श्रमिकों के लिए 40 बसों का इंतजाम अभी तक 1900 को भेजा उनके घर

श्रमिकों की घर वापसी अभियान के चलते जिले से हर रोज बसों के माध्यम से दूसरे जिले के श्रमिकों को उनके गृह जिले के लिए रवाना किया जा रहा है। अभी तक 1900 श्रमिकों को प्रशासन ने उनके घर भेजा है। श्रमिकों को उनके जिले तक भेजने के लिए परिवहन विभाग के माध्यम से 40 बसों का इंतजाम किया गया है

By: ajay khare

Published: 05 May 2020, 07:05 PM IST

नरसिंहपुर.श्रमिकों की घर वापसी अभियान के चलते जिले से हर रोज बसों के माध्यम से दूसरे जिले के श्रमिकों को उनके गृह जिले के लिए रवाना किया जा रहा है। अभी तक १९०० श्रमिकों को प्रशासन ने उनके घर भेजा है। श्रमिकों को उनके जिले तक भेजने के लिए परिवहन विभाग के माध्यम से ४० बसों का इंतजाम किया गया है। जानकारी के अनुसार लॉक डाउन के दौरान बाहर से यहां आए और लॉक डाउन के पहले से यहां रुके सभी श्रमिकों की सूची बनाकर रूट चार्ट बनाकर उनके जिले में भेजा जा रहा है। श्रमिकों को भेजने के लिए जो बसें ली गई हैं उनका किराया बस मालिकों को शासन की ओर से दिया जा रहा है। श्रमिकों से किसी तरह का कोई रुपया नहीं लिया जा रहा बल्कि उन्हें भोजन कराने के अलावा रास्ते के लिए भोजन पानी आदि की व्यवस्था प्रशासन की ओर से की जा रही है। सभी श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण करने एवं बसों का सेनेटाइजेशन करने के बाद ही सोशल डिस्टेंसिंग के साथ रवाना किया जा रहा है। सोशल डिस्टेंस बनाने के लिए ५० सीटर बस में २५ यात्रियों को एक बार में भेजा जा रहा है। यहां से जो श्रमिक अन्य जिलों में भेजे गए हैं उनमें सर्वाधिक छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला और जबलपुर के थे। इसके अलावा पन्ना, सतना के श्रमिकों को भी उनके जिले में भेजा गया है। श्रमिकों को नरसिंहपुर, गाडरवारा, करेली, गोटेगांव, तेंदूखेड़ा आदि जगहों से बसों से रवाना किया गया।
-----------------

COVID-19 virus
ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned