कोरोना संक्रमण तेज, जिले की सीमा पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त

-एक दिन में निकले 8 कोरोना पॉजिटिव
-जिला प्रशासन की सख्ती

By: Ajay Chaturvedi

Published: 20 Jul 2020, 02:13 PM IST

नरसिंगपुर. कोरोना संक्रमण दिन-ब-दिन तेज होता जा रहा है, वहीं दूसरी ओर लोग अब भी लापरवाह बने हैं। न देह की दूरी का खयाल है न मास्क का। ऐसे में प्रशासन व स्वास्थ्य महकमें की सारी कवायद नाकाफी साबित होती दिख रही है। अब एक बार फिर से जिले की सीमा पर चेक पोस्ट बनाए जाने लगे हैं ताकि बाहरी व्यक्ति का लेखा-जोखा वहीं हासिल किया जा सके जिससे अगर कोई संक्रमित जोन से आ रहा है तो उसे घर जाने से पहले ही उसकी मुकम्मल जांच कर यथास्थिति कार्रवाई की जा सके। अब देह की दूरी का निर्धारण मुख्य चिकित्सा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा आरआरटी द्वारा किया जायेगा।

कलेक्टर वेद प्रकाश के निर्देश पर जिले कि चेक पोस्ट को पुनः एक्टिवेट करने के लिए गोटेगांव की चेकपोस्ट झांसीघाट, कुंडा, भडरी में एसडीएम निधि सिंह गोहल द्वारा राजस्व, पुलिस एवं मेडिकल टीम की ड्यूटी लगा दी गई है। तैनात पुलिस व स्वास्थ्यकर्मियों को गैर जिले एवं अन्य राज्य से आने वाले व्यक्तियों की डाटा बेस रिपोर्ट, बिना मास्क के जिले में प्रवेश करने वाले व्यक्तियों पर चलान की कार्रवाई करने और सभी व्यक्तियों की थर्मल स्क्रीनिंग का निर्देश दिया गया है। साथ ही तीनों चेक पोस्ट पर वाटर प्रूफ टेंट लगाए जा रहे हैं। चेकपोस्ट की इस व्यवस्था पर गोटेगांव एसडीएम निधि सिंह गोहल ने बताया कि जो चेकपोस्ट बनाई गईं हैं, उनमें राजस्व, पुलिस व स्वास्थ्य विभाग का अमला रहेगा, जो बाहर से आने वालों की सूची बनाएगा। बॉर्डर पर ही उनके शरीर का तापमान देखा जाएगा। यदि अधिक पाया जाता है तो उसे तत्काल अस्पताल भेजने की व्यवस्था होगी। बाहर से आने वाले लोगों के घर नगरपालिका द्वारा क्वारंटीन का नोटिस चस्पा किया जाएगा।

दरअसल, जिले में बाहर से आने वाले संक्रमित लोगों की वजह से प्रशासनिक व्यवस्था को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा रहा है। मसलन, तीन बैंक शाखाएं संक्रमित की वजह से बंद करनी पड़ी थी। बैंककर्मियों समेत अन्य प्रशासनिक अमले को क्वारंटाइन होना पड़ा था। खासकर जबलपुर, भोपाल के लोगों के बेरोकटोक जिले में प्रवेश से संक्रमण का खतरा बढ़ रहा था।

रविवार को आई 164 जांच रिपोर्ट में में 8 नए मरीज सामने आए हैं। जिनमें एक व्यक्ति आजाद वार्ड, 3 शास्त्री वार्ड नरसिंहपुर से हैं। जबकि एक-एक व्यक्ति चीचली व परसवाड़ा से हैं। दो मरीज ग्राम खापा के हैं, जहां जम्मू से लौटकर आया जवान कोरोना संक्रमित पाया गया। अब उसके माता-पिता भी संक्रमित हुए हैं। रविवार रात आई इस रिपोर्ट ने जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 98 कर दी है। सक्रिय केस भी 53 से बढ़कर 61 हो गए हैं।

गोटेगांव क्षेत्र में जो संक्रमित मिले हैं, उनकी कांटेक्ट ट्रेसिंग में शामिल 5 लोगों के ही सैंपल होना शेष रह गए हैं। इन पांच में एक नौ माह का बच्चा है और दूसरा एक वर्ष का है। उनकी सैंपलिंग कठिनाई आ रही है, इसलिए सोमवार को ये कार्य होगा।

कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी वेद प्रकाश ने नरसिंहपुर के वार्ड क्रमांक 11 तिलक वार्ड, वार्ड क्रमांक 27 महारानी लक्ष्मीबाई वार्ड व गली नम्बर 11 प्रताप नगर कॉलोनी ग्राम पंचायत डेडवारा, करेली के राजेन्द्र वार्ड, तहसील नरसिंहपुर के ग्राम जोतखेड़ा, ग्राम डोगरगांव, ग्राम नकटुआ, ग्राम रोसरा, ग्राम मगरधा, ग्राम सिमरिया व ग्राम बंधी में निवासरत कोरोना संदिग्ध व्यक्तियों के घरों से व्यवहारिक दूरी के क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया है।

कलेक्टर ने कंटेनमेंट एरिया में सभी प्रकार की गतिविधियों को प्रतिबंधित किया है। यह आदेश कोरोना संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से मध्य प्रदेश पब्लिक हेल्थ एक्ट 1949 के प्रावधानों के तहत जारी किया गया है।

Corona virus
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned