scriptThis time it rained a lot in Nagaur, yet the dam remained empty | नागौर में इस बार खूब बरसा पानी, फिर भी खाली रह गए जिले के बांध | Patrika News

नागौर में इस बार खूब बरसा पानी, फिर भी खाली रह गए जिले के बांध

locationनागौरPublished: Oct 03, 2022 02:45:22 pm

Submitted by:

shyam choudhary

जिले के नौ में से तीन बांधों में ही आया पानी, बाकी छह रह गए सूखे
- बांधों का कैचमेंट एरिया धीरे-धीरे कम होने के कारण सूखे रह जाते हैं बांध
- जिले में इस बार हुई औसत से 165 एमएम अधिक बारिश

पीरजी का नाका बांध
पीरजी का नाका बांध
नागौर. प्रदेश में इस बार मानसून की मेहरबानी के चलते दक्षिणी व पूर्वी जिलों में भले बड़े-बड़े बांधों के गेट खोले गए, लेकिन नागौर जिले के बांध पानी को ही तरस गए। प्रदेश में मानसून विदाई ले चुका है और जिले के नौ में से छह बांध आज भी सूखे हैं। जिले तीन बांधों में पानी आया, लेकिन वो भी पूरे नहीं भर सके। भैरूंदा बांध में भराव क्षमता 5.79 मीटर की तुलना में 2.31 मीटर पानी आ पाया है, जबकि अन्य दो बांध पीरजी का नाका में 2.54 मीटर व हरसौर बांध में 2.23 मीटर पानी ही आया है। यानी हरसौर व भैरूंदा बांध आधे खाली रह गए। जबकि जिले में इस वर्ष 500 मिलीमीटर से अधिक औसत बारिश रिकॉर्ड की जा चुकी है, साथ ही जिन तहसील क्षेत्रों में बांध बनाए गए हैं, वहां बारिश का औसत भी अधिक है।
गौरतलब है कि जिले के मेड़ता, परबतसर, डेगाना, रियां व मकराना क्षेत्र में सभी बांध अवस्थित हैं और सबसे अधिक बारिश मकराना, परबतसर, नावां, कुचामन, मेड़ता तहसील क्षेत्र में हुई। इसके बावजूद बांधों में पानी नहीं आने की प्रमुख वजह पानी की आवक में अवरोध उत्पन्न होना है। विशेषज्ञों एवं क्षेत्र के लोगों का मानना है कि बांधों में पानी की आवक वाले स्थानों पर जगह-जगह पर पक्की दीवारें खड़ी होने से आवक के रास्ते बंद हो गए हैं। वन विभाग और ग्राम पंचायत की ओर से कराए गए मेड़ बंधी और तलाई निर्माण के कामों से भी बांधों का कैचमेंट एरिया कम हो गया है। पहले बारिश होते ही पानी बांध में आता था, अब बाढ़ आने पर ही पानी आ पाता है।
वर्तमान में जिले के बांधों की स्थिति
बांध - निर्माण - क्षमता - पानी आया
पीरजी का नाका -1962-63 - 3.35 - 2.54
हरसौर बांध - 1958-59 - 4.88 - 2.23
भैरुंदा बांध - 1972 - 5.79 - 2.31
भकरी बांध - 1972 - 3.55 - 00
मोकाला द्वितीय - 1995-96 - 1.7 - 00
कलरु बांध - 1982-83 - 01 - 00
पंूदलु बांध - 1972-73 - 2.76 - 00
गगराना बांध - 1972 - 2.9 - 00
झालरा बांध - 1973 - 1.52 - 00
(क्षमता मीटर में)
कई बांध वर्षों से सूखे
स्थानीय ग्रामीणों के अनुसार जिले के कई बांध वर्षों से नहीं भरे। कभी-कभार बारिश अधिक होती है तो थोड़ा सा पानी आ जाता है, लेकिन अपनी भराव क्षमता तक नहीं पहुुंचे। इसमें मोकाला, कलरू, पूंदलु, गगराना, झालरा ऐसे बांध हैं जो पिछले काफी समय से नहीं भरे।

जिले में इस बार हुई बारिश
तहसील - औसत - इस वर्ष
नागौर - 309.9 - 323 -
मूण्डवा - 309.9 - 422
खींवसर - 309.9 - 325
जायल - 325.4 - 363
मेड़ता - 418.6 - 514
रियां बड़ी - 418.6 - 371
डेगाना - 372 - 322
डीडवाना - 309.9 - 545
लाडनूं - 331.4 - 316
परबतसर - 389.3 - 599
मकराना - 389.3 - 1029
नावां - 460.8 - 715
कुचामन - 460.8 - 683
जिले की औसत - 369.7 - 502.07
नोट - गत वर्ष व इस वर्ष के बारिश के आंकड़े एक जून से 28 अगस्त तक के हैं।
मेड़बंदी से जल भराव के रास्ते हुए बंद
मशीनरी अधिक होने से किसानों ने खेत खेत में मेड़बंदी कर ली है, पक्की दीवारें निकाल ली हैं, जिसके कारण पानी की आवक नहीं हो पाती है। एक बड़ा कारण यह भी के बांधों के कैचमेंट क्षेत्रों में बारिश कम हुई, जिसके कारण भी बांध सूखे रह गए।
- कुम्भाराम, सहायक अभियंता, जल संसाधन विभाग, मेड़ता सिटी

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

गुजरात चुनाव LIVE: पहले चरण के मतदान के छह घंटे पूरे, दोपहर 1 बजे तक 34.48 % वोटिंगगुजरात चुनावः खरगे के रावण वाले बयान पर बोले PM मोदी- जितना कीचड़ उछालोगे उतना कमल खिलेगागुजरात में वोटिंग से बीच बड़ा बवाल, BJP प्रत्याशी पर जानलेवा हमला, कांग्रेस पर आरोपएलएसी के पास चीन बना रहा एक और सैन्य चौकी, अमेरिकी सांसद ने खोली पोलदुनिया के टॉप-100 सबसे ज्यादा कमाने वाले खिलाड़ियों की सूची में सिर्फ एक क्रिकेटर विराट कोहलीबढ़ती गर्मी रोकने को भारत में कूलिंग क्षेत्र में 1.6 ट्रिलियन डालर के निवेश की संभावना, रोजगार भी बढ़ेगा : वर्ल्ड बैंकAIIMS सर्वर हैक के बाद जल शक्ति मंत्रालय का भी ट्विटर हैंडल हैकश्रद्धा के कातिल आफताब का नार्को टेस्ट, हत्या से जुड़े अहम राज खुलेंगे आज!
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.