काफी जद्दोजहद के मिल गई इस ऐतिहासिक मेले को इजाजत

-पहले आपदा प्रबंधन समिति ने मेले के आयोजन पर लगाई थी रोक

By: Ajay Chaturvedi

Published: 24 Dec 2020, 04:37 PM IST

नरसिंहपुर. काफी जद्दोजहद के बाद आखिरकार नर्मदा तट पर लगने वाले ऐतिहासिक बरमान के संक्रांति मेले के लिए इजाजत मिल ही गई। पूर्व में दिसंबर के पहले सप्ताह में हुई आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में इस बार कोरोना संक्रमण के चलते मेले पर प्रतिबंध लगाया गया था। लेकिन बरमान रेस्ट हाउस में व्यापारी संगठनों, जनप्रतिनिधियों व जिला प्रशासन की संयुक्त बैठक में इस मेले के आयोजन को हरी झंडी दे दी गई।

हालांकि कहा गया है कि मां नर्मदा के के तट पर स्थित बरमान में मकर संक्रांति का मेला 20 दिन का होगा। किसी भी सूरत में इसकी अवधि नहीं बढ़ाई जाएगी। शर्त ये भी है कि यहां लगने वाली दुकानों पर भीड़ जमा न हो, इसके लिए व्यापारियों को शारीरिक दूरी के नियम का पालन सुनिश्चित करना होगा। साथ ही पॉलीथिन का इस्तेमाल भी नहीं होगा।

ये भी पढें- ...तो इस बार नहीं लगेगा ये ऐतिहासिक मेला

जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में हुई बैठक में सर्वसम्मति से तय हुआ कि मेला अवधि 12 से 31 जनवरी 2021 तक होगी। इस बीच अलावा रेतघाट व सीढ़ी घाट को जोड़ने वाले निर्माणाधीन पुल का काम 10 जनवरी तक पूरा करने के आदेश संबंधित निर्माण कंपनी को दिए गए। इसी तरह मेला स्थल के भीतरी रोड के समतलीकरण की मांग पर कलेक्टर ने लोक निर्माण विभाग को इस काम का जिम्मा सौंपा।

बैठक में बताया गया कि मेला स्थल पर श्रद्धालु अपने वाहनों से आ सकेंगे। मेला स्थल तक पहुंचे वाहनों को निर्धारित पार्किंग स्थल पर रखा जाएगा। मेला समिति ने व्यापारियों से मेला क्षेत्र में दुकान के लिए आवंटित भूमि का निर्धारित शुल्क का भुगतान पहले करने को कहा है। बैठक में यह भी तय किया गया कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर व्यापारी वर्ग प्रशासन का पूरा सहयोग करेंगे। दुकानों पर पर्याप्त साफ-सफाई होगी, पॉलीथिन का उपयोग नहीं होगी। दुकानों पर सेनेटाइजर व मास्क रखे जाएंगे। साथ ही देह की दूरी का सख्ती से पालन किया जाएगा।

वहीं मेला स्थल पर कानून व्यवस्था, प्रकाश, पेयजल व्यवस्था, पार्किंग स्थल, चिकित्सा व्यवस्था, आवश्यकतानुसार नाव, फायर बिग्रेड, कंट्रोल रूम, वाच टॉवर, सीसीटीवी कैमरे, शौचालय, गोताखोर, मेला ले- आउट, घाटों की साफ- सफाई, मोटरबोट, तैराक, लाइफ जैकेट आदि से संबंधित व्यवस्थाओं के बारे में संबंधित अधिकारियों को कलेक्टर वेदप्रकाश ने निर्देशित किया। उन्होंने पर्याप्त मात्रा में पानी के टेंकरों की व्यवस्था कराने के निर्देश दिए। मेला स्थल पर पर्याप्त संख्या में शौचालय बनाए जाने समेत अधिकारियों को सौंपे गए कार्यों का निर्वहन गंभीरता से करने के निर्देश बैठक में दिए गए। इस संबंध में एक सप्ताह के बाद मेला स्थल का निरीक्षण वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा किया जाएगा।

सभी ने सर्वसम्मति से तय किया कि बरमान के ऐतिहासिक संक्रांति मेले में सर्कस, झूला व मौत का कुआं स्थापित करने की अनुमति नहीं होगी।

बैठक में विधायकद्वय जालम सिंह पटैल, संजय शर्मा, कलेक्टर वेद प्रकाश समेत अन्य जनप्रतिनिधि, व्यापारी, अधिकारी आदि शामिल थे। इस दौरान उपस्थितों ने मेले की तैयारियों को लेकर अपने सुझाव भी दिए। इस मौके पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत केके भार्गव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार शिवहरे, एसडीएम आरएस राजपूत, राधेश्याम बघेल व जीसी डेहरिया भी मौजूद रहे।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned