बिजली कंपनी ने भेजे पांच हजार बकायादारों को कुर्की के नोटिस, बैंक खाते होंगे सीज

बिजली कंपनी को जिले के 5 हजार बकायादारों से बिजली बिल का करीब 90 करोड़ रुपए वसूलना है। वित्तीय वर्ष की समाप्ति के पहले बिजली कंपनी को इस राशि को वसूलना एक बड़ी चुनौती है। अब इन बकायादारों से अपनी लेनदारी के लिए बिजली कंपनी ने कुर्की के नोटिस भेजे हैं

By: ajay khare

Published: 21 Feb 2021, 11:19 PM IST

नरसिंहपुर. बिजली कंपनी को जिले के 5 हजार बकायादारों से बिजली बिल का करीब 90 करोड़ रुपए वसूलना है। वित्तीय वर्ष की समाप्ति के पहले बिजली कंपनी को इस राशि को वसूलना एक बड़ी चुनौती है। अब इन बकायादारों से अपनी लेनदारी के लिए बिजली कंपनी ने कुर्की के नोटिस भेजे हैं। बिजली कंपनी के नरसिंहपुर सर्किल में अधिकांश बकायादार उपभोक्ता ग्रामीण क्षेत्रों के हैं जो बार बार नोटिस के बाद भी बिल जमा नहीं कर रहे हैं। इनसे बिजली बिल की राशि वसूलने के लिए अधिकारियों ने सख्त कदम उठाया है। जिले के दोनों डिवीजन नरसिंहपुर व गाडरवारा के पांच हजार बकायादारों को कुर्की के नोटिस भेजे गए हैं।
बकाया वसूली में काफी पीछे है विभाग
जानकारी के अनुसार पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अंतर्गत इस जिले में बिलों की वसूली को लेकर विभाग काफी पीछे चल रहा है। हाल ही में उच्च अधिकारियों के निर्देश के बाद जिले में बकायादारों के खिलाफ गांव गांव दबिश देकर कुर्की की कार्रवाई की जा रही पर इसके बावजूद विभाग अपनी बकाया राशि जमा कराने में फिसड्डी साबित हो रहा है। नरसिंहपुर डिवीजन के कार्यपालन यंत्री यूएस पाराशर ने बताया है कि दो दिन पहले ही 3 हजार बकायादारों को नोटिस भेज कर 7 दिन का समय देकर चेतावनी दी गई है कि यदि बिल जमा नहीं किया तो उनके घरेलू कृषि उपकरणों आदि की कुर्की की कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही उनके बिजली कनेक्शन भी काटे जाएंगे।
४ हजार से रुपए ज्यादा बकाया वाले उपभोक्ता ३ हजार
बताया गया है कि जिन तीन हजार उपभोक्ताओं को नोटिस दिए गए हैं उन पर 4 हजार रुपये से ज्यादा का बिजली बिल बकाया है। जबकि 10 हजार रुपए से अधिक के बकायादारों को कुर्की के अलावा बैंक खाते सीज करने की चेतावनी भी दी गई है।
कुर्की के बाद भी नहीं हुई भरपाई
इसी तरह गाडरवारा डिवीजन के कार्यपालन यंत्री सुभाष राय ने बताया है कि 2322 बड़े बकायादारों को नोटिस देकर बिल जमा करने व कुर्की की चेतावनी दी गई है। जिसके बाद 757 उपभोक्ताओं ने बिल राशि जमा कर दी है। गया है। शेष के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई की जाएगी। राय ने बताया है कि 27 ऐसे बड़े बकायादार हैं जिनके सामान की कुर्की से बकाया राशि की भरपाई नहीं हो सकी है अब इनके बैंक खाते सीज करने के नोटिस अलग से भेजे गए हैं। गौरतलब है कि प्रदेश शासन ने बकाया राशि की वसूली और कुर्की आदि की कार्रवाई के लिए विभाग के सहायक इंजीनियर, कनिष्ठ इंजीनियर को तहसीलदार के अधिकार प्रदान किए हैं।
इस तरह हो रहा लाइन लॉस
लाइन लॉस के कारण बढ़ते राजस्व के घाटे का असर मेंटेनेंस पर पड़ता है। दोनों डिवीजनों में 30.65 प्रतिशत लाइन लॉस है। सबसे अधिक लाइन लॉस नरसिंहपुर डिवीजन में 34.54 प्रतिशत जबकि गाडरवारा में 21.58 प्रतिशत है।
55 हजार का बिल नहीं चुकाने पर जब्त किया टै्रक्टर
गाडरवारा के सालीचौका विद्युत वितरण केंद्र के अंतर्गत एक उपभोक्ता ने 55 हजार 666 रुपये का बिजली बिल जमा नहीं किया। जिस पर उसका ट्रैक्टर जब्त कर लिया गया।
वर्जन
जिले में बकायादारों से 90.15 करोड़ रुपये का पुराना बकाया वसूलना है, बकायादारों में करीब 80 फीसदी ग्रामीण क्षेत्र के हैं। शेष बकायादारों में सरकारी विभाग व अन्य घरेलू,व्यावसायिक उपभोक्ता हैं।
संजय सोलंकी, एसई बिजली कंपनी
--------------

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned