scriptbeing helpless due to examination in scorching heat | भीषण गर्मी में परीक्षा से हो रहे लाचार, पालक बोले- परीक्षा वाली कक्षाएं छोड़कर छुट्टियां करें घोषित | Patrika News

भीषण गर्मी में परीक्षा से हो रहे लाचार, पालक बोले- परीक्षा वाली कक्षाएं छोड़कर छुट्टियां करें घोषित

एक तो भीषण गर्मी की मार ऊपर से परीक्षा से हो रहे लाचार। परीक्षा वाली कक्षाओं के अलावा अन्य विद्यार्थियों की छुट्टियां हो घोषित।

नरसिंहपुर

Published: April 19, 2022 01:38:09 pm

नरसिंहपुर. स्कूल आने जाने वाले शासकीय और अशासकीय विद्यालयों के विद्यार्थियों को भीषण गर्मी और तपती धूप में स्कूल आते जाते वक्त मौसम की मार से दो चार होना पड़ रहा है। हालांकि, जिला प्रशासन ने विद्यालयों को सुबह की पाली में कर दिया है। मगर दोपहर 12 बजे के बाद छुट्टी से घर पहुंचना तपती धूप की चुभन में भीषण गर्मी की मार से नौनिहालों का शरीर पसीना पसीना तो हो ही जाता है साथ ही उनकी कोमल त्वचा पर तीखी किरणों का बेइंतेहा वार हो रहा है।

News
भीषण गर्मी में परीक्षा से हो रहे लाचार, पालक बोले- परीक्षा वाली कक्षाएं छोड़कर छुट्टियां करें घोषित

यहां कोमल मन और कोमल तन पर पड़ने वाले कुप्रभाव से किसी को कोई सरोकार हो, ऐसा देखाई भी नहीं दे रहा है। ऊपर से ऐसे मौसम में शासकीय विद्यालयों के कक्षा तीसरी चौथी छठवीं एवं सातवीं कक्षा के विद्यार्थियों को परीक्षा देने मजबूरी में आना जाना पड़ रहा है। पालकों का कहना है कि, परीक्षा का समय भी ऐसे मौसम की मार के बीच में ही है अब विद्यार्थी परीक्षा के सिर दर्द से निपटे या खुद को बेतहाशा गर्मी से बचाने का प्रयास करें। छोटे-छोटे विद्यार्थियों और उनके पालकों के लिए आगे कुआं पीछे खाई जैसी कहावत चरितार्थ हो रही है। ना तो निजी विद्यालय प्रबंधन ही विद्यार्थियों को कोई रियायत दे पा रहा है बल्कि वह अपने प्रवेश प्रक्रिया, फ़ीस वसूली, ड्रेस, किताबें, टाई, बेल्ट, खरीदी बिक्री के मोह पास में विद्यार्थियों के स्वास्थ्य और हितों की बलि चढ़ाने से भी बाज नहीं आ रहे हैं और खुलेआम उनके स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- ढाबे पर 330 रुपए बिल चुकाने का कहने पर बदमाशों ने संचालक को मारी गोली, हैरान कर देने वाली तस्वीरें CCTV में कैद


ये समय ज्यादा बेहतर- पालक

वहीं दूसरी ओर ना तो जिला प्रशासन और ना ही प्रदेश का शिक्षा महकमा ही विद्यार्थियों को कोई राहत दे पा रहा है। पालकों और जागरूक अभिभावकों का कहना है कि, विद्यालयों को सुबह की पाली की बजाए ग्रीष्म अवकाश घोषित करना ही विद्यार्थियों के कोमल मन और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बेहतर होगा। अन्यथा उनके शारीरिक और मानसिक विकास पर भारी कुप्रभाव होता दिखाई दे रहा है और इस बात से चिकित्सक भी इंकार नहीं कर रहे हैं। लगातार त्वचा रोग, खुजली, सर्दी खांसी और बुखार के रोगियों की संख्या भी डॉक्टरों के क्लीनिक पर छोटे-छोटे बच्चों के रूप में मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है।


नन्हे-मुन्ने विद्यार्थियों को कुछ तो राहत प्रदान करें

सबसे बड़ी आफत ऐसी भीषण मौसम में परीक्षा देना और परीक्षा के तनाव के साथ मौसम की मार को झेलने से विद्यार्थी आतंकित से दिखाई दे रहे हैं और शिक्षक उनको देखकर भी उन्हें राहत देने में अपने आप को मजबूर पा रहे हैं क्योंकि उन्हें शासकीय आदेश और विभागीय निर्देशों का अक्षरश: पालन करना होता है।जिले के मुखिया कलेक्टर से जागरूक नागरिकों ने अपेक्षा की है वह है परीक्षा देने वाली कक्षाओं के अतिरिक्त अन्य विद्यार्थियों की छुट्टियां घोषित कर दें। और नन्हे-मुन्ने विद्यार्थियों को कुछ तो राहत प्रदान करें।

बागेश्वर धाम के पुजारी पं. धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री के बिगड़े बोल, देखें वीडियो

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.