scriptPt. Pradeep Mishra will be involved in Parshuram Jayanti | अंतरराष्ट्रीय कथा वाचक पं. प्रदीप मिश्रा परशुराम जयंती में भी होंगे शामिल | Patrika News

अंतरराष्ट्रीय कथा वाचक पं. प्रदीप मिश्रा परशुराम जयंती में भी होंगे शामिल

नर्मदापुरम के सेमरी में 3 मई से शिवमहा पुराण को होगा आयोजन, अभी रतलाम में दे रहे प्रवचन

नर्मदापुरम

Published: April 28, 2022 12:47:00 pm

नर्मदापुरम. मध्यप्रदेश के नर्मदापुरम जिले के छोटे से कस्बे सेमरीहरचंद में आगामी 3 मई 2020 से लेकर 9 मई 2022 तक नर्मदा शिवपुराण महाकथा का आयोजन होने जा रहा है। इसकी तैयारियां आयोजकों ने शुरू कर दी है। शिवमहापुराण के सात ही मां नर्मदा की महत्ता को अंतर्राष्ट्रीय कथावाचक पं. प्रदीप मिश्रा सीहोर वाले बताएंगे। कथा के लिए विशाल पांडाल एवं अन्य व्यवस्थाएं जुटाई जा रही है। आयोजनकर्ता शैलेश सोनी ने बताया कि कथा दोपहर दो बजे से शाम 5 बजे तक चलेगी। वाहनों की पार्किंग के लिए नगर के तीनों तरफ जगह चिन्हित कर ली गई है। जिसमें पिपरिया तरफ से आने वाले वाहनों के लिए महालक्ष्मी वेयरहाउस के समीप, सांगाखेड़ा माखननगर की तरफ से आने वाले वाहनों के लिए खेड़ापति मंदिर के पास एवं नर्मदापुरम, माखननगर की तरफ के वाहनों को खड़े करने के लिए भी दो खाली खेतों को चिन्हित कर लिया गया है। इधर, पं. पंडित मिश्रा इटारसी में आयोजित भगवान परशुराम जयंती की भव्य शोभायात्रा में भी 5 मई को शामिल हैं। इस अवसर पर उनका सम्मान किया जाएगा। बता दें कि अभी पं. प्रदीप मिश्रा बैशाख की महापुराण का वाचन प्रदेश के रतलाम जिले में कर रहे हैं। इसके पहले वह छत्तीसगढ़, हरिव्दार श्री हर की पौड़ी (भगवान हरी के व्दार), मप्र के रायसेन आदि जगहों पर शिवमहापुराण की कथा का वाचन कर चुके हैं। पं. मिश्रा के प्रवचनों और इसमें सुझाए उपायों की योगगुरु बाबा रामदेव, भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय, फायरब्रांड नेत्री उमा भारती सहित देश के कई संत-महात्मा और कथावाचक भी प्रशंसा कर चुके हैं।

नर्मदापुरम से 41 किमी दूर होगी शिवमहापुराण
बता दें कि जिला एवं संभागीय मुख्यालय नर्मदापुरम से यह शिवमहापुराण की कथा 41.2 किमी दूर यानी जिले के ही सेमरीहरचंद कस्बे में होगी। नर्मदापुरम से सेमरी तक पहुंचने में 58 मिनिट का समय लगेगा। सेमरी माखननगर एवं सोहागपुर के बीच का स्थल है। यहां चारों तरफ से अवागमन की सड़क सुविधाएं भी मौजूद है। टे्रन से नर्मदापुरम या फिर पिपरिया स्टेशन पर उतरकर सेमरी पहुंचा जा सकता है।

जानिए...कौन हैं सीहोर वाले पंडितजी
सीहोर वाले पं. प्रदीप मिश्रा भारत और दुनिया के एक जाने-माने कथावाचक और भजनकार हैं। वह अपने भजन के माध्यम से लोगों को सही राह पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं। इसके अलावा उनके द्वारा दिया गया प्रवचन भी लोगों के जीवन में आमूल-चूल परिवर्तन लाता है। उनकी कथा विदेशों में भी लोगों के द्वारा सुनी जाती है और उनका प्रोग्राम भी वहां पर होता है। विश्व में उनकी पहचान एक मशहूर कहानीकार के तौर पर भी होती है और वह जब कुछ प्रवचन देते हैं तो उनके शब्द काफी गहरे और अनमोल होते हैं।
अंतरराष्ट्रीय कथा वाचक पं. प्रदीप मिश्रा परशुराम जयंती में भी होंगे शामिल
अंतरराष्ट्रीय कथा वाचक पं. प्रदीप मिश्रा परशुराम जयंती में भी होंगे शामिल
पंडितजी के ये भजन हो रहे लोकप्रिय
पंडित प्रदीप मिश्रा के शिवमहापुराण कथा के बीच-बीच में गाए हुए ऐसे कई भजन हैं जो लोगों के बीच बेहद लोकप्रिय हो रहे हैं। जैसे मजा आ रहा जीने में महादेव धड़क रहे सीने में, मुझे कौन पूछता था तेरी बंदगी से पहले, फूलों से मंदिर सजाऊंगी -भोला तुमको मनाऊंगी, तुम आना भोले बाबा मेरे मकान में, लूट के ले गया दिल जिगर मेरा भोलाशंकर, अब दया करो भोलेनाथ मस्त रहूं तेरी मस्ती में, दिल तुझको दिया ओ भोलेनाथ, ओ काशी वाले अब तो आ जा तेरी याद सताए सहित अन्य कई भजन गीत लोगों सुनते एवं गुनगुनाते रहते हैं।

ये है बायोग्राफी....
पंडितजी का नाम प्रदीप मिश्रा है। इनका जन्म वर्ष 1980 में हुआ। इनकी आयु अभी करीब 42 वर्ष है। जन्म सीहोर मप्र में हुआ। परिवार में माता-पिता, दो भाई, पत्नी और बच्चे हैं। इनके पिता का नाम रामेश्वर दयाल मिश्रा है। इनका पेशा अंतर्राष्ट्रीय कथा वाचक है। इनके दो भाई दीपक मिश्रा एवं विनय मिश्रा हैं। पं. प्रदीप मिश्रा को लोग सीहोर वाले महाराज के नाम से जानते हैं। पंडित मिश्रा ने अपनी स्कूली शिक्षा अपने जन्मस्थान सीहोर से प्राप्त किया है और उसके बाद इन्होंने स्नातक की डिग्री भी हासिल की है। इसके अलावा इन्होंने हिंदू धर्म शास्त्रों का गहन अध्ययन किया है। पंडित मिश्रा ने अपने कैरियर की शुरुआत ही कथावाचक के रूप में की। जिसके बाद उनकी प्रसिद्धि इतनी हो गई कि आज की तारीख में यूट्यूब और फेसबुक पर लाखों-करोड़ों की संख्या में उनके प्रशंसक, श्रोता और भक्त बन चुके हैं। उनकी कथा का लाइव प्रसारण आस्था चैनल पर भी प्रसारित होता है। पंडित मिश्रा भक्ति भजन गीत भी गाते हैं और उनके भजनों को सुनकर भक्त पूरी तरह से भगवान के भक्ति में रम जाते हैं।

प्रवचन से समाज को दिखा रहे सही राह
पं. मिश्रा सनातन धर्म और हिंदू धर्म की रक्षा के लिए प्रेरक प्रवचन देते हैं। देवाधिदेव महादेव का गुणगान कर विभिन्न रोचक प्रसंगों से सभी का मन मोह लेते हैं। प्रवचन में धर्मनिष्ठ जीवन जीने की राह भी दिखाते हैं। धर्म से जुड़े अहम पहलुओं पर अपना विचार भी रखते हैं, जिसे लोग अपने जीवन में अपना लेते हैं तो आप हमेशा खुश और प्रसन्न रहते हैं।

उपायों बताकर करते हैं समस्या का निदान
पं. मिश्रा के टोटके और उपाय भी खासी लोकप्रिय व उपयोगी रहते हैं। वह हमेशा अपने प्रवचन में भगवान महादेव, भोलेनाथ के शिवलिंग पर एक लोटा गंगा-नर्मदा जल एवं एक बैलपत्र चढ़ाने के लिए लोगों को प्रेरित करते हैं। असाध्य से असाध्य रोग, कष्ट और दुखों के निवारण के लिए शिवजी पर चढ़ाई गई बिल्वपत्र को सेवन करने की सलाह भी देते हैं। जब लोगों के कष्ट-दुखों और बीमारियों का निवारण हो जाता है तो लोग उन्हें पत्र लिखकर भेजते हैं। पं. मिश्रा कथा एवं भजनों के बीच में इन पत्रों का वाचन करते हैं।

पं. मिश्रा ने कथा में बताए ये उपाय
कर्ज की मुक्ति के लिए: आपके ऊपर अधिक कर्ज है तो पं. प्रदीप मिश्रा कहते हैं इसके लिए सबसे पहले आपको वट वृक्ष की पूजा अर्चना करनी चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से आपके ऊपर जो भी कर्ज और परेशानियां है उसका निवारण हो जाएगा। इसके लिए आपको वटकेश्वर महादेव स्मरण करना होगा। इस प्रकार की प्रक्रिया आपको प्रत्येक सोमवार को करनी होगी। इसके अलावा आपको बट पेड़ के जड़ों को अपने पास रखना होगा। ऐसा करने से आपको कर्ज़ से संबंधित समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

कर्ज कब लेना चाहिए और कब नहीं
महाराज प्रदीप मिश्रा कहते हैं कि शास्त्र के अनुसार व्यक्ति को मंगलवार को कभी भी कर्ज नहीं लेना चाहिए क्योंकि ऐसा करना अमंगल माना जाता है। पं. मिश्रा के अनुसार बुधवार के दिन व्यक्ति को किसी दूसरे व्यक्ति को कर्ज नहीं देना चाहिए। अगर ऐसा करते हैं तो आपका पैसा डूब जाएगा और आप जो पैसे उधार के तौर पर दे रहे हैं, वह आपको कभी भी वापस नहीं मिलेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Thailand Open: PV Sindhu ने वर्ल्ड की नंबर 1 खिलाड़ी Akane Yamaguchi को हराकर सेमीफाइनल में बनाई जगहIPL 2022 RR vs CSK Live Updates: रोमांचक मुकाबले में राजस्थान ने चेन्नई को 5 विकेट से हरायासुप्रीम कोर्ट में अपने लास्ट डे पर बोले जस्टिस एलएन राव- 'जज साधु-संन्यासी नहीं होते, हम पर भी होता है काम का दबाव'ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनCBI रेड के बाद तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर कसा तंज, कहा - 'ऐ हवा जाकर कह दो, दिल्ली के दरबारों से, नहीं डरा है, नहीं डरेगा लालू इन सरकारों से'Ola-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार के लिए भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाईHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.