scriptmadhya pradesh state fish Mahasheer, narmada ki rani | नैनीताल-लोनावाला की तर्ज पर मिलेगी सुरक्षा, मिलेगा नर्मदा की रानी को नया जीवन | Patrika News

नैनीताल-लोनावाला की तर्ज पर मिलेगी सुरक्षा, मिलेगा नर्मदा की रानी को नया जीवन

नर्मदा की रानी को जिंदा रखने तवा बांध के पास बनेगी हैचरी...>

नर्मदापुरम

Updated: May 18, 2022 04:17:33 pm

देवेंद्र अवधिया

नर्मदापुरम। जिले में नर्मदा-तवा की रानी और टाइगर कहलाने वाली महाशीर यानी बाड़स मछलियों के अस्तित्व को बचाने के लिए शासन की योजना के तहत मत्स्य विभाग मत्स्य महासंघ के जरिए तवा डैम के पास 3.71 एकड़ सरकारी जमीन पर 2 करोड़ 91 लाख की राशि से हैचरी बनाने जा रहा है।

narmada.png
,,

बताया गया कि महाशीर का संवर्धन होगा और बीज तैयार कर बाद में नर्मदा एवं तवा नदी में डाले जाएंगे। कलेक्टर नीरज सिंह के माध्यम से जमीन विभाग को ट्रांसफर किए जाने की प्रक्रिया जल्द पूरी होगी।

हैचरी के निर्माण के लिए जिला कलेक्ट्रेड राजस्व विभाग से प्रस्तावित जमीन को सहायक संचालक मत्स्योद्योग विभाग के नाम ट्रांसफर कराने के लिए प्रक्रिया चल रही है। इस पर तय की जाने वाली एजेंसी हैचरी का निर्माण करेगी। निर्माण के बाद इस पर मत्स्य महासंघ काम करेगा।

लोनावाला-भीमावरम की तर्ज पर रहेगी हैचरी

मुंबई के पास लोनावाला और नैनीताल के पास भीमावरम में चल रही सफल हैचरी की तरह ही महाशीर के लिए हैचरी बनाई जाएगी। तवा डैम के पास इस पर करीब 2 करोड़ 91 लाख रुपए की राशि खर्च होगी। केंद्र सरकार से राशि की मंजूरी हो गई। नर्मदापुरम की हैचरी के निर्माण में करीब एक साल का समय लगेगा।

इसलिए खत्म हो रहा अस्तित्व

जिले में बिना बीज उत्पादन एवं संवर्धन के नहीं होने और अत्याधिक मत्स्याखेट के कारण महाशीर मछलियों की संख्या घट गई है। नर्मदा-तवा में पानी में से रेत के अंधाधुंध अवैध खनन, बढ़ते प्रदूषण एवं नदी के किनारों की जैवविविधता को नष्ट कर दिए जाने से इस मछली का अस्तित्व ही खत्म होने की स्थिति में आ गया है। साथ ही मछलियों के प्रजनन, बीज उत्पादन नहीं होने के कारण भी संकट बढ़ रहा है। इसका असर मछली पालन व्यवसाय से जुड़े हजारों मछुआरा परिवार भी बेरोजगारी की समस्या से जूझ रहे हैं।

नर्मदा-तवा की प्रमुख मछली महाशीर-बाड़स के संवर्धन के लिए तवा डैम के पास जमीन प्रस्तावित की गई है, जिसमें बड़ी हैचरी यानी बीज उत्पादन एवं विकास केंद्र बनाया जाएगा। इस पर करीब 2.91 करोड़ रुपए की राशि खर्च होगी। एक साल के भीतर ये हैचरी बनकर तैयार हो जाएगी।

-राजीव श्रीवास्तव, सहायक संचालक मत्स्योद्योग विभाग, नर्मदापुरम

narmada1.jpg

मध्यप्रदेश के लिए बेहद खास है

मध्यप्रदेश की राजकीय मछली महाशीर है। महाशीर मछली का वैज्ञानिक नाम Tor putitora है। इसको स्पोर्ट्स फिश के नाम से भी जाना जाता है। स्थानीय लोग इसे नर्मदा की रानी भी कहते हैं। मध्यप्रदेश सरकार ने वर्ष 2011 में महाशीर को राजकीय मछली घोषित किया था। महाशीर मुख्यतः नर्मदा नदी बेतवा केन चम्बल नदी में पाया जाता है जो कि अब विलुप्त होने की कगार पर है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद बीजेपी की बैठक आज, देवेंद्र फडणवीस करेंगे बड़ी घोषणाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार, देवेंद्र फडणवीस 1 जुलाई को ले सकते है सीएम पद की शपथउदयपुर मर्डर : आरोपियों के घर से जब्त की सामग्री, चार और संदिग्ध हिरासत मेंइलाहाबाद हाईकोर्ट से अनिल अंबानी को मिली राहत, उत्पीड़न कार्रवाई पर लगी रोक, जानिए पूरा मामलादो जुलाई से इन सुपरफास्ट ट्रेनों में कर सकेगें जनरल टिकट पर यात्राMaharashtra Political Crisis: उद्धव सरकार गिरने के बाद Twitter पर ट्रेंड कर रहा है 'उखाड़ दिया' हैशटैग, यूजर्स के निशाने पर हैं संजय राउतWorld Athletic Championhip:भारत को बड़ा झटका, सीमा पुनिया, भावना जाट और राहुल चैंपियनशिप से हटेPOLITICS: मध्यप्रदेश की सियासत से परिवारवाद का सफाया शुरू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.