नागौर जिले में बारिश के लिहाज से अब तक कमजोर रहा यह साल

गत वर्ष की तुलना में इस बार जिले की औसत बारिश 200 मिलीमीटर कम, जिले में कई जगह बारिश के अभाव में खाली रह गए नाडी-तालाब

By: shyam choudhary

Published: 23 Aug 2020, 04:12 PM IST

नागौर. बारिश के लिहाज से यह साल पिछले साल की तुलना में अब तक कमजोर रहा है। जिले में अब तक हुई बारिश के आंकड़ों को देखें तो अभी जिले की औसत बारिश से भी 44 मिलीमीटर बारिश कम हुई है, जबकि पिछले साल इस अवधि (22 अगस्त) तक हुई बारिश से इस बार 185 एमएम कम है। सावन के बाद भाद्रपद से उम्मीद लगाए बैठे किसानों को इस महीने में ज्यादा बारिश देखने को नहीं मिली, जबकि आधे से ज्यादा भाद्रपद बीत चुका है।
गौरतलब है कि गत 2 अगस्त तक जिले में औसत बारिश 220 मिलीमीटर हुई थी, जबकि गत वर्ष 2 अगस्त तक जिले में 261 एमएम बारिश हुई थी। इस बार 4 अगस्त को भाद्रपद लगा और और पिछले पिछले 20 दिन में जिले में 106 एमएम औसत बारिश रिकॉर्ड की गई है, जबकि गत वर्ष इसी अवधि में जिले में 250 एमएम बारिश हुई थी। यानी गत वर्ष 22 अगस्त तक 511 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई थी, जबकि इस बार यह आंकड़ा मात्र 326 एमएम तक ही पहुंचा है।

जानिए, जिले में कहां कितनी बारिश हुई
तहसील - औसत - गत वर्ष 22 अगस्त तक - इस वर्ष अब तक
नागौर - 309.9 - 236 - 212
मूण्डवा - 309.9 - 337 - 301
खींवसर - 309.9 - 117 - 285
जायल - 325.4 - 362 - 377
मेड़ता - 418.6 - 600 - 564
रियांबड़ी - 418.6 - 735 - 339
डेगाना - 372.0 - 566 - 232
डीडवाना - 309.9 - 665 - 360
लाडनूं - 331.4 - 393 - 303
परबतसर - 389.3 - 577 - 303
मकराना - 389.3 - 696 - 378
नावां - 460.8 - 722 - 312
कुचामन - 460.8 - 579 - 272
औसत - 369.7 - 511 - 326

मेड़ता में 564 एमएम, बाकी में 400 भी नहीं
इस बार जिले की एकमात्र मेड़ता सिटी तहसील में बारिश का आंकड़ा 564 एमएम पहुंचा है, जबकि जिले की अन्य 12 तहसीलों में 400 का आंकड़ा भी नहीं पहुंच पाया है। नागौर, डेगाना, कुचामन व खींवसर तहसीलों में तो 300 एमएम से भी कम बारिश हुई है। रियां बड़ी में पिछले साल जहां सबसे अधिक बारिश (735 एमएम) हुई थी, वहां इस बार आधी (339 एमएम) भी नहीं हो पाई है। यही स्थिति नावां, डेगाना, परबतसर, मकराना, डीडवाना, कुचामन आदि तहसीलों की है।

गत वर्ष जमकर हुई थी बारिश
नागौर जिले में गत जिले में जमकर बारिश हुई थी, खासकर जिले के दक्षिण-पूर्व की तहसीलों में रिकॉर्ड तोड़ बारिश हुई थी। गत वर्ष बरसात ने पिछले 23 वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ा था। जिले में वर्ष 2019 में 655 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी। इससे पहले वर्ष 1997 में 604 एमएम तथा 1996 में 765 एमएम बारिश हुई थी। गौरतलब है कि जिले की औसत बारिश 369.7 एमएम है, जबकि पिछले पांच वर्ष की औसत बारिश 446 एमएम है, यानी पिछले पांच साल में हुई बारिश के आंकड़े देखें तो अपेक्षाकृत बारिश का औसत सुधरा है।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned