बेफिक्र डिस्कॉम, घरों में दौड़ रहा हवाई करंट

खींवसर. सरकार ने ग्रामीणों को निर्बाध बिजली उपलब्ध करवाने के लिए जीएसएस तो बना दिए पर उनका रखरखाव नहीं करने से हर समय बड़ी दुर्घटना का खतरा मंडरा रहा है। हालात यह है कि ग्राम भूण्डेल में वर्ष 2017 में बने 33/11 केवीए जीएसएस का आज तक मेंटनेंस नहीं किया गया है।

By: Ravindra Mishra

Published: 12 Apr 2020, 10:54 PM IST

खींवसर. सरकार ने ग्रामीणों को निर्बाध बिजली उपलब्ध करवाने के लिए जीएसएस तो बना दिए पर उनका रखरखाव नहीं करने से हर समय बड़ी दुर्घटना का खतरा मंडरा रहा है। हालात यह है कि ग्राम भूण्डेल में वर्ष 2017 में बने 33/11 केवीए जीएसएस का आज तक मेंटनेंस नहीं किया गया है। ऐसे में जीएसएस पर लगे कर्मचारी को हर समय खतरे से खेलना पड़ रहा है, साथ ही विद्युत ढांचे में सुधार नहीं होने से कई बार घरों में हवाई करंट दौड़ता है। स्थिति है कि जीएसएस पर लगी वीसीबी काम नहीं करने से 11 हजार केवीए लाइन टूटने के दौरान ट्रिपिंग भी नहीं होती है जिससे दुर्घटनाएं भी हो रही है। विजुअल स्पार्किंग कर जल रहे हैं वहीं इंसुलेटर तक टूटे-फूटे पड़े है। स्थिति यह है कि जीएसएस का अर्थ भी फेल है और मात्र एक अर्थ से काम चल रहा है। इसमें कई बार घरों में हवाई करंट भी फैल रहा है। जर्जर होते विद्युत तंत्र की सांसे उखडऩ़े लगी है। दिनभर में कई बार बिजली की अघोषित कटौती लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गई है। इस परेशानी का मूल कारण समय पर डिस्कॉम की ओर से रखरखाव व मरम्मत कार्य नहीं करना है। पंचायत समिति खींवसर की भुण्डेल ग्राम पंचायत मुख्यालय पर 2017 में जीएसएस का संचालन शुरू किया गया। उसके बाद तीन साल में आज तक मरम्मत का कार्य नहीं किया गया।

हादसे की रहती है आशंका

डिस्कॉम की ओर से जीएसएस की मरम्मत व रखरखाव पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इस जीएसएस से ग्राम पंचायत के अलावा ग्रामीण क्षेत्र के अन्य गांव भी जुड़े हुए है लेकिन व्यवस्था नहीं सुधार नहीं हो रहा है। जीएसएस के मुख्य ट्रांसफॉर्मर से निकलने वाली लाइन के तार टूट चुके हैं। कार्मिक पतले तार लपेट कर जॉइंट से काम चला रहे हैं। गर्मी के मौसम में बार-बार तार टूटने से फॉल्ट हो जाता है। अचानक तार टूटने से यहाँ काम कर रहे कार्मिकों के साथ हादसा होने की आशंका रहती है। ऐसे में समय रहते जीएसएस पर मरम्मत का कार्य नहीं किया गया तो हादसा हो सकता है। ग्रामीणों का कहना है कि बारिश में काम करने में करंट का खतरा रहता है। आए दिन केबलों व तारों से निकलने वाली चिंगारी से घांस व झाडिय़ों में आग लग जाती है।

अधिकारियों को करवाया है अवगत

जीएसएस पर लंबे समय से रख रखाव व मरम्मत का कार्य नहीं होने से हादसे की आशंका रहती है। इस सम्बंध में डिस्कॉम के अधिकारियों को अवगत करवाया है।

-धर्मेन्द्र गौड़, सरपंच भूण्डेल

हर संभव हादसे का खतरा

मरम्मत के अभाव में विद्युत जीएसएस का पूरा ढांचा ही खराब है। हर संभव मौत के मुंह में काम करना पड़ रहा है। अधिकारियों को पिछले चार माह से अवगत करवा रहे हैं लेकिन मरम्मत नहीं होने से किसी भी समय बड़े हादसे की आंशका है।

- गिरधारीलाल कड़वासरा, लाईनमैन, जीएसएस भूण्डेल

Ravindra Mishra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned