तीन माह बाद जीरो हुआ कोरोना मीटर, अब एक भी नया मरीज नहीं मिला

कोरोना महामारी की दूसरी लहर अब यहां पूरी तरह से शांत पड़ती नजर आ रही है। तीन माह बाद जिले में 13 और 14 जून को एक भी नया मरीज नहीं मिला। प्रशासन द्वारा 13 व 14 जून को पिछले २४ घंटे में लिए गए सेम्पल की जांच के बाद सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई।

By: ajay khare

Updated: 15 Jun 2021, 10:05 PM IST

नरसिंहपुर. कोरोना महामारी की दूसरी लहर अब यहां पूरी तरह से शांत पड़ती नजर आ रही है। तीन माह बाद जिले में १३ और १४ जून को एक भी नया मरीज नहीं मिला। प्रशासन द्वारा १३ व १४ जून को पिछले २४ घंटे में लिए गए सेम्पल की जांच के बाद सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई। इस परिणाम के बाद जिला प्रशासन और आम आदमी ने राहत की सांस ली है और लोगों के मन से कारोना का भय खत्म हुआ है। गौरतलब है कि मार्च में जिले में कोरोना मरीजों की संख्या तेेजी बढऩे के साथ ही महामारी की दूसरी लहर अपना प्रकोप दिखाने लगी थी।
१११८५ लोग आए कोरोना की चपेट में
अभी तक जिले में कोरोना के १ लाख 72 हजार 397 सैंपल लिए जा चुके हैं । जिनमें से १ लाख 58 हजार 615 सेंपल की रिपोर्ट निगेटिव आई जबकि 1926 की रिपोर्ट रिजेक्ट हुई और कुल 11 हजार 185 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाए गए। जिनमें से 11 हजार 89 मरीज उपचार के बाद कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए। अब जिले का रिकवरी रेट 99.14 प्रतिशत है।
१५ एक्टिव केस, होम आइसोलेशन में १३ मरीज
जिले में कोरोना का नया मरीज भले ही नहीं मिला है पर कोरोना संक्रमण पूरी तरह से खत्म भी नहीं हुआ है। जिले में अभी भी १५ एक्टिव केस हैं जिनमें से २ अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं जबकि १३ होम आइसोलेशन में रह कर दवाएं ले रहे हैं। गौरतलब है कि 14 जून को विगत 24 घंटों में एक व्यक्ति कोरोना संक्रमण से मुक्त हुआ जबकि अभी तक सरकारी रिकार्ड में कोरोना से 81 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है।
अब जिला अस्पताल की आईसीयू और निजी अस्पताल भी खाली
जिले मेंं कोरोना के नए केस न आने के बाद से जिला अस्पताल की आईसीयू और ऑक्सीजन बेड खाली पड़े हैं वहीं निजी अस्पतालों में भी बेड खाली हो गए हैं। जिला चिकित्सालय नरसिंहपुर में ऑक्सीजन सपोर्ट युक्त 188 बेड में से 184 बेड रिक्त हैं और 12 आईसीयू बेड में 11 रिक्त हैं। प्रायवेट अग्रवाल हॉस्पिटल में उपलब्ध सभी 30 बेड रिक्त हैं। प्रायवेट नीखरा हॉस्पिटल में उपलब्ध 30 बेड में से 29 बेड रिक्त हैं। प्रायवेट पराडकर हॉस्पिटल में उपलब्ध ऑक्सीजन सहित सभी 20 बेड रिक्त हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र करेली में उपलब्ध 30 बेड में से 29 बेड रिक्त हैं। कोविड केयर सेंटर जीवन ज्योति हॉस्पिटल एनटीपीसी गाडरवारा में उपलब्ध सभी 60 बेड रिक्त हैं। सिविल अस्पताल गाडरवारा में उपलब्ध 75 बेड में से 73 बेड रिक्त हंै। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोटेगांव में ऑक्सीजन युक्त उपलब्ध सभी 10 बेड रिक्त हैं। श्रीधाम हॉस्पिटल में ऑक्सीजन युक्त सभी 30 बेड रिक्त हैं।
इस तरह जिले की 10 स्वास्थ्य संस्थाओं में उपलब्ध 109 सामान्य बेड में से 2 बेड भरे व 107 रिक्त हैं। ऑक्सीजन सहित 386 बेड में से 380 बेड रिक्त हैं और 6 भरे हैं। आईसीयू वाले 20 बेड में से एक बेड भरा व 19 बेड रिक्त हैं।
----------------------------
जून माह में तरह कम हुआ कोरोना संक्रमण
दिनांक- लिए गए सेम्पल- पॉजिटिव-डिस्चार्ज हुए-एक्टिव केस
५-११५८-५-९-६३
६-११५१-२-८-५७
७-१०२६-२-९-५०
८-१११२-४-७-४७
९-११२९-२-६-४३
१०- १०४०-३- ८-३८
११-१०५१-१-१८-२१
१२-१०६३-१-३-१९
१३-१०५५-०-१३-१६
१४-१००९-०-१-१५
----------------------------
मई माह में इस तरह से बढ़ा था संक्रमण
दिनांक- लिए गए सेम्पल- पॉजिटिव-डिस्चार्ज हुए-एक्टिव केस
३-९५०-२१६-१४८-१०४८
५-१२९४-१६९-२०९-९८३
६-११०२-२४९-२७-११९४
७-१२१७-२३७-३३-१३९७
९-१००६-१९३-७९-१६२७
१०-१२६२-१८७-९२-१७२२
११-१२०६-१५४-१८६-१६८९
१२-११३१-१४८-१३५-१७०१
१४-१४१२-१३८-१५३-१६०५
१५-११२७-१५६-१९६-१५६४

वर्जन
दो दिनों से जांच के बाद एक भी कोरोना संक्रमित मरीज नहीं मिला है पर इसका मतलब यह नहीं है कि कोरोना संक्रमण पूरी तरह से खत्म हो गया है। अब आगे बहुत सावधानी से रहने का समय है। कोरोना से बचाव की गाइड लाइन का पूरी तरह से पालन करें और सावधानी बरतें। जिन्होंने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई है वे जल्द ही वैक्सीन लगवाएं।
डॉ.मुकेश जैन,सीएमएचओ

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned