scriptBig decision of education department - change regarding examination | शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला-परीक्षा को लेकर किए कई बदलाव | Patrika News

शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला-परीक्षा को लेकर किए कई बदलाव

नवीन शिक्षा नीति के तहत उच्च शिक्षा में बदलाव हो गया । बीकॉम, बीए प्रथम वर्ष की प्राइवेट परीक्षा में सारे नियम इस बार बदल गए हैं।

नर्मदापुरम

Published: April 17, 2022 08:12:29 am

नर्मदापुरम. नवीन शिक्षा नीति के तहत उच्च शिक्षा में बदलाव हो गया । बीकॉम, बीए प्रथम वर्ष की प्राइवेट परीक्षा में सारे नियम इस बार बदल गए हैं। ऐसा पहली बार होगा जब प्राइवेट छात्रों को मूल परीक्षा के अलावा 15 दिन कॉलेज जाना होगा। इस दौरान उन्होंने जिस कॉलेज से फॉर्म जमा किया है वहां सीसीई देना होगा।

edu.jpg

जानकारी के अनुसार इन छात्रों को हर विषय में कुल 30 अंकों की प्रायोगिक परीक्षा होने के से कम 15 दिन प्रैक्टिकल, सीसीई जारी होगी। संभवत: मई में प्रथम अलग से पूरा शेड्यूल लागू कारण कॉलेज जाना ही होगा। कम व वायवा चलेंगे। एक विकल्प सीसीई न देने वाले विद्यार्थियों को दिया गया है। इसके तहत विद्यार्थी को स्वयं पोर्टल पर अपने विषय चुनकर ऑनलाइन टेस्ट देना होगा। उस टेस्ट में ऑनलाइन ही नंबर अलॉट होंगे ये प्रैक्टिकल के अंक माने जाएंगे है।

आपको बतादें कि वर्तमान में द्वितीय और तृतीय कॉलेज प्रबंधन ने बताया कि वर्तमान में द्वितीय व तृतीय वर्ष की वार्षिक परीक्षा चल रही है। इसके खत्म होने के बाद बीकॉम व बीए प्रथम वर्ष का शेड्यूल जारी किया जाएगा। संभावना है कि मई में प्रथम वर्ष की वार्षिक परीक्षा होगी।

इस तरह होगा अंकों का विभाजन
सैद्धांतिक परीक्षा में 70 अंक का पेपर होगा पास होने के लिए न्यूनतम 23 अंक लाना जरूरी होंगे। यह परीक्षा विवि द्वारा आयोजित की जाएगी। इसमें वस्तुनिष्ठ प्रश्न, लघु उत्तरीय और दीर्घ उत्तरीय प्रश्न शामिल होंगे। आंतरिक मूल्यांकन 30 अंकों का होगा इसमें 10 अंक लाना अनिवार्य होगा। नई शिक्षा नीति लागू होने के बाद पहली बार होने वाली यूजी की परंपरागत कोर्स की परीक्षा में मूल्यांकन का नया सिस्टम लागू किया है।

बीकॉम, बीए और बीएससी प्रथम वर्ष की
परीक्षा में मूल विषयों में पाठ्यक्रम पेपर 80 की जगह 70 अंक का होगा, जबकि आंतरिक मूल्यांकन 20 की जगह 30 अंकों के होंगे। परीक्षा समय तीन घंटे का रहेगा।

इनका कहना है
प्रथम की परीक्षाएं इस बार नवीन शिक्षा नीति के तहत ही आयोजित की जाएंगी। इसके लिए स्वाध्यायी परीक्षार्थियों के लिए भी नियमों में संशोधन किया गया है।
-डॉ. अरुण सिकरवार, परीक्षा प्रभारी, होमसाइंस कॉलेज

edu.jpg

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Presidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस के निवास पहुंचे एकनाथ शिंदेMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा का दिखा प्रभावप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने MSME के लिए लांच की नई स्कीम, कहा- 18 हजार छोटे करोबारियों को ट्रांसफर किए 500 करोड़ रुपएDelhi MLA Salary Hike: दिल्ली के 70 विधायकों को जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी, जानिए अभी कितना और कैसे मिलता है वेतनMaharashtra Politics: बीजेपी और शिंदे गुट के बीच नहीं आएगी शिवसेना, लेकिन निभाएगी विरोधी की भूमिका, जानें संजय राउत ने क्या कहा?Kangana Ranaut ने Uddhav Thackeray पर कसा तंज, कहा- 'हनुमान चालीसा बैन किया था, इन्हें तो शिव भी नहीं बचा पाएंगे'उदयपुर हत्याकांड: आरोपियों के कराची कनेक्शन पर पाकिस्तान की बेशर्मी, जानिए क्या बोला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.