फोन कर किसान को केंद्र पर जाने को कहा रास्ते में पुलिस ने मारे डंडे

शनिवार को दोपहर के समय एक मामला ऐसा सामने आया कि किसान के पास एसएमएस नहीं आया और उसके पास कंट्रोल रूम नरसिंहपुर से 8817489649 से फोन आया कि उसका नाम सूची में मौजूद है वह अपना गेहूं खरीदी केन्द्र पर ले जाए । तब किसान ने कहा कि उसके पास एसएमएस नहीं आया है तो कंट्रोल रूम वाले ने कहा कि एसएमएस नहीं हो पा रहा है इसलिए फोन लगा कर जानकारी दी जा रही है।

By: ajay khare

Published: 18 Apr 2020, 08:30 PM IST

गोटेगांव. शनिवार को दोपहर के समय एक मामला ऐसा सामने आया कि किसान के पास एसएमएस नहीं आया और उसके पास कंट्रोल रूम नरसिंहपुर से ८८१७४८९६४९ से फोन आया कि उसका नाम सूची में मौजूद है वह अपना गेहूं खरीदी केन्द्र पर ले जाए । तब किसान ने कहा कि उसके पास एसएमएस नहीं आया है तो कंट्रोल रूम वाले ने कहा कि एसएमएस नहीं हो पा रहा है इसलिए फोन लगा कर जानकारी दी जा रही है।
किसान लखन पिता सुंदरलाल गोटेगांव निवासी ट्राली में गेहूं भर कर विक्रय केन्द्र ले जा रहा था तभी रास्ते में एसडीएम की टीम ने ट्राली रोक कर पूछा तो उसने फोन आने की जानकारी दी । उसके पास एसएमएस नहीं था तो उसको डंडे मारते हुए उसकी गेहूं से भरी ट्राली पुलिस थाना ले जाकर खड़ी करते हुए आरआई से कथन दर्ज कराए। किसान को डंडे और ट्राली जप्त कर लेने पर किसान ने पत्रिका को कंट्रोल रूम का नम्बर दिया।
पत्रिका ने उस नम्बर पर फोन लगाया तो उसने बताया कि वह कलेक्टर कंट्रोल रूम ९४ से चेतन प्रजापति बोल रहे हंै । उसने बताया कि खाद्य विभाग ने जो उसको निर्देश दिए थे उसके अनुसार हमने किसान को जानकारी दी थी । किसान को डंडे पड़ रहे हैं और ट्राली जप्त कर ली है जिसके कारण किसान अपना गेहूं खरीदी केन्द्र मेंं नहीं ले जाया पाया। इसकी जानकारी उन्होंने खाद्य विभाग के अधिकारी को दे दी है। खाद्य विभाग की गलती का खामियाजा किसान को भुगतना पड़ा और उसको पुलिस के डंडे खाने पड़े । यहां सवाल खड़ा हो रहा है कि किसान ने क्या गलती की थी जिसके कारण उसको डंडे खाने पड़े।

वर्जन
किसान को किसने फोन पर जानकारी दी और क्यों दी व उसके साथ मारपीट क्यों हुई इनके कारणों के बारे में पता किया जाएगा और उचित कार्रवाई की जाएगी।
दीपक सक्सेना, कलेक्टर

ajay khare Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned