जरुरतमंद पात्र को मिले योजनाओं के तहत ऋण: चौधरी

केंद्रीय मंत्री सीआर चौधरी ने कहा कि जरुरतमंद पात्र व्यक्ति को ऋण मिले और वह स्वरोजगार के माध्यम से अपने जीवन स्तर में आर्थिक सुधार ला सके।

By: Dharmandra Kumar Gaur

Updated: 18 Aug 2017, 11:03 PM IST

नागौर.  केंद्रीय मंत्री केंद्रीय मंत्री सीआर चौधरी शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में केन्द्र व राज्य सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं के माध्यम से दी जा रही ऋण योजनाओं की समीक्षा कर रहे थे। चौधरी ने कहा कि सरकार की विभिन्न फ्लैगशिप योजनाओं के माध्यम से आमजन को लाभ मिले, इसके लिए सभी शाखा प्रबंधक पूर्ण मानवीय संवेदनशीलता का परिचय देते हुए प्रकरणों का निस्तारण करें।
लम्बित आवेदनों का हो निस्तारण
उन्होंने सभी शाखा प्रबंधकों से कहा कि मुद्रा योजना में 15 अक्टूबर तक 1500 व्यक्तियों के ऋण स्वीकृत करें। भारत सरकार की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से जिन लोगों को स्वरोजगार के लिए ऋण मिल सकता है,उनको आवेदन प्राप्त होने के तुरंत बाद ही ऋण उपलब्ध करवा दिया जाए। उन्होंने कहा कि मुद्रा योजना में जितने भी आवेदन शाखाओं में लंबित पड़े हैं उन सभी का निस्तारण अगले 2 माह में कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि शाखा प्रबंधक इस बात का विशेष ध्यान रखें की छोटे कामगार व काश्तकारों के आवेदन प्राथमिकता के साथ निस्तारित करें।
बैंक खातों में करें लेनदेन
सीआर चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री जीवन सुरक्षा योजना में बैंक खातें में लेन-देन की अनिवार्यता हटाने के लिए सरकार के स्तर पर प्रयास करेंगे, जिससे इस योजना से जुड़े लोगों को लाभ मिल सके। योजना से जुड़े सभी लोगों से भी यह समझाइश की जाए कि व कम से कम 60 दिन में लेन-देन अवश्य करें। उन्होंने कहा कि स्टार्टअप योजना व अटल पेंशन योजना में भी आवेदन भरवाने व निस्तारण करने का कार्य करें। स्टार्टअप योजना ऐसे इंजीनियर व चिकित्सकों के लिए है, जो बड़ी धनराशि के माध्यम से अपना स्वरोजगार शुरू करना चाहते है। इस योजना में 10 लाख रुपए से लेकर एक करोड़ रुपए तक का ऋण दिया जाता है।
समय पर मिले किसानों को मुआवजा
केंद्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि जनधन खाता धारकों में सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने वाले व्यक्तियों के खाते में 50 हजार से अधिक की धनराशि जमा हो सके, इसके लिए भी केन्द्र सरकार के वित्त मंत्रालय से बातचीत कर सम्मानजनक हल निकाला जाएगा। उन्होंने कहा कि फसल बीमा योजना में पात्र काश्तकारों को मुआवजा समय पर मिले, इसके लिए कृषि विभाग के अधिकारी व शाखा प्रबंधक आपस में समन्वय स्थापित कर कार्य करेें। उन्होंने कहा कि जिले की उचित मूल्य दुकानों में पॉश मशीन के माध्यम से राशन वितरण को लेकर प्रभावी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।
दस दिन में पूूरी हो कार्रवाई
बैठक में जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने कहा कि उनके पास ऋण के लिए आवेदन आते हैं, उन सबका निस्तारण तत्काल करें। बैंक से ऋण प्राप्त कर युवा अपना भविष्य बनाना चाहता है। एक युवक का भविष्य बनता है तो उसके सुखद परिणाम पूरे परिवार और समाज को मिलता हैं। उन्होंने कहा कि सभी शाखा प्रबंधक यह सुनिश्चित कर लें कि स्वयं सहायता समूह के ऋण आवेदन शाखा में आने के 10 दिन में सभी कार्रवाई पूर्ण करते हुए ऋण उपलब्ध करवा दिया जाए। कुछ शाखा प्रबंधक स्वयं सहायता समूह को भी ऋण नहीं देते हैं भविष्य में इस तरह की कार्रवाई ध्यान में आई तो संबंधित बैंक के मुख्यालय को लिखा जाएगा।
पेंशन सूची का हो सत्यापन
कुमार पाल गौतम ने कहा कि सामाजिक योजनाओं में पेंशन प्राप्त कर रहे कुछ व्यक्तियों की पेंशन गत 5 माह से नहीं मिल रही है। उनका निस्तारण करने के लिए कोषाधिकारी नागौर सूची बनाकर उपखंड अधिकारी को भेंजेगे। संबंधित उपखंड अधिकारी अपने क्षेत्र में कार्यरत राजस्व कार्मिकों को पेंशनधारक के घर भेजकर उन त्रुटियों को ठीक करने का कार्य करेंगे जिससे जिन लोगों की पेंशन बंद हो गई है। किसी पेंशनधारक की मृत्यु हो गई है तो उसका नाम पेंशन योजना से हटाया जाएगा। बैठक में सभी बैंकों के शाखा प्रबंधक तथा अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Dharmandra Kumar Gaur
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned