संक्रमण लेन-देन का फर्राटा, कहीं दबोच न ले कोरोना

बिना मास्क पहने ही दौड़ा रहे वाहन, अधिकतर बाइक चालक नहीं पहन रहे मास्क, चालक हो या सवारी या आगे बैठे बच्चे, कोई न कोई दिख जाएगा खुले मुंह

By: Jitesh kumar Rawal

Published: 27 Nov 2020, 10:17 PM IST

जीतेश रावल
नागौर. कोरोना महामारी में संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए मास्क पहनना अनिवार्य है, लेकिन नियमों की पालना में कोताही बरती जा रही है। कहीं कार्रवाई जैसा कुछ दिख जाए तो मास्क जरूर पहन लेते हैं, अन्यथा बिना मास्क ही घूमते नजर आ रहे हैं। बगैर मास्क पहने बाइक पर फर्राटा भरते हुए कोरोना संक्रमण का लेन-देन भी हो सकता है, लेकिन सावधानी तो दूर मास्क पहने रखने में भी गुरेज किया जा रहा है। पत्रिका टीम ने शहर के प्रमुख चौराहों पर सर्वे किया तो कमोबेश ऐसा ही नजर आया। बिना किसी मास्क के बाइक सवार बेखौफ फर्राटा भरते नजर आए। वाहनों पर तीन-तीन सवारियां भी दिखी। किसी वाहन पर चालक बिना मास्क थे तो किसी पर पीछे बैठी सवारी। किसी वाहन पर आगे बैठे बच्चे को खुले मुंह रखा गया था। इस तरह के मामलों पर प्रशासनिक स्तर पर कार्रवाई के प्रावधान भी है, लेकिन शहर में इस तरह के नजारे आम है। प्रशासनिक शिथिलता के कारण न तो कार्रवाई की जा रही है और न लोगों में मास्क पहने रखने की जागरूकता आ रही है।

ठुड्डी पर अटका दिया मास्क
कार्रवाई के डर से अधिकतर लोग मास्क पहने रखते तो है, लेकिन बचाव के लिए कारगर नहीं है। कई लोग मास्क को चेहरे पर लगाते हुए ठुड्डी पर अटका देते हैं। इससे मुंह व नाक खुला ही रहता है। कोई कार्रवाई के लिए आए तो झट से ठुड्डी का मास्क मुंह पर खींच लेते हैं। वैसे इस तरह के प्रयास से न केवल अपनी वरन् अपनों की जान भी जोखिम में रहती है।

संक्रमण के खतरे में रहते हैं बच्चे
बाइक पर बैठने वाले चालक या सवारी में से कोई न कोई बिना मास्क दिख ही गया। कई लोग बाइक पर अपने बच्चों को भी ले जाते दिखे, लेकिन संक्रमण के खतरे से मानों अनजान रहे। आगे बैठा रखे बच्चे के मुंह पर मास्क तक नहीं पहनाया। ऐसे में आगे चल रहे किसी संक्रमित व्यक्ति से बच्चा आसानी से संक्रमित हो सकता है। कुछ ऐसी ही स्थिति बाइक पर बिना मास्क बैठने वाले अन्य व्यक्तियों की है।

इसलिए जरूरी है मास्क
जानकार बताते हैं कि कोरोना महामारी से डरकर हमें रूकना नहीं है। महामारी के प्रति सतर्क रहते हुए लगातार मास्क का उपयोग करने एवं सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य जरूरी सावधानियां का ध्यान रखना चाहिए। साथ ही दिनचर्या के कार्य भी करने हैं। प्रत्येक व्यक्ति के लिए मास्क पहनना अनिवार्य है। मास्क पहनने में लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। हमें मास्क का उपयोग चालान के डर से नहीं, बल्कि अपनी व अपने परिवार की सुरक्षा को ध्यान में रखकर पहनना है।

यह है नियम
- हर व्यक्ति को मास्क पहनना अनिवार्य है
- सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर पाबंदी है
- बिना मास्क घूमते मिलने पर चालान काट सकते हैं

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned