वाहन चालकों को मिलेगी हिचकोलों से राहत

वाहन चालकों को मिलेगी हिचकोलों से राहत

Devendra Singh | Publish: Nov, 14 2017 11:59:31 AM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

50 गांवों के मुख्य बाजार के बुरे हाल, बीच सडक़ पर खड़े हाथ ठेला बिगाड़ रहे यातायात व्यवस्था

नागौर/ खींवसर. क्षेत्र के करीब पचास गांवों के मुख्य बाजार व बस स्टेण्ड पर बीच राह खड़े हाथ ठेलों से यातायात बुरी तरह प्रभावित है। सबकुछ आंखों के सामने होने के बाद भी पुलिस एवं प्रशासन कोई कार्यवाई नहीं कर रहा है। इससे राहगीरों व ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। मुख्य मार्ग पर आड़े-तिरछे खड़े रहने वाले हाथ ठेलों से दिन में कई बार जाम लगता है। पुलिस केवल अनौपचारिक कार्यवाई कर इतिश्री कर रही है। यातायात प्रभावित होने से दुकानदारों का धंधा चौपट हो रहा है। आस-पास के करीब 50 गांवों के ग्रामीणों की खरीददारी के लिए यहां प्रमुख बाजार है। साथ ही जोधपुर , नागौर, ओसियां व फलोदी को जोडऩे वाले मुख्य मार्ग की सभी बसों का संचालन इसी बस स्टेण्ड से होता है, लेकिन हाथ ठेले लोगों के लिए सिर दर्द बने हुए है। ग्राम पंचायत कई बार इनको हटाने के लिए प्रस्ताव भी ले चुकी है, लेकिन पुलिस व प्रशासन इस प्रस्ताव पर कोई गौर नहीं कर रहे है। पुलिस थाने में सीएलजी की बैठक हो चाहे शांति समिति की बैठक हर बार यह मुद्दा प्रमुखता से उठता है। पुलिस महज औपचारिकता कर रही है। आबादी क्षेत्र से गुजरने वाली सडक़ पर भारी वाहनों का प्रवेश निषेध होने के बाद भी यहां माल वाहन व लाइम स्टोन से भरे ट्रक दिनभर गुजरते हैं। इन्हें रोकने का प्रयास पुलिस भी नहीं कर रही है। खींवसर के चारों दिशाओं में रिंग रोडे बनी हुई है, लेकिन ट्रक चालक इन रिंग रोडों का उपयोग करने की बजाए कस्बे के भीड़भाड़ वाले इलाके में से गुजरते है। इस कारण हर समय बड़े हादसे की आशंका बनी हुई है। पत्थरों से ओवर लोडेड इन ट्रकों में से कई बार पत्थर गिर जाते हैं।

कागजों में हो गया निस्तारण
दुकानदारों द्वारा इस मामले में सम्पर्क पोर्टल पर शिकायत भी दर्ज करवाई, लेकिन उनके पास समस्या का समाधान कर देने का जवाब आया है। दुकानदारों का कहना है कि कागजों में इस समस्या का समाधान कर दिया गया है। ऐसे में दुकानदारों का सम्पर्क पोर्टल से होने वाले समाधान से भी भरोसा उठ गया है।

तरनाऊ. नागौर से डीडवाना तक सडक़ का पुननिर्माण कार्य शुरू होने से नागौर से रोल, फरड़ोद, तरनाऊ, जायल, डीडवाना के लोगों के लिए राहत भरी खबर है। नागौर से डीडवाना जाने वाली क्षतिग्रस्त सडक़ का पुननिर्माण कार्य पीपीपी रोड कंस्ट्रक्शन प्लान के तहत शुरू कर दिया गया है। सार्वजनिक निर्माण विभाग के अनुसार नागौर से वाया डीडवाना होते हुए मुगनगढ तक सडक़ का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। नागौर से जायल तक पूर्णत: क्षतिग्रस्त नागौर डीडवाना सडक़ अब जल्द ही चमाचम होगी। कई बार टूटी सडक़ के कारम लोग हादसों का शिकार हो रहे थे। पिछले लम्बे समय से जायल के ग्रामीण नागौर-डीडवाना मार्ग के नवीनीकरण की मांग उठा रहे थे। नागौर से जयपुर जाने वालों को भी नागौर से तरनाऊ तक का सफर इसी सडक़ से करना पड़ रहा था। क्षतिग्रस्त सडक़ से लोगों को काफी समस्या होती थी।

दस मीटर चौड़ी होगी सडक़
विभाग के अनुसार नागौर से डीडवाना सडक़ दस मीटर चौड़ी होगी तथा सडक़ को गुणवत्तापूर्ण बनाया जाएगा। नागौर से डीडवाना तक पूर्व में बनी सडक़ सात मीटर चौड़ी है। सार्वजनिक निर्माण विभाग, नागौर के एईएन रतनाराम ढाका ने बताया कि नागौर वाया डीडवाना होते हुए मुगनगढ तक पीपीपी रोड कंस्ट्रेक्शन के तहत सडक़ का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। सडक़ बनने के बाद लोगों को काफी राहत मिलेगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned