जड़ा तालाब में होगा नौकायन, सेल्फी पाइंट भी लगेगा

नागौर को बनाएंगे सुंदर और स्वच्छ, प्राचीन तालाब बनेंगे पर्यटन स्थल
जिला कलक्टर ने ली मैराथन बैठक, अमृत प्रोजेक्ट के कार्यों में गति लाने की हिदायत

By: shyam choudhary

Published: 08 Oct 2020, 10:51 AM IST

नागौर. शहर के ऐतिहासिक व प्राचीन जड़ा तालाब सहित आसपास के क्षेत्र को पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित करने एवं तालाब में नौकायन शुरू करने को लेकर राजस्थान पत्रिका की ओर से करीब छह साल पहले शुरू किए गए अभियान को जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्रकुमार सोनी के प्रयासों से पंख लगेंगे। शहरवासियों के साथ नगर परिषद व जिला प्रशासन के सहयोग से तालाब में करोड़ों रुपए से घाट निर्माण एवं पाल पर सिटी पार्क का निर्माण लगभग पूरा हो गया है और तालाब में नौकायन शुरू होने की संभावना भी नजर आई है। नागौर शहर को सुंदर और स्वच्छ तथा पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए अब मिशन मोड पर काम होगा। इसे लेकर कलक्टर डॉ. सोनी ने नागौर शहर का डवलपमेंट प्लान बनवाने के साथ-साथ शहर के प्राचीन दरवाजों और तालाबों का सौन्दर्यकरण करवाने के निर्देश भी दिए हैं।
जिला कलक्टर ने बुधवार को इसे लेकर संबंधित अधिकारियों की बैठक ली। डॉ. सोनी ने नगर परिषद आयुक्त को निर्देश दिए कि शहर के छह प्राचीन दरवाजों और दो पोळ की मरम्मत और सौन्दर्यकरण करवाने का काम जल्द करवाया जाए। नगर परिषद आयुक्त ने बताया कि इसे लेकर पूरी कार्ययोजना बना ली गई है। जिला कलक्टर डॉ. सोनी ने प्राचीन दरवाजों के सौन्दर्यकरण के साथ-साथ शहर के प्राचीन जड़ा तालाब, प्रताप सागर, बख्त सागर, गिन्नाणी तालाब आदि का भी सौन्दर्यकरण करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्देश दिए कि जड़ा तालाब के जीर्णोद्धार और सौन्दर्यकरण करवाने के साथ-साथ यहां पर नौकायन शुरू करवाया जाए। इसके साथ-साथ यहां आई लव नागौर नाम से एक साइनिंग बोर्ड लगाया जाकर इसे सेल्फी पाइंट के रूप में विकसित किया जाए, ताकि यहां लोगों की आवाजाही बढ़े। जिला कलक्टर ने सभी तालाबों के आसपास के क्षेत्र में हरियाली विकसित करने तथा खाली पड़े क्षेत्र को पार्क के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए।

सीवरेज व पेयजल पाइपलाइन के कार्य में गति लाने के निर्देश
कलक्टर सोनी ने अमृत प्रोजेक्ट के तहत शहर में चल रहे सीवरेज लाइन तथा पेयजल पाइपलाइन डालने के कार्य को गति देने की हिदायत संबंधित निर्माण एंजेसी को दी। उन्होंने निर्देश दिए कि शहर के जिन क्षेत्रों में सरवरेज का काम हो चुका है, वहां सडक़ के पेचवर्क का काम जल्द से जल्द पूरा करवाया जाए। उन्होंने शहर में अंडरग्राउण्ड डाली गई पेयजल पाइपलाइन के कारण टूटी सडक़ों का मरम्मत कार्य भी जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। इसे लेकर उन्होंने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता को निर्देश दिए कि वे नगर परिषद प्रशासन को सडक़ का पेचवर्क करवाने के लिए आवश्यक बजट राशि मुहैया करवाएं। कलक्टर ने जड़ा तालाब के पास बन रहे एसटीपी के निर्माण कार्य में प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्माणधीन पम्पिंग स्टेशन का कार्य आगामी डेढ़ माह की अवधि में पूरा करने के निर्देश दिए।

लैंड बैंक बनाने के निर्देश
नागौर शहर में नगर परिषद क्षेत्र में खाली पड़ी भूमि का लैंड बैंक बनाने के निर्देश नगर परिषद आयुक्त को दिए। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर मनोज कुमार, नगर परिषद आयुक्त जोधाराम बिश्नोई, पीडब्ल्यूडी एसई सत्येन्द्रसिंह, पीएचईडी एसई भंवराराम चौधरी, नगर परिषद एक्सईएन आर.पी. मीणा, एईएन अर्जुनसिंह, अमृत प्रोजेक्ट के एक्सईएन अशोक जांगीड़ तथा शहर में अमृत प्रोजेक्ट के तहत काम कर ही निर्माण एजेंसी वाईएफसी और लाहोटी बिल्डकोन के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned