झटके....पिछले 25 वर्ष में 10 फीसदी बढ़े... द. कन्नड़ जिले में पिछले 200 साल में 150 से अधिक भूकम्प आएMaharashtra Politics: फडणवीस को डिप्टी सीएम बनने वाला पहला CM कहने पर शरद पवार की पूर्व सांसद ने ली चुटकी, कहा- अजित पवार तो कभी...Udaipur Killing: आरोपियों के मोबाइल व सोशल मीडिया का डाटा एटीएस के लिए महत्वपूर्ण, कई संदिग्धों पर यूपी एटीएस का पहरा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.