वीडियो में देखिए विभाग ने भगाया ‘कलक्टर’ के पास पहुंचे हो गया ‘समाधान’

ऋण आवेदन पत्र नहीं मिलने पर ग्रामीणों ने कलक्ट्रेट में डाला डेरा, सौंपा ज्ञापन

By: shyam choudhary

Published: 24 Jul 2018, 01:23 PM IST

नागौर. अनुजा निगम के कर्मचारियों में तालमेल का अभाव होने का खमियाजा आमजन को भुगतना पड़ रहा है। अनुजा निगम में ऋण के लिए आवेदन पत्र गत 9 जुलाई से मिलना शुरू हुए थे, जिसकी अंतिम तिथि 20 जुलाई थी। लेकिन सूचना का अभाव होने के कारण 19 व 20 जुलाई को हजारों कि संख्या में लोग निगम कार्यालय पहुंचे और केवल आवेदन पत्र लेने के लिए कई घंटें लाइनों में लगे रहे। शाम तक भीड़ कम नहीं हुई तो विभाग के कर्मचारियों ने सोमवार को आने को कहा, लोग सोमवार को पहुंचे तो यहां पर कार्यरत कर्मचारियों ने अंतिम तिथि समाप्त होने का कहते हुए उन्हें रवाना कर दिया। इस पर ग्रामीण कलक्टर के पास पहुंच गए और शिकायत की। कलक्टर कुमार पाल गौतम ने तत्परता दिखाते हुए बैठक बुलाकर आवेदनों को ई- मित्र के जरिए देने की बात कही। बिना ब्याज का ऋण होने कारण शुक्रवार तक विभाग ने 8 हजार से अधिक आवेदन पत्र वितरित किए। आवेदन करने वालों के कागजातों की जांच कर 3500 के करीब लोगों को ऋण दिए जाएंगे।

आंखन देखी
पत्रिका टीम विभाग कार्यालय में पहुंची तो वहां पर पुलिस अधिकारी आए और कर्मचारियों से सवाल किया इस पर कर्मचारियों का कहना था कि आप कौन होते होï? इस पर पुलिस का कहना था कि हमारा कार्य व्यवस्था बनाना है, हमारे सामने ही पूनिया नाम के अधिकारी ने सभी को सोमवार को आने को कहा था। आज उन्हें रवाना करने पर लोग कलक्टर से मिलने पहुंच गए है। इस पर विभागीय अधिकारियों ने अपने आला अधिकारियों से बात करने की बात कही। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार तक 8300 आवेदन वितरित किए गए है इनमें से 3500 लोगों का चयन कर ऋण दिया जाएगा।

आज बुलाकर मना कर दिया
कलक्ट्रेट पहुंचे लोगों ने पत्रिका संववादाता को बताया कि ऋण आवेदन के लिए हमें सोमवार को बुलाया गया था लेकिन हमें वहां से रवाना कर दिया, इसके बाद कलक्टर साहब के पास पहुंचे। पत्रिका टीम ने अनुजा निगम कार्यालय में कर्मचारियों से बात की तो उनका कहना था कि आवेदन पत्र देने की अंतिम तिथि 20 जुलाई थी तो हम आवेदन कैसे दे सकते हैं। हमने किसी को भी सोमवार को आने का नहीं कहा था। यह अफवाह किसने फैलाई है, हमें इस कुछ नहीं पता। जबकि शनिवार को मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों का कहना था कि हमारे सामने विभागीय अधिकारियों ने सोमवार को बुलाया था। लेकिन अब मुकर रहे हैं।

इनका कहना है
ऋण के लिए जरूरतमंद व्यक्ति को वंचित नहीं रखा जाएगा। आवेदन पत्र जमा कराने की तिथि 23 से 31 जुलाई 2018 तक रखी गई थी। कलक्टर के निर्देश पर 31 अगस्त कर दी गई है।
सुरेन्द्र पूनिया, कार्यवाहक परियोजना प्रबन्धक, अनुजा निगम

Show More
shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned