सितंबर में शुरू होगा काम, 1 साल में बनकर तैयार हो जाएगा मीरा द्वार

सितंबर में शुरू होगा काम, 1 साल में बनकर तैयार हो जाएगा मीरा द्वार

Pratap Singh Soni | Publish: Jul, 13 2018 11:52:39 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

1.48 करोड़ की निविदा जारी, बहुरंगी पोस्टर का भी विमोचन

मेड़ता सिटी. यहां नगरपालिका सभाकक्ष में शुक्रवार को एक समारोह के दौरान पालिकाध्यक्ष रूस्तम प्रिंस, अधिशासी अधिकारी श्रवणराम चौधरी सहित पार्षदों ने मीरा द्वारा के पोस्टर का विमोचन करने के साथ ही निर्माण के लिए निविदा जारी की। एक साल के भीतर शहर स्थित डांगावास रोड पर भव्य मीरा द्वार बनकर तैयार हो जाएगा। नगरपालिका सभाकक्ष में एक समारोह के दौरान पालिकाध्यक्ष प्रिंस, ईओ चौधरी, सहायक अभियंता रामप्रसाद मीणा, उपाध्यक्ष रामसुख मुंशी, पार्षद दशरथ सारस्वत, छोटूलाल वैष्णव, वीरेंद्र वर्मा, देवी सिंह, मुक्तिलाल नागौरा, मोतीलाल, जरीना बानो, शेर मोहम्मद, रतनलाल जावा, नवल नागर, नूर मोहम्मद, लक्ष्मणराम कलरू, सफाई निरीक्षक शिवलाल बाना, अब्दुल अजीज पठान सहित जनप्रतिनिधियों ने मीरा द्वार के निर्माण को लेकर निविदा जारी की। इस दौरान मीरा द्वार के भव्य पोस्टर का भी विमोचन किया गया। कार्यक्रम में पालिकाध्यक्ष प्रिंस ने कहा कि कार्य शुरू होने के एक साल के भीतर मीरा द्वार का निर्माण करवा दिया जाएगा। ईओ चौधरी ने कहा कि मीरा द्वार के लिए एक्सपर्ट अब्दुल वकील गजधर व सहयोगी टीम से डीपीआर बनवाई गई। मीरा द्वार के लिए 1 करोड़ 48 लाख रुपए की निविदा जारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि मीरा द्वार के लिए 20 लाख रुपए अतिरिक्त बजट का प्रस्ताव लिया हुआ है, अगर जरूरत पड़ी तो इस राशि का उपयोग भी मीरा द्वार के लिए किया जाएगा। हमारा प्रयास यहीं रहेगा की सितम्बर महीने के पहले सप्ताह में मीरा द्वार का निर्माण शुरू करवा दिया जाए। शिलान्यास को लेकर बड़ा कार्यक्रम आयोजित होगा। मीरा द्वार के निर्माण के लिए एक कमेटी का भी गठन किया गया है, इस कमेटी की देखरेख एवं निर्देशन में निर्माण कार्य करवाया जाएगा। नगरपालिका से लेकर मोररा तिराहे तक डिवाइडर के नवीनीकरण का कार्य भी करवाया जाएगा।
चौपाटी के लिए जल्द जारी होगी डीपीआर
कार्यक्रम के दौरान पालिकाध्यक्ष रूस्तम प्रिंस ने कहा कि मेरे घोषणा पत्र में मीरा द्वार, कुंडल सरोवर, चौपाटी आदि महत्वपूर्ण मुद्दे थे। इनमें से कुंडल सरोवर पर प्रशासन एवं आमजन के सहयोग से कार्य चल रहा है। जबकि मीरा द्वार के लिए निविदा जारी हो चुकी है। शीघ्र ही चौपाटी के लिए डीपीआर बनवाई जाएगी और इसके निर्माण की प्रक्रियां शुरू की जाएगी। प्रिंस ने कहा कि मीरा द्वार के लिए जोधपुर के छीतर (चौपड़) पत्थर और डिजाइनिंग पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।
पहले शहर में थे 3 द्वार, अब बनेगा मीरा द्वार
जानकारी अनुसार शहर में पहले तीन द्वार हुआ करते थे। इनमें प्रमुख मीरा द्वार, अजमेरी गेट और रेणी गेट थे। समय के साथ तीनों द्वार जर्जर होने पर ध्वज करवाने पड़े। 90 में दशक में जर्जर हुए मीरा द्वार को नया बनवाने के लिए ध्वस्त करवाया गया। अब नगरपालिका ने मीरा द्वार बनवाने के लिए निविदा जारी की है और जल्द ही निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned