गांवों की जनसंख्या को देखते हुए गांव को अलग करने की जरुरत नहीं

गांवों की जनसंख्या को देखते हुए गांव को अलग करने की जरुरत नहीं
गांवों की जनसंख्या को देखते हुए गांव को अलग करने की जरुरत नहीं

Dharmendra Gaur | Publish: Aug, 16 2019 10:35:16 AM (IST) Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

राजस्थान के नागौर जिले में पंचायती राज संस्था के पुनर्गठन मामले में आपत्ति जताते हुए ग्रामीणों ने जिला कलक्टर से की कार्रवाई की मांग

नागौर. पंचायती राज संस्थाओं के पुनर्गठन, demarcation of panchayat पुनर्सीमांकन व नव सृजन में पंचायतों के पुनर्गठन को लेकर ग्रामीणों ने जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। ग्राम पंचायत चूंटीसरा के ग्रामीणों ने मांग की है कि चूंटीसरा ग्राम पंचायत के गांव मालगांव को नई ग्राम पंचायत अमरपुरा में शामिल किया जाना प्रस्तावित किया गया है,जिसे निरस्त कर चूंटीसरा में ही रखा जाए। गजेसिंह, भवानी सिंह, सीताराम, रेवंत सिंह, प्रेमाराम, हजारीराम, घीसू सिंह, गुलाब सिंह, सीताराम, दीपाराम समेत अन्य ग्रामीणों ने लिखा है कि चूंटीसरा ग्राम पंचायत 60 साल पुरानी है जिसमें चूंटीसरा, मालगांव व जबरासी आदि तीनों गांवों की जनसंख्या को देखते हुए किसी गांव को अलग करने की जरुरत नहीं है।


ग्रामीणों ने दी आंदोलन की चेतावनी
ग्रामीणों ने लिखा है कि मालगांव को अमरपुरा में शामिल करना सही नहीं है। मालगांव की चूंटीसरा से दूरी 4 किमी है जबकि अमरपुरा से मालंगाव 7 किमी दूर है। Panchayat Delimitation in nagaur मालगांव की ग्राम सेवा सहकारी समिति चूंटीसरा ही है इसलिए मालगांव को चूंटीसरा में ही रखा जाए। मालगांव को चूंटीसरा से अलग करने पर ग्रामीणों ने आंदोलन की चेतावनी दी है। इसी प्रकार पंचायत समिति खींवसर के ग्राम पंचायत बिरलोका के ग्रामीणों ने राजस्व ग्राम जसनाथपुरा को नए परिसीमन के तहत खटोड़ा में शामिल नहीं करने की मांग की है। जसनाथपुरा की बिरलोका से दूरी 7 किमी है जबकि खटोड़ा 15 किमी दूर है और वहां तक जाने के लिए कोई सीधी सडक़ या कटाणी रास्ता भी नहीं है।

गेमलियावास को बनाएं पंचायत
बिरलोका सरपंच मोडीदेवी, ग्रामीण पूनाराम, भूराराम, किसनाराम, चौखाराम, डूंगरराम समेत अन्य ग्रामीणों ने लिखा है कि ग्रामीणों की सुविधा को देखते हुए ग्राम जसनाथपुरा को खटोड़ा में शामिल करने के प्रस्ताव का निरस्त किया जाए। इसी प्रकार गेमलियावास के ग्रामीणों ने गांव को पंचायत बनाने की मांग की है। ज्ञापन में लिखा है कि परिसीमन में धनेरिया लील को पंचायत बनाया जा रहा है जबकि गेमलियावास की जनसंख्या धनेरिया लील से अधिक है। गेमलियावास में राजकीय उप्रा विद्यालय, डामरीकृत सडक़, जीएलआर आदि बने हुए हैं। इसलिए धनेरिया लील की जगह गेमलियावास को पंचायत बनाया जाए। demarcation of panchayat in nagaur

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned