फर्जी अंकतालिका से खेले छात्र ने सेंट मेरी को बनाया विजेता, अब होगी कार्रवाई

फर्जी अंकतालिका से खेले छात्र ने सेंट मेरी को बनाया विजेता, अब होगी कार्रवाई

shyam choudhary | Publish: Sep, 09 2018 11:26:31 AM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/nagaur-news/

बड़ी खाटू/नागौर. फर्जी अंकतालिका लगाकर सरपंच बनने वाले 'नेताजी' का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ कि अब जिला स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता में फर्जी अंकतालिका लगाने का 'खेल' सामने आया है। रियां बड़ी क्षेत्र के रावतखेड़ा राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में गत एक से 4 सितम्बर तक आयोजित हुई 14 वर्षीय छात्र वर्ग की 63वीं जिला स्तरीय कबड्डी खेलकूद प्रतियोगिता में अमरपुरा की सेंट मेरी सैकण्डरी स्कूल के छात्र मनदीप सिंह पुत्र विक्रम सिंह ने फर्जी अंकतालिका के आधार पर भाग लेकर न केवल पूरी प्रतियोगिता का परिणाम प्रभावित किया, बल्कि प्रतियोगिता में बेस्ट रेडर का खिताब भी अपने नाम कर लिया। मामले का खुलासा होने पर प्रतियोगिता में भाग लेने वाली जिले की शेष 39 टीमों के खिलाड़ी एवं उनके प्रभारी छात्र के साथ स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। गौरतलब है कि कबड्डी प्रतियोगिता का फाइनल मुकाबला अमरपुरा की सेंट मेरी सैकण्डरी स्कूल व राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बरनेल के बीच खेला गया, जिसमें सेंट मेरी स्कूल की टीम विजेता रही थी।

जांच में खुली फर्जीवाड़े की पोल
बरनेल विद्यालय के प्रधानाचार्य के अनुसार राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए चयनित खिलाडिय़ों के दस्तावेज जांच के दौरान छात्र मनदीप की अंकतालिका ऑफ लाइन जारी की हुई मिली तथा विद्यालय के एसआर नम्बर भी दर्ज नहीं मिले। जबकि अन्य विद्यालयों की अंकतालिका शाला दर्पण से ऑनलाइन निकाली गई थी। संदेह होने पर उन्होंने काछवा (सीकर) विद्यालय के प्रधानाचार्य से सम्पर्क कर जानकारी जुटाई, जिसमें अंकतालिका फर्जी होना पाया गया। इसके बाद बरनेल प्रधानाचार्य ने जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारम्भिक शिक्षा) रजिया सुल्तान को पत्र लिखकर बताया कि राउमा विद्यालय काछवा सीकर के प्रधानाध्यापक ने बताया कि छात्र मनदीप सिंह पुत्र विक्रम सिंह वर्ष 2017-18 में विद्यालय में अध्ययनरत नहीं था। इससे यह स्पष्ट हो गया कि छात्र ने फर्जी अंकतालिका लगाई है, जिससे प्रतियोगिता का पूरा परिणाम प्रभावित हुआ है। फाइनल मैच में इस खिलाड़ी ने उप विजेता टीम के परिणाम को भी प्रभावित किया। इसलिए सेंट मेरी सैकण्डरी स्कूल अमरपुरा से विजेता का खिताब छीनकर उप विजेता टीम बरनेल को विजेता घोषित किया जाए। साथ ही सेंट मेरी स्कूल के संस्था प्रधान के विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई की जाए।

काछवा के प्रधानाचार्य ने की कार्रवाई की मांग
सीकर जिले के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय काछवा के प्रधानाचार्य राजेन्द्र गुप्ता को बरनेल विद्यालय के प्रधानाचार्य ने छात्र मनदीप सिंह के बारे में जानकारी मांगी तो उन्होंने विद्यालय का रिकॉर्ड जांचा, जिसमें मनदीप का कहीं नाम नहीं था। इस पर उन्होंने छात्र द्वारा उनके विद्यालय के नाम से फर्जी अंकतालिका बनाकर प्रतियोगिता में भाग लेने पर सीकर डीईओ को पत्र लिखकर मनदीप के खिलाफ कठोर कार्रवाई की अनुशंषा की।

फर्जीवाड़े के खिलाफ हो सख्त कार्रवाई
बरनेल विद्यालय के अध्यापकों एवं सरपंच इलियास खान ने कहा कहा कि निजी स्कूल की मिलीभगत से छात्र की फर्जी अंकतालिका लगाकर प्रतियोगिता का परिणाम प्रभावित किया गया है। छात्र ने न केवल खेल भावना का ताक पर रखा, बल्कि अपराध भी किया है। शिक्षा विभाग को पूरे मामले की तह तक जाकर इस फर्जीवाड़े में शामिल लोगों के नाम उजागर करने चाहिए, ताकि आगे से कोई भी व्यक्ति ऐसा करने से पहले दस बार सोचे। सरपंच खान ने कहा कार्रवाई नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

मनदीप मेरा नियमित छात्र
मनदीप सिंह मेरे विद्यालय का ही छात्र है और विद्यालय में अध्ययन करता है। जो मार्कशीट फर्जी बताई जा रही है, वह छात्र ने कहां से बनाई, इसकी मुझे जानकारी नहीं है। छात्र नागौर में ही रहता है, फिलहाल पांच दिन से अवकाश पर है।
- धर्मन्द्र प्रजापत, सेंट मेरी स्कूल, अमरपुरा

सख्त कार्रवाई हो
निजी विद्यालय के अध्यापकों ने फर्जी बच्चे को मैच खिलाकर पूरी प्रतियोगिता का परिणाम प्रभावित किया है। हमारे विद्यालय के खिलाडिय़ों ने खूब मेहनत की, लेकिन फर्जी खिलाडी मनदीप की वजह से मैच हारना पड़ा। शिक्षा विभाग के अधिकारियों को ऐसे बच्चों व विद्यालय के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।
- पोखरराम सिंवर, खेल प्रभारी, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, बरनेल

छात्र का चयन निरस्त
बरनेल विद्यालय से फर्जी अंकतालिक का मामला सामने आने पर मैंने मामले की पूरी जानकारी जुटाई है। छात्र मनदीप सिंह का राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए चयन निरस्त कर दिया है। अंकतालिका कहां से आई, इसको लेकर विभागीय जांच होने के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
- रामूराम सैनी, खेल प्रभारी, जिला शिक्षा अधिकारी, नागौर

कार्रवाई के निर्देश दिए हैं
छठी कक्षा की अंकतालिका फर्जी पाई जाने पर अमरपुरा के सेंट मेरी विद्यालय के छात्र मनदीप सिंह को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता से बाहर कर उसके स्थान पर दूसरे आरक्षित खिलाड़ी को प्रशिक्षण देने के निर्देश शिविराधिपति को जारी कर दिए हैं। साथ ही छात्र के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के लिए सेंट मेरी स्कूल के प्रधानाध्यापक को निर्देश दिए गए हैं।
- रजिया सुल्तान, जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारम्भिक शिक्षा), नागौर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned