मासूम के अपहरण, दुष्कर्म व हत्या के चौथे दिन भी पुलिस के हाथ खाली

- आरोपी को नही खोज पाई पुलिस
-पुलिस ने आरोपी की तलाश में लगाई है पांच टीम
-आरोपी की गिरफ्तारी को घोषित है 10 हजार रुपये का ईनाम
-घटना को लेकर राजनीति शुरू, उठाई फांसी की मांग

By: Ajay Chaturvedi

Published: 08 Jun 2021, 02:54 PM IST

नरसिंहपुर. जिले के तेंदूखेड़ा क्षेत्र निवासी आठ वर्षीय मासूम बच्ची के अपहरण, दुष्कर्म और हत्या आरोपी की तलाश में अभी तक पुलिस खाली हाथ है। हालांकि आरोपी की गिरफ्तार के लिए 10 हजार रुपये का ईनाम घोषित किया गया है, पुलिस पांच टीम बना कर जगह-जगह दबिश दे रही है। लेकिन अब तक आरोपी का कोई सुराग नहीं मिल पाया है। इस बीच घटना को लेकर राजनीति जरूर शुरू हो गई है। नेतागण आरोपी के शोक संतप्त परिवार को ढांढस दिलाने पहुंच रहे हैं। नेताओं ने आरोपी को फांसी की सजा की मांग भी कर दी है।

बता दें कि तेंदूखेड़ा क्षेत्र में शनिवार को घर के बाहर खेलते समय आठ वर्षीय बच्ची अचानक गायब हो गई थी। खोजबीन के दौरान उसका शव रविवार को पड़ोसी के घर एक भूसे के कमरे से बरामद हुआ था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार मासूम के साथ दुष्कर्म किया गया फिर हत्या कर दी गई। उधर घटना के बाद से पड़ोस में जिसके घर से शव बरामद हुआ उसमें रहने वाला युवक लापता है। पुलिस उसके परिजनों व रिश्तेदारों से पूछताछ करने के साथ ही उसकी तलाश में जुटी है। पूरे गांव में मासूम बच्ची के साथ हुई घटना को लेकर न केवल आक्रोश है बल्कि लोग गमगीन भी हैं।

घटना के संबंध में बताया गया है कि शनिवार को मासूम बच्ची की मांग कोरोना निरोधक टीका लगवाने गई थी और पिता काम पर। बच्ची के साथ 12 वर्षीय उसकी बड़ी बहन ही थी। इस बीच बच्ची घर के बाहर ही खेलने चली गई थी। करीब डेढ़ बजे जब टीका लगवा कर मां घर लौटी तो छोटी बच्ची उसे नजर नहीं आई। इसके बाद उसकी तलाश शुरू की गई। इस दौरान बालिका की मां को एक संदेही युवक पड़ोस में स्थित अपने घर का ताला लगा कर जाते हुए दिखा। पुलिस ने शनिवार को उस कमरे की तलाशी ली पर कुछ नहीं मिला पर पुलिस संदेही युवक की तलाश में जुट गई। हालांकि उसका कहीं दूर-दूर तक पता नहीं चला। रविवार को पुलिस ने जब उसी कमरे से लगे हुए भूसे से भरे दूसरे कमरे को खाली कराया तो बालिका का रक्त रंजित शव बरामद हुआ था।

इस बीच पुलिस अधीक्षक विपुल श्रीवास्तव ने रविवार देर रात ही धारा 363 के मामले में संदेही आरोपी नितिन पिता केदार पटेल (19 वर्ष) की गिरफ्तारी पर 10 हजार रूपये के ईनाम की घोषणा कर दी। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पांच टीमें गठित कर तलाश शुरू की गई, जगह-जगह से सीसीटीवी फुटैज खंगाले गए पर उसका कहीं पता नहीं चला।

राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य प्रिया ठाकुर ने मामले की कड़ी निंदा करते हुए महिला आयोग की राष्ट्रीय अध्यक्ष को पत्र लिखकर तत्काल प्रभाव से इस मामले को गंभीरता से लेने का अनुरोध किया है। साथ ही पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद की मांग की है। उन्होंने अपने पत्र में यह भी स्पष्ट किया है कि मध्य प्रदेश में इस तरह की घटनाओं पर अभी तक कोई विराम नहीं लग पा रहा है, और न ही आरोपियों को कठोर दंड दिया जा रहा है। यही वजह है कि आए दिन इस तरह के मामले सामने आ रहे हैं। यह घटना बेहद शर्मनाक है जितने भी शब्दों में इसकी निंदा की जाए वह कम होगी।

पूरा गांव गमगीन, उधर राजनीति शुरू

इधर पूरा गांव गमगीन है और उधर राजनीति भी शुरू हो गई है। विधायक संजय शर्मा भी पीड़ित परिवार से मिले और घटना की निंदा करते हुए मृतका के स्वजनों को भरोसा दिलाया कि आरोपित को फांसी दिलाने तक संघर्ष किया जाएगा।क्षेत्र में इस तरह की घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जाएगीं। उन्होंने आरोपित को शीघ्र पकड़ने अधिकारियों को निर्देश दिए है।

जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष देवेंद्र पटेल गुड्डू भी तेंदूखेड़ा पहुंचे और पीड़ित परिवार को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया। श्री पटेल से मृतका की मां ने कहा कि जिस मकान में यह घटना हुई है वह मकान तोड़ दिया जाए जिससे फिर कोई अनहोनी न हो सके।

युवा मोर्चा, विहिप, बजरंग दल ने इस मामले को लेकर पुलिस व प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा है। सभी ने एक स्वर से आरोपी को जल्द गिरफ्तार कर फांसी की सजा दिलाने की मांग की है। बजरंग दल से प्रखंड अध्यक्ष नीरज राव के मार्गदर्शन में सक्षम सोनी, विक्रम पटेल, शुभम शर्मा, अमित पटेल, पारस राजपूत, सुजीत दुबे, विकास पटेल आदि ने आरोपित को कठोर से कठोर सजा देने की मांग की है।

मोमबत्ती जला कर दी गई श्रद्धांजलि

सोमवार की शाम विभिन्न वर्गो के लोगों ने घटना की तीखी निंदा करते हुए मृत बच्ची की आत्मा की शांति के लिए कैंडल जलाकर श्रद्घाजंलि दी। गांधी चौक पर गांधी स्मारक के सामने नगर के सभी वर्गो के लोगों ने एकत्रित होकर दो मिनट का मौन रखा। साथ ही सभी ने कहा कि आरोपित को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए वह हरसंभव प्रयास करेंगे जिससे मानवता को शर्मसार करने वाली इस तरह की घटनाएं फिर न हो सकें।

कोट

"संदेही आरोपी की तलाश में वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में टीमें लगी हुईं है। जांच में जो तथ्य मिल रहे है उसके आधार पर उसकी तलाश की जा रही है। उम्मीद है कि पुलिस जल्द आरोपी को तलाश कर लेगी।"-मेहंती मरावी, एसडीओपी तेंदूखेड़ा

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned