नेपाल से चेन्नई भेजी जा रही 117 किलो हशीश जब्त,7 आरोपी गिरफ्तार

मादक पदार्थों की तस्करी रोकने की दिशा में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। नेपाल के रास्ते मंगाई गई व यूपी और एमपी से होकर चेन्नई भेजी जा रही हशीश की बड़ी नरसिंहपुर जिले के महमदपुर टोल प्लाजा पर पकड़ी गई।

By: ajay khare

Published: 08 Oct 2020, 08:54 PM IST

नरसिंहपुर. मादक पदार्थों की तस्करी रोकने की दिशा में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। नेपाल के रास्ते मंगाई गई व यूपी और एमपी से होकर चेन्नई भेजी जा रही हशीश की बड़ी नरसिंहपुर जिले के महमदपुर टोल प्लाजा पर पकड़ी गई। नरसिंहपुर पुलिस, राजस्व आसूचना निदेशालय (डीआरआई) इंदौर और भोपाल की टीम ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 44 पर घेराबंदी कर महमदपुर टोल प्लाजा के पास दो वाहनों से 117 किलोग्राम हशीश बरामद की । जिसकी कीमत करीब 6 से 7 करोड़ रुपए है । पुलिस ने तस्करी में लिप्त 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर २ वाहन जप्त किए हैं । पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने बताया कि पकड़ी गई हशीश नेपाल बॉर्डर से तस्करी कर उत्तरप्रदेश से होकर यहां से होते हुए चेन्नई की ओर भेजी जा रही थी। सूचना मिलने पर एनएच 44 पर घेराबंदी की गई। इस दौरान रेनॉल्ट डस्टर कार जिसका नंबर टीएन ०५ एडब्ल्यू ०९५ है व एक टाटा जेस्ट गाड़ी जिसका नंबर यूपी ७८ एफडी ५८५७ है, को रोका गया। रोकने के बाद दोनों वाहनों की सघन जांच की गई तो गाड़ी में विशेष रूप से छिपा कर रखी गई हशीश बरामद हुई। तस्करी में प्रयुक्त वाहनों में अवैध मादक पदार्थ को छिपाने के लिए वाहनों के अंदर अलग-अलग जगहों पर विशेष कंपार्टमेंट बनाए गए थे । वाहन को बाहर से देखने पर उनकी बनावट में किसी प्रकार की कोई भिन्नता नजर नहीं आ रही थी । लेकिन जब सूक्ष्म जांच की गई तो कई जगहों पर छिपा कर रखी गई हशीश बरामद हुई। बरामद किए गए मादक पदार्थ का वजन 117 किलोग्राम है । जिसकी कीमत करीब ६ से ७ करोड़ रुपए है। हशीश की तस्करी में 7 आरोपियों को हिरासत में लिया गया है व तस्करी में प्रयुक्त दोनों वाहनों को एनडीपीएस एक्ट के तहत जब्त किया गया है। माना जा रहा है कि यह अंतराष्ट्रीय मादक पदार्थ गिरोह है। फिलहाल तस्करी से जुड़े अन्य लोगों तक पहुंचने के लिए पुलिस ने आरोपियों के नामों का खुलासा नहीं किया है।

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned