मकराना कांग्रेस में बगावत के सुर

मकराना. नगर परिषद् मकराना के सभापति कुर्सी के लिए बगावत शुरु हो गई है। कांग्रेस को पूर्ण बहुमत प्राप्त होने के बावजूद चुनाव चौसर ऐसी बैठी है कि कुछ वरिष्ठ नेताओं ने बागी रुख अपना लिया है।

मकराना. नगर परिषद् मकराना के सभापति कुर्सी के लिए बगावत शुरु हो गई है। कांग्रेस को पूर्ण बहुमत प्राप्त होने के बावजूद चुनाव चौसर ऐसी बैठी है कि कुछ वरिष्ठ नेताओं ने बागी रुख अपना लिया है। हालांकि पूर्व विधायक एवं कांग्रेस जिलाध्यक्ष जाकिर हुसैन गैसावत अपनी पुत्री समरीन को सभापति बनाने के लिए पूरा जोर लगा रहे हैं वहीं निवर्तमान उपसभापति समद सिसोदिया ने बगावती सुर अपनाते हुए अपनी पत्नी परवीन बेगम को सभापति पद के लिए चुनावी मैदान में उतार दिया है। गुरुवार को चार प्रत्याशियों ने अपना नामांकन दाखिल किया। उल्लेखनीय है कि नगर परिषद् मकराना में 55 पार्षद है। इनमें से 35 पर कांग्रेस प्रत्याशी विजयी हुए थे वहीं भाजपा को तीन सीटों पर ही संतोष करना पड़ा था। चुनाव में निर्दलीय विजेता प्रत्याशियों की संख्या 17 है।

गुरुवार को निवर्तमान उपसभापति अब्दुल समद सिसोदिया की पत्नी तथा वार्ड 37 से कांग्रेस पार्षद परवीन बेगम ने बगावती सुर अपनाते हुए सबसे पहले नामांकन पत्र दाखिल किया। उन्होंने निर्दलीय के रूप में सभापति पद की उम्मीदवारी जताते हुए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इसके बाद कांग्रेस जिलाध्यक्ष जाकिर हुसैन गैसावत की पुत्री तथा पूर्व सभापति अब्दुल सलाम भाटी की पुत्रवधू समरीन ने कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र दाखिल किया। वे वार्ड संख्या 32 में कांग्रेस से पार्षद निर्वाचित हुई है। तीसरा नामांकन पत्र मार्बल कार्विंग एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहम्मद अशफाक रान्दड़ की धर्मपत्नी शाहिदा बेगम ने दाखिल किया। वे भी वार्ड 24 में कांग्रेस से पार्षद बनी है। निवर्तमान सभापति शौकत अली गौड़ के बड़े भाई उद्योगपति मुख्तयार अहमद गौड़ की पुत्रवधू रुखसाना बानो ने भी सभापति पद के लिए नामांकन पत्र भरते हुए ताल ठोक दी। वे वार्ड संख्या 18 से निर्दलीय पार्षद निर्वाचित हुई है। रिटर्निंग ऑफिसर सैयद सिराज अली जैदी ने बताया कि सभापति पद के लिए 4 नामांकन पत्र दाखिल किए गए हैं, जिनमें एक कांग्रेस से तथा तीन निर्दलीय है। चारों उम्मीदवारों के नामांकन पत्रों की समीक्षा शुक्रवार को की जाएगी।
चला मान-मनुहार का दौर

सभापति पद के चुनाव में अंतिम चार प्रत्याशियों के नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद अब मान-मनुहार का दौर शुरु हो गया है। हालांकि निवर्तमान सभापति शौकत अली गौड़ के अग्रज की पुत्रवधु रुखसाना बानो निर्दलीय पार्षद निर्वाचित हुई थी, लेकिन वस्तुत: चुनावी मैदान में उतरे चारों प्रत्याशी कांग्रेस पृष्ठभूमि के है। इनमें से अन्य तीन तो कांग्रेस सिम्बल से ही पार्षद बने हैं। चारों प्रत्याशियों ने पार्षदों की बाड़ाबंदी शुरु कर दी है।

इनका कहना

कांग्रेस पार्टी ने मुझे नगर परिषद् मकराना के लिए सभापति का प्रत्याशी बनाया है। मकराना के विकास के लिए सदैव तत्पर रहूंगी। जनता ने कांग्रेस को पूर्ण बहुमत दिया है, जनता की अपेक्षा के अनुरूप कांग्रेस विजयी होगी।

समरीन, सभापति पद के लिए कांग्रेस प्रत्याशी

....................

मेरा परिवार सदैव मकराना की जनता के लिए तत्पर रहा है। हम जनभावनाओं को ध्यान में रखते हुए मकराना में कार्य करेंगे। यह चुनाव सच्चाई एवं झूठ के बीच है, जिसमें सत्य की जीत होगी।
-परवीन बेगम, सभापति पद के लिए निर्दलीय प्रत्याशी

.......................

नगर परिषद् क्षेत्र में सेवा कार्य कर रहा हूं, लिहाजा मेरे अग्रज की पुत्रवधु रुखसाना सभापति पद की हकदार है। कांग्रेस एवं निर्दलीय पार्षदों से फोन छीन लिए गए हैं, बावजूद इसके वे प्रयास कर मुझसे फोन पर सम्पर्क कर रहे हैं। मैंने जब उन्हें बताया कि मैं सभापति पद के लिए फार्म भरवा रहा हूं, आप सहयोग के लिए आएं तो वे प्रसन्नचित्त होकर मेरे पक्ष में वोट करने का विश्वास दिला रहे हैं। पूरे मकराना की आवाम मेरे साथ है। कांग्रेस पार्षद मेरे सम्पर्क में है।

-शौकत गौड़ निवर्तमान सभापति व निर्दलीय प्रत्याशी रुखसाना के श्वसुर

...........................

जनता ने कांग्रेस को पूर्ण बहुमत दिया है, उस बहुमत का सम्मान रहेगा। निश्चित तौर पर मकराना में कांग्रेस का बोर्ड बनेगा। कांग्रेस में किसी प्रकार का मतभेद नहीं है।
-जसवंत गुर्जर, चुनाव प्रभारी।

Sandeep Pandey
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned