Nagaur patrika news. गिरीराज के पूजन में बनाई गोवर्धन की आकृति

Nagaur patrika news. नागौर में धूमधाम के साथ मनाया गया गोवर्धन पूजा पर्व

By: Sharad Shukla

Published: 15 Nov 2020, 08:48 PM IST

नागौर. दीपावली के दूसरे दिन रविवार को गोवर्धन पर्व बड़े धूमधाम एवं उल्लास के साथ मनाया गया। शहरवासियों ने अपने घरों में पूरी आस्था के साथ गाय के गोबर से गिरिराज गोवर्धन की आकृति बनाकर विधि विधान से पूजा की। शहर के विभिन्न मंदिरों में भी महादेव मंदिर, बंशीवाला मंदिर, महालक्ष्मी मंदिर समेत अन्य मंदिरों में पूजा-अर्चना की गई। जहां पर गाय का गोबर उपलब्ध नहीं था, वहां पर लोगों ने रंगोली के रंगों से भगवान की आकृति बनाकर उनकी विधि-विधान से पूजा की। भक्तों ने भगवान गोवर्धन को अन्नकूट का भोग लगाया। मंदिरों में भी कोरोना गाइडलाइन को ध्यान में रखतेह ुए भक्तों ने सामूहिक रूप से भगवान गोवर्धन की पूजा की। शहर के मरुधर कॉलोनी, मूण्डवा रोड, वाटरवक्र्स चौराहा के पास सहित विभिन्न कालोनियों में भी विधि-विधान से भगवान गोवर्धन की पूजा हुई। जबकि गांवों में समूह बनाकर लोगों ने एक दूसरे के घर जाकर गोवर्धन की पूजा की। इस दौरान कुछ जगहों पर अन्नकूट महोत्सव का आयोजन भी किया गया। इसके साथ ही दीपावली के अगले दिन लोग एक-दूसरे के घरों में दीपावली की शुभकामनाएं देने पहुंचे। हालांकि इस दौरान कोरोना गाइडलाइन का भी ध्यान रखा गया।

इसलिए होती है गोवर्धन पूजा
गोवर्धन पूजा के बारे में मान्यता है कि देवराज इंद्र का घमंड तोडऩे के लिए श्रीकृष्ण ने इंद्र की पूजा करने की बजाय गोवर्धन पर्वत की पूजा करने के लिए ग्रामीणों को प्रेरित किया। जब इंद्र को इस बात का पता चला तो उन्होंने पूरे गोकुल गांव को नष्ट करने व कृष्ण को अपनी शक्तियों का परिचय देने के लिए भारी बारिश करा दी। गांव में हाहाकार मच गया। तब भगवान श्रीकृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपनी अंगुली पर उठा लिया और ग्रामीणों की रक्षा की। सात दिन तक लगातार इंद्र ने अपना कहर बरपाया, लेकिन किसी भी ग्रामीणों को क्षति नहीं पहुंची। तब से भगवान श्रीकृष्ण को गोवर्धन के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन मंदिरों में काफी संख्या में लोग गोवर्धन भगवान की पूजा करते है।

Sharad Shukla Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned