वीडियो : पैंथर ने लिया यू-टर्न, भडाणा गांव की सरहद में मिले पगमार्क

ग्रामीण क्षेत्रों में पैंथर का खौफ, चार दिन बाद भी नहीं आया पकड़ में

By: shyam choudhary

Published: 30 Dec 2018, 10:25 PM IST

मूण्डवा (नागौर). बाडी घाटी से नागौर जिले की सरहद में प्रवेश करने वाला पैंथर मूण्डवा पहुंचकर यू-टर्न ले चुका है। संभवतया यह आने वाले रास्ते से ही वापस जाने की फिराक में है। शनिवार को दिनभर मूण्डवा की खानों में डेरा जमाने के बाद शाम को यहां से निकल गया था। रात में वहां पिंजरे में बकरी को बांधकर रखा गया, लेकिन पैंथर लौटकर नहीं आया। वन विभाग के इस पिंजरे में दो खाने बने हुए हैं। बकरी को देखकर पैंथर यदि उस पर झपटता तो वह पिंजरे में कैद हो जाता और बकरी का भी कुछ नहीं बिगड़ता।

वन विभाग की टीम सर्च अभियान चला रही है। नागौर डीएफओ मोहित गुप्ता के निर्देशन में नागौर रेंज, मेड़ता रेंज तथा कुचामन सिटी रेंज के वनकर्मी इस सर्च अभियान में लगे हुए हैं। शनिवार को जयपुर से रेस्क्यू टीम देरी से पहुंची अन्यथा शनिवार को ही उसे पकड़ लिया जाता। अब सबसे बड़ी बात उसके असली लोकेशन की है। लोग अलग-अलग कयास लगा रहे हैं। यू-टर्न की बात में भी खासी गुंजाइश है क्योंकि मूण्डवा से निकलने के बाद पैंथर के पगमार्क लाखोलाव तालाब के बाद काली रिड़ी के पास नई नाडी में देखे गए। संभवतया इन दोनों जलाशयों में उसने हलक तर किया होगा। मूण्डवा से दक्षिण पूर्व की ओर राह करते हुए यह भडाणा की सरहद में पहुंच गया। रविवार शाम होने तक टीम केवल भडाणा तक ही पगमार्क लेकर पहुंच सकी इसके आगे के पगमार्क नहीं मिले। सोमवार सुबह से फिर सर्च अभियान चलेगा।

 

खजवाणा की अफवाह चली
एक बार खजवाणा गांव में पैंथर देखे जाने की अफवाह ने वन विभाग की टीम का ध्यान भंग किया। काली रिड़ी के आसपास पथरीली जमीन पर पगमार्क नहीं मिलने से वन-विभाग की टीम को खासी मशक्कत करनी पड़ रही थी। इसी दौरान खजवाणा की सूचना ने वन विभाग की टीम को दौड़ा दिया। हालांकि उस समय आधी टीम ही वहां भेजी गई।

ये थे टीम में शामिल
डीएफओ ने बताया कि उनके साथ रेस्क्यू टीम के डॉक्टर अरविन्द माथुर के अलावा कुचामन, नागौर तथा मेड़ता रेंज की टीमें हैं जिसमें रेंजर टीकूराम, मनोज खोखर, बुधाराम जाखड़, चेनाराम खोजा, राहुलजीत, हजारीलाल, सुरेश चौधरी तथा राजेन्द्र सिंह बनारसी शामिल हैं।

यहां दिखे पगमार्क
वन विभाग की टीम मूण्डवा से भडाणा की तरफ पगमार्क लेकर पहुंच सकी। वहीं इस टीम के भडाणा गांव से नागौर पत्रिका के फेसबुक पेज पर लाइव वीडियो पर पातेली निवासी पप्पुराम भाकर ने बताया कि नराधणा-झुंझाला रोड पर गोतेड़ी की नाडी के अंगोर में ग्रामीणों ने पगमार्क देखे हैैं।

इनका कहना है
नागरिकों को भयभीत होने की जरूरत नहीं है। शांति से अपने दैनिक कार्य करें। यदि कहीं पगमार्क या इसकी लोकेशन ध्यान में आए तो वन विभाग की टीम को सूचित करें। किसी भी प्रकार की अफवाह में नहीं आएं। एक टीम हर समय स्टैंड बाई है जो रात को भी सूचना मिलते ही तुरंत पहुंच जाएगी। रेस्क्यू करने वाली टीम के 6377875045 व नागौर रेंज अधिकारी के 9784173585 नम्बर पर जानकारी दी जा सकती है।

मोहित गुप्ता, उपवन संरक्षक नागौर

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned