पलक झपकते ही यात्रियों का सामान चुरा लेते थे यह बदमाश

आरोपियों ने कबूली चार वारदातें, डेढ़ लाख का माल बरामद

By: Lalit Saxena

Published: 19 Apr 2018, 08:01 AM IST

नागदा. जीआरपी नागदा ने तीन शातिर चोरों को पकड़ा है। यह तीनों रात्रि के समय ट्रेन में सो रहे मुसाफिरों के कीमती सामान पर हाथ साफ करते थे। पूछताछ में तीनों चोरों ने अभी तक चार चोरियों की वारदात को कबूल ली है। पुलिस ने बदमाशों के पास से करीब डेढ़ लाख रुपए कीमत के सोने के आभूषण, मोबाइल व नकदी बरामद किया है। १६ अप्रैल २०१८ को यह तीनों आरोपी नागदा रेलवे स्टेशन पर संदिग्ध हालात में घूमते हुए पकड़े गए थे। तलाशी के दौरान इनके पास से चोरी का माल बरामद हुआ था। पुलिस ने १६ अप्रैल को ही आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय मेंं पेश कर पूछताछ के लिए रिमांड मांगा था। न्यायालय ने दो दिन की रिमांड मंजूर करने के बाद पुलिस ने सख्ती से पूछताछ करने पर चोरी की चार वादातों को कबूला है। बता दें कि तीनों आरोपी दिल्ली निवासी है, जो लंबी दूरी की गाडिय़ों में चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। आरोपियों के नाम वसीम पिता सबीर खान २५ वर्ष निवासी नेहरुविहार दिल्ली, दीपक हंसराज वाल्मिकी निवासी करावल नगर दिल्ली और अजय पाल दयाराम निवासी बुराड़ी गांव दिल्ली है। तीनों के खिलाफ धारा ३७९, ३८० के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। सभी चोरी की वारदातों की शिकायत नागदा जीआरपी चौकी में दर्ज है।
वारदात नंबर १
६ नवंबर २०१७ को इंदौर निवासी विकास गोयल अपनी माता सुलोचना के साथ रराय रोहिल्ला निजामुद्दीन ट्रेन से दिल्ली से इंदौर लौट रहे थे। यात्रा के दौरान रात्रि में जब उनकी नींद लग गई, सुबह जब नागदा स्टेशन पर महिला उठी तो उनके गले से सोने की चेन जिसकी कीमत करीब ४५ हजार रुपए, एक अंगूठी कीमत २६ हजार रुपए गायब मिली।
वारदात नंबर २
दूसरी वारदात ९ दिसंबर २०१७ की है, जो संपर्क क्रंाति एक्सप्रेस ट्रेन में अंजाम दिया गया था। आरोपियों ने बैंगलौर निवासी बीनु राजभगत पति हंसराज निजामुद्दीन से बैंगलौर जाते समय रात्रि में लेडिस पर्स चोरी चला गया था। जिनकी कीमत करीब १३ हजार रुपए एवं २० हजार रुपए कीमत कीमत इयरिंग रखी हुई थी।
वारदात नंबर ३
८ फरवरी २०१८ को नवी मुंबई निवासी संतोष श्रीवास्तव अंवतिका एक्सप्रेस से मुंबई से इंदौर जा रहे थे। रात्रि में यात्रा के दौरान एसी कोच से १५ हजार रुपए कीमत की सोने की अंगूठी एवं १० हजार रुपए कीमत के दो मोबाइल चोरी चले गए थे।
वारदात नंबर ४
कोटा निवासी विधी वाजपेयी १४ फरवरी २०१८ को अणुव्रत एक्सप्रेस से भोपाल से कोटा जा रही थी। इसी दौरान दो मोबाइल कीमत १० हजार रुपए एवं ६ हजार रुपए नकदी चोरी हो गए थे। चोरी ने सभी वारदातों को रात में उस समय अंजाम देना बताया है, जब मुसाफिर गहरी नींद में सो रहे थे।
तीनों आरोपियों को नागदा रेलवे स्टेशन पर संदिग्ध अवस्था में घूमते पकड़ा गया था। तलाशी के दौरान आरोपियों से नकदी सहित करीब डेढ़ लाख रुपए का माल बरामद हुआ था। पूछताछ पर आरोपियों ने चार चोरी की वारदातों को कबूला है।
पीएस भदौरिया, प्रभारी जीआरपी

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned