कोरोना संक्रमण फैलाने वालों के परिवार पर गिरी गाज, एक की सेवा समाप्त तो दूसरा निलंबित

-बेटे की सजा पिता को तो पत्नी की सजा पति भुगतने को विवश

By: Ajay Chaturvedi

Published: 07 Jul 2020, 02:46 PM IST

जबलपुर. कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। लेकिन अनलॉक में कोई यह मानने को जैसे तैयार ही नहीं कि वैश्विक बीमारी का संक्रमण खत्म नहीं हुआ। अब जिस तरह से बिना लक्षण वाले कोरोना संक्रमित बेखौफ जहां-तहां घूम रहे हैं वो अपने साथ-साथ परिवार और समाज को भी संकट में डाल रहे हैं। ऐसा ही कुथ नर्सिंगपुर में हुआ। इसका पता चलने पर दो कोरोना संक्रमितों के अभिभावकों पर गाज गिर गई। एक की सेवा ही समाप्त कर दी गई तो दूसरे को निलंबित कर दिया गया है। माना जा रहा है कि प्रशासन के इस कदम के बाद लोग सचेत होंगे, डरेंगे और बिना मतलब घूमने से बचेंगे। साथ ही अगर कहीं बाहर से आए हैं तो इसकी जानकरी जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को जरूर देंगे।

बता दें कि सोमवार को गाडरवारा सिविल अस्पताल में स्थापित ट्रूनॉट मशीन के जरिए दो नए कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है। इनमें से एक मरीज सुभाष वार्ड तो दूसरा मरीज जगदीश वार्ड का रहने वाला है। संक्रमण की पुष्टि होने के बाद स्वास्थ्य विभाग की सर्वे टीम इन मरीजों के संपर्क में आने वालों की तलाश में जुट गईं। इन मरीजों की कांटैक्ट और ट्रेवल हिस्ट्री खंगाली गई तो अधिकारी चौंक गए। ये दोनों ही बाहर से आए हैं और आने के बाद से खुद को न होम क्वारंटीन किया न संस्थागत क्वारंटीन हुए। ये दोनों ही मजे से जहां-तहां घूमते रहे। समारोहों में शामिल होते रहे। यहां तक कि घर में भजन-कीर्तन का प्रोग्राम रख कर लोगों को आमंत्रित किया। उसमें भी देह की दूरी का माखौल उड़ाया गया। कोरोना से बचाव के लिए जारी दिशा निर्देशों का जमकर उल्लंघन किया। इन दो कोरोना संक्रमितों में एक महिला और एक पुरुष हैं।

बताया जा रहा है कि संक्रमित महिला व उसका परिवार कुछ दिन पहले ही रेड जोन भोपाल से आया था। वहीं दूसरा संक्रमित नगरपालिका में कार्यरत समयपाल का पुत्र है। यह हाल ही में जबलपुर से लौटा था। यहां यह भी बता दें कि संक्रमित महिला के पति नगरपालिका में दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी रहे। जैसे ही नगरपालिका प्रशासन को पता चला कि संक्रमित महिला के पति उसके यहां दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी हैं, पालिका प्रशासन ने दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी को सेवा से बर्खास्त कर दिया। वहीं युवक का पिता समयपाल को निलंबित कर दिया गया है।

दो नए कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद जिला प्रशासन ने गाडरवारा के सुभाष व जगदीश वार्ड को कंटेन्मेंट एरिया घोषित किया है। इन दोनों कंटेन्मेंट में सभी तरह की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी। सभी निवासियों को अपने-अपने घरों में क्वारंटीन होना होगा। मेडिकल टीम यहां सर्वे करेंगी।

जिले में अब तक 30 कोरोना पॉजिटिव मरीज स्वस्थ हो गए हैं। गाडरवारा निवासी एक कोरोना पॉजिटिव मरीज को स्वस्थ होने पर जिला अस्पताल से रविवार को और गाडरवारा के ही एक और कोरोना पॉजिटिव मरीज को स्वस्थ होने पर कोविड केयर सेंटर गाडरवारा से सोमवार को डिस्चार्ज किया गया। इस मौके पर डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ ने स्वस्थ हुए मरीजों को शुभकामनाएं देकर उनके घर के लिए विदा किया। स्वस्थ हुए मरीजों ने कहा कि कोरोना से मुकाबले के लिए अपना मनोबल बनाए रखें। इससे डरे नहीं। दूसरे लोगों को भी जागरूक करें और गाइडलाइन का पालन करें। हमने स्वस्थ होकर जाना है कि कोरोना से मुकाबला करना मुश्किल नहीं है।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned