scriptWith the onset of winter, the market of quack doctors started shining | सर्दी बढऩे के साथ झोलाछाप डॉक्टरों का मार्केट चमकने लगा | Patrika News

सर्दी बढऩे के साथ झोलाछाप डॉक्टरों का मार्केट चमकने लगा

locationनागौरPublished: Nov 14, 2022 10:04:12 pm

Submitted by:

Sharad Shukla

Nagaur. जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में कम पैसे में रोगियों को ठीक करने के दावे के साथ चिकित्सा विभाग को झोलाछाप दे रहे चुनौती
-चिकित्सा विभाग की ओर से गत दो सालों में दो दर्जन से ज्यादा झोलाछाप पकड़े, लेकिन एफआईआर केवल तीन के खिलाफ

Nagaur news
medical system messed up Quack Doctors Fake Doctors News Rajasthan Patrika Nagaur

नागौर. जिले में सर्दी बढऩे के बाद ही सर्दी-जुकाम से पीडि़त वायरल रोगियों के फैलने के साथ ही गांवों में झोलाछाप डॉक्टरों का मार्केट भी चमकने लगा है। सूत्रों के अनुसार स्थिति यह हो गई कि इन्होंने इलाज के लिए बाकायदा अपने क्लीनिग खोल रखें है। विभागीय जानकारों की माने तो झोलाछापों के सामान्य मानी जाने वाली जुकाम सरीखी मामुली बीमारियों में भी उच्चीकृत एंटीबायोटिक्स का प्रयोग करने से जुकाम आदि तो सही हो जाता है, लेकिन पीडि़त टीबी सरीखी अन्य घातक बीमारियों के जाल में फंस जाता हैं। कार्रवाई के नाम पर चिकित्सा विभाग की ओर से खानापूर्ति के चलते स्थिति विकट होने लगी है।
जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में कथित रूप से झोलाछाप डॉक्टर्स के फैले नेटवर्क के सामने सरकारी तंत्र ने अपना घुटना टेक दिया है। चिकित्सा विभाग ओर से ग्राम पंचायतों में चिकित्सा केन्द्रों की मौजूदगी के बाद भी झोलाछापों का गोरखधंधा फैलता जा रहा है। यह स्थिति तब है जबकि चिकित्सा विभाग के ब्लॉक सीएमएचओ स्तर तक के अधिकारियों को भी कार्रवाई करने का अधिकार सरकार ने दे रखा है। इसके बाद भी कार्रवाई के नाम पर केवल खानापूर्ति होने की वजह से झोलाछापों का नेटवर्क अब सरकारी चिकित्सा व्यवस्था तंत्र को चुनौती देता हुआ नजर आने लगा है।

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.