यहां जाएं तो संभलकर, थोड़ी-सी बारिश में ही पसर जाता है कीचड़

यहां जाएं तो संभलकर, थोड़ी-सी बारिश में ही पसर जाता है कीचड़

Lalit Saxena | Publish: Sep, 09 2018 08:02:02 AM (IST) Nagda, Madhya Pradesh, India

कभी रुक-रुक कर तो कभी तेज हुई बारिश

नागदा. बंगाल के मानसून सिस्टम के सक्रिय होते ही जिले समेत शहर में भी बारिश का दौर शुरु हो गया है। बीते 24 घंटे में एक इंच बारिश दर्ज की गई है। शनिवार को भी दिनभर रिमझिम बारिश का दौर जारी रहा। दूसरी ओर बारिश ने नगर पालिका के निर्माण कार्यों की पोल खोल दी है। मेहतवास पहुंच सड़क मार्ग पर बारिश के चलते कीचड़ पसर गया है। कीचड़ के चलते जहां वाहन चालकों को निकलने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, वहीं राहगीर कीचड़ में फिसलने से चोटिल हो रहे हैं। सबसे अधिक परेशानी स्कूली बच्चों को आ रही है। मार्ग से गुजरने वाले स्कूली बच्चों की यूनिफार्म खराब हो रही है।
क्या है परेशानी
दरअसल बीते दो दिनों से जारी रिमझिम बारिश ने शहर के आधा दर्जन से अधिक इलकों में कीचड़ की परेशानी उत्पन्न कर दी है। सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र मेहतवास पहुंच मार्ग है। मार्ग के प्रवेश द्वार पर ही कीचड़ का अंबार लगा हुआ है। कीचड़ में फिसलकर राहगीर चोटिल हो रहे हैं। ऐसा नहीं है, कि उक्त परेशानी इसी वर्ष उत्पन्न हुई है। परेशानी को लेकर प्री-मानसून के दौरान ही रहवासियों द्वारा जिम्मेदारों को सूचित किया गया था, लेकिन जिम्मेदारों में कोई ठोस कदम उठाना उचित नहीं समझा।
इन इलाकों में अधिक परेशानी : शहर के मेहतवास, बिरलाग्राम स्थित झुग्गी झोपड़ी क्षेत्र, बाबा रामदेव मंदिर स्थित निचली बस्तियां, गवर्नमेंट कॉलोनी क्षेत्र, बादीपुरा स्थित नई आबादी के पिछला हिस्सा आदि क्षेत्रों में बारिश के दिनों में कीचड़ की परेशानी उत्पन्न होती है।
रिमझिम बारिश लाती है मुसीबत
करीब 1100 की आबादी वाले मेहतवास क्षेत्र में करीब पांच कॉलोनियां है। झमाझम बारिश के दौरान रहवासियों को कीचड़ की परेशानी नहीं आती। कारण तेज पानी के चलते सड़क पर मौजूद मिट्टी बहकर निकल जाता है। परेशानी तब खड़ी होती है, जब रिमझिम बारिश का दौरान लगातार जारी रहता है। रिमझिम बारिश के दौरान सड़कों पर मौजूद मिट्टी आगे नहीं निकल पाती और कीचड़ की परेशानी उत्पन्न कर देती है।
कीचड़ की समस्या को देखते हुए नगर पालिका कार्यालय व उपयंत्री शाहिद मिर्जा को कई बार चूरी डालने के लिए कहा गया है। लेकिन कोई संतोषजनक परिणाम नहीं निकल सके। यह बात सही है कि स्कूली बच्चों को मार्ग पार करने में सबसे अधिक परेशानी का सामना करना पड़ता है।
गीता यादव, पार्षद, मेहतवास

Ad Block is Banned