भारत सरकार के स्पष्ट निर्देश, अब जो व्यक्ति जहां है, वहीं रहेगा - कलक्टर

रास्ते में फंसे लोगों के लिए नजदीक ही खाने-पीने व रहने की व्यवस्था
- अब तक 19 सैम्पल जांच के लिए भेजे, 16 की रिपोर्ट नेगेटिव, 3 की रिपोर्ट आना बाकी

By: shyam choudhary

Published: 29 Mar 2020, 09:58 PM IST

नागौर. नागौर जिले का व्यक्ति यदि किसी दूसरे जिले या राज्य में है या फिर दूसरे राज्य या जिले के लोग यहां हैं तो उन्हें लॉकडाउन लागू रहने तक इधर-उधर जाने की अनुमति नहीं रहेगी। यह जानकारी नागौर जिला कलक्टर दिनेश कुमार यादव ने रविवार को पत्रकार वार्ता में दी।

कलक्टर ने बताया कि रविवार को भारत सरकार ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि जो व्यक्ति जहां है वहीं रहेगा। यहां तक कि रास्तों में फंसे लोगों को भी निकटतम सुविधाजनक स्थान पर रखा जाएगा तथा वहीं उकने भोजन-पानी व ठहरने की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने बताया कि हम ऐसे लोगों की जानकारी एकत्र कर रहे हैं, जो बाहरी राज्यों व जिलों में हैं, उन्हें वहां किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो, इसके पुख्ता बंदोबस्त किए जाएंगे। आदेश का उल्लंघन करने वालों को सरकारी क्वारंटाइन सेंटर में रखा जाएगा। उन्होंने बताया कि रविवार को ही दो जनों को पकडकऱ क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है।
कलक्टर यादव ने बताया कि जिले में जरूरतमंद व असहाय लोगों को भोजन व राशन सामग्री उपलब्ध कराने का काम निरंतर जारी है। जिले में अब 21 हजार 845 से ज्यादा भोजन के पैकेट व सूखी राशन सामग्री के पैकेट वितरित किए जा चुके हैं।

सरकार के आदेशों की पालना करें
एसपी डॉ. विकास पाठक ने कहा कि जिले की सीमाओं पर बनाए गए 16 नाकों पर अब जरूरी सेवाओं को छोडकऱ अन्य वाहनों को सख्ती से रोका जाएगा। उन्होंने कहा कि माल वाहक या जिन्हें सरकार ने पास जारी किए हैं, उनके अलावा जो भी मूवमेंट करेगा, उन वाहनों को जब्त कर चालकों के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए जाएंगे। एसपी पाठक ने कहा कि यदि किसी व्यक्ति खाने-पीने या अन्य कोई समस्या है तो वह हैल्पलाइन नम्बर पर फोन कर सूचना दें, पुलिस व प्रशासन उस व्यक्ति तक खाना पहुंचाएगा, लेकिन सडक़ों पर घूमने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

राहत : 19 सैम्पल भेजे, 16 नेगेटिव
जिला कलक्टर यादव ने बताया कि राहत की बात है कि जिले में अब तक कोई भी मरीज कोरोना पॉजीटिव नहीं आया है। अब तक कुल 19 मरीजों के सैम्पल लेकर जांच के लिए भेजा गया है, जिनमें से 16 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है, जबकि तीन की जांच रिपोर्ट आनी शेष है। सीएमएचओ डॉ. सुकुमार कश्यप ने बताया कि जिले में अब तक 902 ऐसे हैं, जो विदेश से आए हैं। रविवार को 31 लोग विदेश से आए। इनमें 14 दिन का होम आइसोलेशन पूरा करने वालों की संख्या 582 हैं, जबकि 320 ऐसे हैं, जिनको 14 दिन से कम समय हुआ है। जिले में अन्य राज्यों से आने वाले लोगों की संख्या रविवार तक 6139 पहुंच गई, जिनमें 1721 रविवार को ही पहुंचे हैं। रविवार तक जिले में 89 हजार 836 की ओपीडी स्क्रीनिंग की जा चुकी है, जबकि 2040 सर्वे दलों द्वारा 22.23 लाख लोगों का सर्वे किया जा चुका है।

भीलवाड़ा से आए चिकित्साकर्मी को जेएलएन में कराया भर्ती
भीलवाड़ा से 10 दिन पहले नागौर आए एक चिकित्साकर्मी को रविवार को नागौर के जेएलएन अस्पताल में भर्ती कराया गया। चिकित्सा अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार यह चिकित्साकर्मी भीलवाड़ा के उस अस्पताल में कार्यरत था, जहां कोरोना पॉजीटिव के मरीज सामने आए हैं। यह पिछले 10 दिन से अपने गांव सेंसड़ा में था। रविवार को भीलवाड़ा सीएमएचओ की सूचना पर चिकित्साकर्मी को नागौर असपताल में भर्ती करवाया गया। जांच के लिए सैम्पल जयपुर भेजा जाएगा।

Corona virus
shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned