MP ELECTION 2018 : इस कद्दावर नेता को मनाने हैलीकॉप्टर से नागदा उतरा यह राष्ट्रीय नेता

MP ELECTION 2018 : इस कद्दावर नेता को मनाने हैलीकॉप्टर से नागदा उतरा यह राष्ट्रीय नेता

Lalit Saxena | Publish: Nov, 11 2018 08:03:04 AM (IST) | Updated: Nov, 11 2018 03:05:13 PM (IST) Nagda, Madhya Pradesh, India

धाकड़ बोले- कार्यकर्ताओं से पूछकर लूंगा निर्णय

नागदा. भाजपा के नेता भले ही प्रदेश में लगातार चौथी बार सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं लेकिन सच तो यह है कि भाजपा प्रत्याशियों को विरोधी दल के उम्मीदवारों से मुकाबला करने की बजाय अपनी ही पार्टी के बागी उम्मीदवारों से मुकाबला करना पड़ रहा है। नागदा-खाचरौद विधानसभा सीट पर भी भाजपा में चल रहे अंतर्कलह को खत्म करना अब पार्टी के लिए बड़ी चुनौती बन गया है। जिससे निपटने के लिए भाजपा ने अपने बड़े नेताओं को मैदान में उतारा है जो बागी उम्मीदवार दयाराम धाकड़ को मनाने में जुट गऐ है।
शुक्रवार को विधानसभा चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों के लिए नामाकंन पत्र भरने का आखिरी दिन था। नागदा-खाचरौद विधानसभा सीट पर भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी के रूप में विधायक दिलीपसिंह शेखावत ने अपना नामांकन पत्र भरा है, लेकिन भाजपा के लिए मुश्किल यह है कि इस सीट पर भाजपा के ही किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष रहे खाचरौद के कद्दावर नेता दयाराम धाकड़ ने पार्टी से बगावत कर निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में फॉर्म जमा कर चुनाव लडऩे की घोषणा कर दी है। धाकड़ के चुनावी रण में उतरने से जहां कांग्रेस तो खुश है लेकिन भाजपा में खलबली मच गई है। इसी डैमेज को कन्ट्रोल करने के लिए पार्टी ने निर्दलीय चुनाव लड़ रहे दयाराम धाकड़ को मनाने पार्टी ने भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय को नागदा भेजा। शाम करीब 4.30 बजे विजयवर्गीय हैलीकॉप्टर से नागदा पहुंचे और सड़क मार्ग से सीधे खाचरौद गए और वहां उन्होंने भाजपा के बागी प्रत्याशी धाकड़ से करीब 30 मिनिट तक अकेले में चर्चा की और बाद में दोनों नेता नागदा स्थित ग्रेसिम हैलीपेड पहुंचे और विजयवर्गीय हेलीकॉप्टर में बैठकर रवाना हो गए।
जल्द ही बुलाएंगे कार्यकर्ताओं की बैठक
भाजपा के बागी उम्मीदवार दयाराम धाकड़ से जब पत्रिका ने कैलाश विजयवर्गीय की मुलाकात को लेकर सवाल पूछा तो धाकड़ ने स्वीकार किया कि विजयवर्गीय उन्हें मनाने के लिए ही आये थे। धाकड़ ने यह भी बताया कि दोनों के बीच सौहार्दपूर्ण चर्चा हुई है। मुलाकात के बाद धाकड़ से जब यह पूछा गया कि क्या वह चुनाव से अपना नाम वापस लेने के लिए राजी हो गए है तो उनका कहना था कि निर्दलीय चुनाव लडऩे का फैसला उनके कार्यकर्ताओं और समर्थकों के कहने पर लिया था तो चुनाव लडऩा है कि नहीं इसका फैसला भी वह कार्यकर्ताओं से पूछ कर ही लेंगे। इसके लिए जल्द ही एक दो दिन ने कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाकर निर्णय लिया जाएगा। धाकड़ का यह भी कहना है कि कार्यकर्ता अगर उन्हे चुनाव लडऩे का कहेगें तो वह चुनाव अवश्य लड़ेंगे।
धाकड़ बोले- सीएम का भी आया फोन
धाकड़ का कहना है कि विजयवर्गीय की मुलाकात के पहले उनके पास मुख्यमंत्री शिवराजसिंह का भी फोन आ चुका है। सीएम ने भी उनसे चुनाव नहीं लडऩे का अनुरोध किया है। धाकड़ का कहना है कि पिछले दो दशकों से ज्यादा समय से वह पार्टी में रहकर क्षेत्र के लोगों और किसानों की सेवा कर रहे है। पिछले दो चुनाव से वह पार्टी से टिकट मांग रहे थें लेकिन पार्टी ने उनकी उपेक्षा की, जिसके कारण उनको निर्दलीय रूप से चुनाव लडऩे पर विवश होना पड़ा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned