भगवान महावीर के अवतरण दिवस पर बरसा अमृत

भगवान महावीर के अवतरण दिवस पर बरसा अमृत

Narendra Shrivastava | Publish: Apr, 17 2019 06:55:01 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 06:55:02 PM (IST) Narsinghpur, Narsinghpur, Madhya Pradesh, India

गजरथ पंचकल्याण में भगवान के जयंती अवसर पर निकाली शोभायात्रा

गोटेगांव। चौरासी लाख योनियों में मानव योनी ही ऐसी है जिसके माध्यम से जीवन का कल्याण संभव है। इसलिए मनुष्य योनी को पाने के लिए देवता भी तरसते हैं। एक आत्मा का जन्म होता है जिससे तीन लोक में आनंद का माहौल हो जाता है। आज जन्म कल्याणक का दिन है। इस पावन अवसर पर देवता भी देवलोक छोड़ कर आ रहे हैं। इस पावन अवसर पर इन्द्रदेव भी प्रसन्न होकर अमृत बरसा कर रहे हैं। उक्त विचार जैन मुनि १०८ योग सागर महाराज ने गजरथ पंचकल्याण महोत्सव पर भगवान के अवतार दिवस पर विचार व्यक्त किए।
उन्होंने कहा कि अभी तो अरिहंत बने भी नहीं हैं अभी तो उस पवित्र आत्मा ने सिर्फ जन्म लिया है जिसकी सिर्फ एक ही भावना होती है कि प्रत्येक जीव का कल्याण हो उनमें अभी स्वर्ग की इच्छा और मोक्ष की कामना तक नहीं होती है। उनकी सिर्फ एक ही भावना होती है कि तीनों लोकों में शांति रहे। सभी जीव सुख और शांति से रहें। उन्होंने कहा कि जो दूसरे के कल्याण की भावना रखता है उसका अवश्य कल्याण होता है।
उन्होंने आगे कहा कि गुरू में किसी प्रकार का छल कपट नहीं होता है। उनमें करूणा होती है। मानव को गुरू के बताए मार्ग पर चलना चाहिए क्योंकि उनकी वाणी से ही मानव का कल्याण होता है। महान आत्मा की गुरू होते हैं मानव को अपना अहंकार छोड़ कर गुरू के पीछे चलना चाहिए।

भगवान अवतार पर शोभायात्रा
गजरथ पंचकल्याण महोत्सव में बुधवार को भगवान का अवतार होने पर गाजे बाजे के साथ गजरथ स्थल से शोभायात्रा निकाली गई जो विभिन्न मार्ग से होते हुई वापस कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने के बाद यहां पर भगवान का अभिषेक कार्यक्रम सौधर्म इन्द्र सहित इन्द्र इद्राणी द्वारा जल धारा करके किया। शोभायात्रा में चल रहे अश्व रथ पर गजरथ महोत्सव के चयनित पात्र बैठे हुए थे।

मुनि सानिध्य में श्रीजी का जुलूस
महावीर जयंती के अवसर पर दोपहर के समय पंचायती जैन मंदिर में मुनियों के सानिध्य में श्रीजी को पालकी में विराजमान करके भव्यता के साथ शोभायात्रा निकाली गई। जगह जगह पर श्रीजी व मुनियों की पूजा अर्चना भक्तों द्वारा दीपों से की गई। वहीं रास्ते में पडऩे वाले जिनालय में मुनियों ने पहुंच कर भगवान महावीर का स्मरण किया। यह शोभायात्रा गजरथ महोत्सव स्थल पर पहुंचने के बाद यहां पर भगवान महावीर का अभिषेक कार्यक्रम सम्पन्न होने के बाद महाआरती की गई। इस मौके पर मुनिगण ने अपने विचार व्यक्त किए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned