एक चिंगारी ने किसान को कर दिया तबाह

शार्ट सर्किट से फसल खाक, सिंचाई पाइप भी जले, श्रीनगर गांव में हुआ हादसा

गोटेगांव। नगर से दस किलोमीटर दूर श्रीनगर गांव में गुरुवार को एक बार फिर किसान के खेत में आग लग गई। आग के कारण खेत में रखे हुए किसान के सिंचाई पाइप तक जल गए हैं। वर्तमान में किसानों के खेतों में बिजली सप्लाई के जो तार झूल रहे हैं वह हवा के कारण आपस में टकराते हैं और उससे चिंगारी उत्पन्न होकर खेत में गिरती है। गर्मी के कारण सूखी फसल और सूखी नरवाई के कारण आग भभक उठती है जब तक उसको नियंत्रित करने का प्रयास करते हैं तब तक वह विकराल रूप धारण कर लेती है।
दो दिन पहले श्रीनगर के खेत में आग लगने से तीन किसानों की १५ एकड़ गेहंू की फसल खाक हो गई थी। वर्तमान में हर इलाके में जिस तरह आग लगने की खबर मिल रही है और सभी घटना में बिजली की चिंगारी कारण बन कर सामने आ रही है। पत्रिका लम्बे समय से विद्युत मंडल से मांग आ रही है कि किसानों के खेतों में झूलते बिजली के तारों और लटके हुए पोल को दुरूस्त कराएं ताकि किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना घटित नहीं हो सके मगर विद्युत मंडल के किसी भी अधिकारी पर जू नहीं रेंग रही है जिसका परिणाम फसल में लगती आग की घटना है। जब किसान अपने खेत में मजदूर के माध्यम से पाइप बिछा कर सिंचाई का कार्य करवाती है। उस समय भी लटकते तारों के कारण करंट लगने की घटना होती है।

narendra shrivastava Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned