इस पुलिस अधिकारी ने जांच में की लापरवाही, अब भुगतना होगा यह सजा

इस पुलिस अधिकारी ने जांच में की लापरवाही, अब भुगतना होगा यह सजा

Ashish Sikarwar | Publish: Aug, 08 2019 11:00:00 AM (IST) Nagda, Ujjain, Madhya Pradesh, India

पुराने ओवरब्रिज के पास होटल सेलिब्रिटी में आगजनी की ढाई साल पुराने मामले की सुनवाई करते हुए निचली अदालत ने जांच अधिकारी एसआई बीआर सिसौदिया पर प्रकरण दर्ज किया है।

नागदा. पुराने ओवरब्रिज के पास होटल सेलिब्रिटी में आगजनी की ढाई साल पुराने मामले की सुनवाई करते हुए निचली अदालत ने जांच अधिकारी एसआई बीआर सिसौदिया पर धारा 166 व 211 में प्रकरण दर्ज किया है। पुनरीक्षण याचिका की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने माना मामले के तत्कालीन जांच अधिकारी सिसौदिया ने बिना साक्ष्य व सक्षम अधिकारी के अनुमति बिना आरोपीगणों के खिलाफ आगजनी की धारा 436 बढ़ाई गई है। जो गंभीर अपराध की श्रेणी में आता है। लिहाजा कोर्ट ने जांच अधिकारी के खिलाफ प्रकरण दर्जकर 6 सितंबर को न्यायालय में हाजिर होने का आदेश दिया है।
याचिकाकर्ता वीरेंद्र जाजोरिया ने पुलिस की जांच को चुनौती देते हुए जांच अधिकारी सिसौदिया के खिलाफ प्रथम श्रेणी न्यायालय में याचिका दायर कि थी जो खारिज हो गई थी। इसके बाद 3 जनवरी 2019 को सेंशन कोर्ट में पुनरीक्षण याचिका लगाई गई। 29 जुलाई को उक्त याचिका की सुनवाई करते हुए सेशन कोर्ट ने यह माना था कि जांच अधिकारी ने औचित्यहीन और अनावश्यक तौर पर आगजनी की धारा आरोपियों पर दर्ज की है। जो अवैध है। इसी आधार पर अधीनस्थ न्यायालय को सेशन कोर्ट ने दोबारा सुनवाई करने के आदेश दिया था।
यह है मामला
याचिकाकर्ता वीरेंद्र जाजोरिया एवं अचला चपलोत के बीच होटल के आधिपत्य को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा है। इसी के चलते 28 जनवरी 2017 को दोनों पक्षों में विवाद हुआ था। आगजनी की घटना भी हुई थी। मामले में पुलिस ने एक पक्ष के 11 लोगों को आरोपी बनाया था। आरोपियों में वीरेंद्र जाजोरिया, बीना जाजोरिया, दिनेश दुबे, वीरेंद्र कटियार, राजेश मोहता, विकास जाजोरिया, कमल जाजोरिया, रेखा बाई, वरदीराम, विकास टांक के खिलाफ पुलिस ने धारा 294, 323, 506, 427, 147 में अपराध पंजीबद्ध किया था। बाद में फरियादी अचला चपलोत के बयान के आधार पर पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 436 भी बढ़ा दी थी। इसी धारा को याचिकाकर्ता जाजोरिया ने न्यायालय में चुनौती दी थी।
हत्या करने वाले बदमाशों को तलाशने टीमें गठित
नागदा. गवर्नमेंट कॉलोनी क्षेत्र में मंगलवार दोपहर चोरी की नीयत से घुसे बदमाशों ने एक वृद्ध की हत्या कर दी थी। इसी गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस ने चार टीमें गठित की हैं। टीम सदस्य विभिन्न बिंदुओं के आधार पर बदमाशों को पकडऩे के लिए अहम सुराग तलाशेंगे। जांच के दौरान पुलिस मृतक के परिचित व आसपास के लोगों से भी पूछताछ कर रही है। पुलिस को शंका है कि आरोपियों को मृतक के परिवार की पूरी जानकारी थी। दूसरी ओर बुधवार को हरिमोहन ललावत का पीएम कर शव परिजनों को सौंपा। परिजन व पुलिस प्रशासन सुबह 9 बजे जब शव लेकर पीएम के लिए शासकीय अस्पताल पहुंचा तो वहां पर कई अव्यवस्था से गुजरना पड़ा। पीएम कक्ष के ताले के चाबी नहीं मिलने से लगभग 30 मिनट तक शव बाहर बारिश में रखा गया। बाद में ताला तोड़कर पीएम कराया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned