scriptvillagers protest against encroachment removal in Nagaur | अतिक्रमण हटाने पहुंचे प्रशासनिक दल के विरोध में ग्रामीणों का प्रदर्शन, सैकड़ों लोगों पर मंडरा रहा अब रहवास का संकट | Patrika News

अतिक्रमण हटाने पहुंचे प्रशासनिक दल के विरोध में ग्रामीणों का प्रदर्शन, सैकड़ों लोगों पर मंडरा रहा अब रहवास का संकट

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

नागौर

Published: March 18, 2019 02:45:01 pm

कुचामन सिटी/ नागौर। कुचामनसिटी के निकट ग्राम पांचवा में गोचर जमीन पर करीब 25 साल पहले हुए अतिक्रमण के मामले में हाईकोर्ट के दखल के बाद तहसीलदार ने पिछले दिनों नोटिस जारी कर 140 मकान मालिकों को अतिक्रमण हटाने का नोटिस दिया था। जिसकी अंतिम तिथि पर आज सैकड़ों ग्रामीण तहसील कार्यालय पहुंचे और कार्रवाई का विरोध किया। ग्रामीणों का कहना है कि गोचर भूमि पर बसने वाली आबादी गरीब है, जिन्हें बेदखल करने पर उनके जीवन पर संकट खड़ा हो जाएगा। वहीं तहसीलदार महावीर शर्मा का कहना है कि न्यायालय के आदेशों की पालना करवाई जा रही है। गौरतलब है कि उक्त गोचर भूमि पर करीब 150 मकान बने हुए हैं, जिन पर अब रहवास का संकट मंडरा रहा है।
villagers protest against encroachment removal in Nagaur
 

प्रसूता व नवजात की मौत
जिले के ढींगसरा उप स्वास्थ्य केन्द्र पर रविवार को एक प्रसूता व नवजात की मौत हो गई। परिजनों ने प्रसव कराने के दौरान नर्स द्वारा लापरवाही बरतने आरोप लगाया है। वहीं सीएमएचओ डॉ. सुकुमार कश्यप ने इस मामले की जांच करवाने तथा जांच में दोषी पाए जाने पर नर्सिंग कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है।
टांकला निवासी मदनाराम ने पत्रिका को बताया कि शनिवार को उनके बेटे सुनील की पत्नी ज्यानी के प्रसव पीड़ा होने पर वे उसे लेकर भाकरोद प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र लेकर गए, जहां नर्स ने प्रसूता को इंजेक्शन देने के बाद कहा कि प्रसव रविवार को होगा, इसलिए आज प्रसूता को घर ले जाओ, कल वापस आ जाना। इसके बाद वे वापस टांकला चले गए।
रविवार को ज्यानी को दुबारा प्रसव पीड़ा होने पर वे भाकरोद जाने के लिए रवाना हुए, इससे पहले उन्होंने नर्स को फोन कर पूछा तो उसने बताया कि वह किसी काम से नागौर आ गई है। इस पर वे ज्यानी को लेकर ढींगसरा उप स्वास्थ्य केन्द्र चले गए, जहां उपस्थित नर्स ने प्रसव कराने का आश्वासन दिया। मदनाराम ने बताया कि प्रसव के दौरान लापरवाही बरतने से नवजात की वहीं मौत हो गई, जबकि प्रसूता को हाथों-हाथ नागौर जेएलएन अस्पताल ले जाने के लिए कहा, जिस पर वे हाथों-हाथ नागौर पहुंचे। यहां पहुंचने पर डॉक्टर ने प्रसूता ज्यानी को भी मृत घोषित कर दिया। परिजनों का आरोप है कि नर्स की लापरवाही से दो जान चली गई। यदि वह समय पर बता देती तो वे ज्यानी को लेकर जिला अस्पताल आ जाते।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: शिवसेना के संसदीय दल में भी बगावत? उद्धव ठाकरे ने भावना गवली को चीफ व्हिप के पद से हटायाMukhtar Abbas Naqvi ने मोदी कैबिनेट से दिया इस्तीफा, बनेंगे देश के नए उपराष्ट्रपति?काली पोस्टर विवाद में घिरीं महुआ मोइत्रा के समर्थन में आए थरूर, कहा- 'हर हिन्दू जानता है देवी के बारे में'Good News: राजस्थान में अग्निपथ योजना के आवेदन शुरू, सबसे पहले इन जिलों में है भर्तीयूपी को बड़ी सौगात, काशी को 1800 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात देंगे पीएम Modi, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का करेंगे लोकार्पणचौथी लहर के खतरे के बीच सरकार ने घटाई कोरोना के बूस्टर डोज की समयसीमा, अब 6 महीने बाद ही लगवा सकते हैं वैक्सीनPune News: पुणे और पिंपरी चिंचवाड़ में पिछले 2 सालों में एक हजार से अधिक लोगों की टीबी से हुई मौत, यहां देखें आंकड़ेDelhi Shopping Festival: सीएम अरविंद केजरीवाल का बड़ा ऐलान, रोजगार और व्यापार को लेकर अगले साल होगा महोत्सव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.