scriptHeavy rain in scorching heat, wheat soaked in water | भीषण गर्मी में जोरदार बारिश, पानी में भीगा साढ़े तीन करोड़ का गेहूं | Patrika News

भीषण गर्मी में जोरदार बारिश, पानी में भीगा साढ़े तीन करोड़ का गेहूं

मध्यप्रदेश में अचानक बदले मौसम के कारण जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली है, वहीं खुले में रखे गेहूं के भीग जाने से करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है.

नर्मदापुरम

Published: May 02, 2022 08:31:13 am

नर्मदापुरम. मध्यप्रदेश में अचानक बदले मौसम के कारण जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली है, वहीं खुले में रखे गेहूं के भीग जाने से करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है, जिसका मुख्य कारण खरीदी करने के बावजूद समय से गेहूं का भंडारण नहीं करना है, हालांकि आगे भी गर्मी के बीच बारिश के संकेत नजर आ रहे हैं, ऐसे में अलर्ट रहना बहुत जरूरी है।

rain.jpg

मौसम विभाग की अनदेखी करना भारी पड़ गया। रविवार को अचानक मौसम में आए बदलाव के कारण जिले के माखननगर में सरकारी खरीदी केंद्रों पर खुले में रखा 17930 क्विंटल गेहूं भीग गया। इसमें नागरिक आपूर्ति निगम और ट्रांसपोर्टर की लापरवाही सामने आई है, क्योंकि यह गेहूं 20 दिनों से तुलकर खुले में रखा था। बीकोर और बागलखेड़ी में हजारों क्विंटल गेहूं खरीदी होने के बाद खुले आसमान के नीचे पड़ा रहने दिया गया। रविवार शाम को हुई बारिश से आंखमऊ में 5230 क्विंटल, बागलखेड़ी में 5700 क्विंटल एवं बीकोर में 7 हजार क्विंटल गेहूं भीगने की सूचना है। बागलखेड़ी के समिति प्रबंधक ने वरिष्ठ अधिकारियों को पूर्व में ही पत्र भेजकर अवगत भी कराया था, लेकिन परिवहन में देरी होने और ट्रांसपोर्टर की लापरवाही के चलते गेहूं भीग गया। इधर, सिवनीमालवा एवं पिपरिया सहित इटारसी में हल्की बूंदाबांदी हुई।

आपूर्ति नियंत्रक ने नहीं उठाए फोन
जिले में रविवार शाम को हुई बारिश एवं हवा-आंधी के कारण माखननगर ब्लॉक के ख्ररीदे केंद्रों पर गेहूं के भीगने से हुए नुकसान व उठाव-परिवहन के बारे में जानकारी लेने जब जिला आपूर्ति नियंत्रण ज्योति जैन (बंसल) को फोन लगाए तो उन्होंने रिसीव नहीं किए।

पारे में भी आई कमी
नर्मदापुरम के दिन के अधिकतम तापमान में भी रविवार को कमी आई है। शनिवार को दर्ज हुआ 41.3 डिग्री सेल्सियस तापमान घटकर 40.7 डिग्री दर्ज किया गया।

तेज आंधी से आम की फसल को नुकसान
मई के पहले दिन मौसम के दो नजारे देखने को मिले। सुबह से दोपहर तक तेज तपन रही। शाम होते ही काले बादल छाए और तेज हवा और आंधी चली। मौसम विभाग के अनुसार 20 किमी प्रतिघंटा की गति से हवाएं चलीं। रविवार शाम को अचानक बदले मौसम के कारण चली तेज आंधी से आम की फसल को नुकसान की आशंका हो रही है। क्योंकि कई जगह आम झडऩे की सूचना है। इससे पैदावार पर असर पड़ेगा। जिले में करीब 25-३0 हजार हैक्टेयर में आम की फसल जल्द ही तैयार होकर बाजार में आने वाली है।

यह भी पढ़ें : 2 मई से इस रूट पर चलेगी नई ट्रेन, कई शहरों के यात्रियों को फायदा

खतरा टला नहीं...
जिले में 30 अप्रेल की स्थिति में खरीदी केंद्रों पर किसानों से खरीदा गया करीब 5 लाख ङ्क्षक्वटल से अधिक गेहूं का उठाव व परिवहन नहीं हो सका था। सोमवार को इटारसी, पिपरिया-सिवनीमालवा में तेज बारिश होने की स्थिति में यहां भारी नुकसान हो सकता था। माखननगर में केंद्रों पर रखा गेहूं भीगने से नुकसान हुआ है।

rain.jpg

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Drone Festival: दिल्ली के प्रगति मैदान में भारत के सबसे बड़े ड्रोन फेस्टीवल का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदीअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातAsia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकामानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देरखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलमहंगाई का असर! परिवहन मंत्रालय ने की थर्ड पार्टी बीमा दरों में बढ़ोतरी, नई दरें जारी'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.