भगवान केवल भाव को देखकर करते है कृपा - देवकीनंदन शरण

भगवान केवल भाव को देखकर कृपा करते हैं। यदि आपका सोचना है कि ठाकुरजी धनाध्य लोगों पर ही कृपा करते है तो सुदामा जैसे पर कृपा नहीं करते। वहीं ठाकुर जी केवल वृद्वजनों पर कृपा करते है तो प्रहलाद पर नहीं होती। इसलिए जीवन में याद रखना ठाकुरजी हमेशा हर उस इंसान पर कृपा करते हैं जो उन्हें भाव से याद करता है।

By: Kamlesh verma

Published: 08 Dec 2019, 08:48 PM IST


नागदा। भगवान केवल भाव को देखकर कृपा करते हैं। यदि आपका सोचना है कि ठाकुरजी धनाध्य लोगों पर ही कृपा करते है तो सुदामा जैसे पर कृपा नहीं करते। वहीं ठाकुर जी केवल वृद्वजनों पर कृपा करते है तो प्रहलाद पर नहीं होती। इसलिए जीवन में याद रखना ठाकुरजी हमेशा हर उस इंसान पर कृपा करते हैं जो उन्हें भाव से याद करता है। लेकिन वर्तमान परिस्थिति में एक तरफ तो करवा चैथ करके मरने ना देते है ओर घर आते ही जीने ना देते है। जीवन में सति चरित्र से सीखना चाहिए। क्योंकि उसने जीवन में पतिव्रत धर्म के सीवा किसी को नहीं माना। इसलिए जीवन में चरित्रवान होना चाहिए। रामचरित्र मानस में अनसुईया के चरित्र वर्णन किया गया है। स्त्री दो प्रकार की होती है एक उत्तम प्रकार दूसरी मध्यम प्रकार की। दोनों में बहुत फर्क होता है। मध्यम प्रकार की स्त्री जो सभी समान देखें। वहीं उत्तम प्रकार की स्त्री वह होती है जो किसी के बुलाए बिना पहुंच जाती है। इसलिए जीवन में बगैर बुलाएं कहीं नहीं जाना चाहिए। क्योंकि जहां आप बिन बुलाए जाते है वहां आपकी क्रद नहीं होती है।
यह बात कथावाचक वृंदावन धाम के आचार्य देवकीनंदन शरण ने कथा के तीसरे दिन वामन अवतार का प्रसंग सुनाते हुए कहीं। कथा का आयोजन चंबल तट स्थित फलाहारी बाबा आश्रम श्री बालहनुमान मंदिर पर हो रहा है। श्री बाल हनुमान फलाहारी बाबा सामाजिक विकास समिति की अगुवाई में हो रही कथा में रविवार को कथावाचक देवकीनंदन ने अनसुईया का प्रसंग सुनाते हुए कहा कि श्रेष्ठ सति की उपाधि में है अनसुईया। प्रसंग का समापन सति चरित्र, धु्रव चरित्र, अनसुईया चरित्र के साथ हुआ। इसकेे बाद महाआरती कर प्रसादी का वितरण किया गया। महाआरती का लाभ पूर्व विधायक लालसिंह राणावत, घनश्याम अग्रवाल, छोटेलाल मल्लाह, आशीष जिंदल, सुनील दादूस, नरेंद्र कोठारी, अनिल जोशी, राजेश गगरानी, रामसिंह शेखावत, जतनसिंह, रणजीतसिंह शेखावत, बसंत रघुवंशी, मोहब्बतसिंह शेखावत, ओम पुरोहित, हर्षद रघुवंशी, किशन शेखावत सहित बड़ी संख्या में श्रद्वालुओं ने लिया। जानकारी चेतन नामदेव ने दी।
वामन अवतार की झलक पाने श्रद्वालुओं में मची होड़
सति चरित्र प्रसंग के बीच जैसे वामन अवतार का प्रसंग आया तो श्रद्वालू आंनदित हो उठे। इस दौरान वामन अवतार हुआ तो पूरा कथा पंडाल जयकारों से गुंज उठा। उसके बाद श्रद्वालुओं में वामन देवता की झलक पाने के लिए होड़ मच गई। महिलाओं ने लाइन में लगकर वामन भगवान के चरण छूकर दक्षिणा भेंट की।
कृष्ण जन्मोत्सव आज
कथा समिति अध्यक्ष मोतीसिंह शेखावत ने बताया कि सोमवार को कथा प्रंसग में कृष्ण अवतार होगा। कृष्ण जन्मोत्सव को लेकर तैयारियां की जा रही है। महाराज देवकीनंदन ने कहा कि कृष्ण जन्मोत्सव में सभी श्रद्वालु बढ चढकर हिस्सा ले। क्योंकि जन्मोत्सव में सुंदर झांकिया आर्कषण का केंद्र रहेगी।
दो समय हो रहा यज्ञ
भागवत कथा के साथ-साथ समिति ने शतचण्डी यज्ञ का आयोजन भी किया है। जिसमें यजमान सुल्तानसिंहं शेखावत के परिवार के सदस्य जोड़े शामिल है। जो यज्ञ में दोनों समय आहुतियां दे रहे है। रविवार को हुए यज्ञ में परिवार की खुशहाली के लिए आहुतियां दी गई।

Kamlesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned