scriptnimbu ki fasal ki jankari lemon price in narmadapuram | Lemon Price: पहले दिखाए थे तीखे तेवर, अब आ गए नींबू के भी बुरे दिन | Patrika News

Lemon Price: पहले दिखाए थे तीखे तेवर, अब आ गए नींबू के भी बुरे दिन

नर्मदापुरम में गर्मी वाले नींबू की फसल पिटी, पिछले साल प्रदेश सहित दिल्ली और पंजाब भेजा था, इस बार महाराष्ट्र से मंगवाकर किया जा रहा सप्लाई...।

नर्मदापुरम

Updated: May 04, 2022 04:41:14 pm

नर्मदापुरम। हाल ही में देशभर में अपने भाव से लोगों को परेशान करने वाले नींबू के अब बुरे दिन शुरू हो गए हैं। 400 रुपए किलो बिकने वाला नींबू अब 100 रुपए के भीतर बिक रहा है, वहीं नर्मदापुरम में तो इसकी पैदावार ही मुसीबत में आ गई है। कभी दिल्ली और पंजाब तक जाने वाला नींबू अब नर्मदापुरम में बाहर से मंगाया जा रहा है।

lemon1.png

नर्मदापुरम में उद्यानिकी के तहत बड़े रकबे में नींबू की पैदावार होती है। इस बार यह फसल गर्मी में लेट हो गई है। ऐसे में प्रदेश सहित दिल्ली-पंजाब में इसकी सप्लाई नहीं हो पा रही है।

बीते वर्षों में इसे पंजाब-दिल्ली और बिहार तक भेजा था। बताया जाता है कि जिले के बगीचों-खेतों में अभी फसल ठीक है पानी गिरने की स्थिति में फसल बढ़ जाएगी। बता दें कि जिले में नींबू की फसल करीब 25 से 40 हजार हैक्टेयर में होती है और उत्पादित नींबू बड़े साइज व वजन के साथ काफी रस भरा होता है। इसलिए नर्मदापुरम के नींबू की खासी मांग रहती है। गर्मी में नींबू की मांग ज्यादा होने व आपूर्ति कम होने से फुटकर में 400 रुपए प्रति किलो बिक रहा था। नर्मदापुरम जिले की नींबू फसल के मंडी-बाजार में नहीं पहुंचने से व्यापारी महाराष्ट्र से नींबू की खैप बुला रहे हैं। खपत के हिसाब से नींबू की आवक कम है।

फसल पिट गई है...

जिले में नींबू की पैदावार अच्छी होती थी। इस बार के गर्मी सीजन में फसल पिट गई है। एक माह बाद ही मंडी-बाजार में आएगी। अभी महाराष्ट्र से थोक में नींबू बुलाकर फुटकर विक्रेताओं को सप्लाई किया जा रहा है, लेकिन मांग के हिसाब से आवक नहीं हो पा रही है।

यह भी पढ़ेंः

बड़ी राहतः अब 10 रुपए के तीन मिलने लगे नींबू, जानिए कैसे बढ़ गए थे इतने दाम

गूडन, थोक नींबू व्यापारी, सब्जी-फल मंडी नर्मदापुरम

जिले की मुख्य सब्जी-फल मंडी में नींबू की आवक माखननगर, सेमरी, मढ़ावन, आंचलखेड़ा, सुआखेड़ी, निमसाड़िया, मनवाड़ा, तालनगरी, खोकसर, बरंडुआ, सहेली सुखतवा, मटकुली सहित शाहगंज क्षेत्र के बगीचों-खेतों से होती है। यहां बड़े बगीचे हैं। इस बार के गर्मी के सीजन में फसल तैयार नहीं हो सकी। इस वजह से न तो थोक मंडी में आ पा रही है न ही बाजार में फुटकर में नींबू मिल पा रहा है। किसानों के अनुसार इन क्षेत्रों में बीते सालों में इस सीजन में अच्छी पैदावार निकली थी। फसल के लेट व पिटने से किसानों के साथ ही व्यापारियों को भी आर्थिक समस्या से जूझना पड़ रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीअब तक 11 देशों में मंकीपॉक्स : 21 मई को WHO की इमरजेंसी मीटिंग, भारत में अलर्ट, अफ्रीकी वैज्ञानिक हैरानफिर महंगी हुई CNG: राजस्थान में दाम सबसे अधिक, Diesel - CNG के दाम में अब मात्र 12 रुपए का अंतर'मैं क्रिकेट खेलना छोड़ दूंगा'- Virat Kohli ने रिटायरमेंट का संकेत देकर चौंकायाअकाली दल के दिग्गज नेता व पंजाब के पूर्व मंत्री तोता सिंह का निधन, सरपंच से पार्टी प्रेसिडेंट तक ऐसा था सफरभीषण सडक़ हादसा: पूर्व सांसद के भतीजे समेत 4 की मौत, गैसकटर से काटकर निकाले गए शव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.