जेबकतरों और मजनुओं पर रहेगी पैनी नजर

प्रशासनिक अधिकारियों ने डमरूघाटी का लिया जायजा, मेले को लेकर कलेक्टर ने ली समीक्षा बैठक, दिए दिशा निर्देश

By: narendra shrivastava

Published: 10 Feb 2018, 06:02 AM IST

गाडरवारा. स्थानीय शिवधाम डमरूघाटी प्रांगण में डमरूघाटी समिति द्वारा महाशिवरात्रि आयोजन एवं मेले को लेकर शुक्रवार को बैठक रखी गई। जिसमें जिले के प्रशासनिक अधिकारी, नपाध्यक्ष, डमरूघाटी समिति सदस्य गणमान्य नागरिक नगरपालिका एवं विभिन्न विभागीय अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे। ज्ञात रहे कि डमरूघाटी के पांच दिवसीय मेले का 13 फरवरी को उद्घाटन होगा। जिसके बाद अगले दिन 14 जनवरी को महाशिवरात्रि पर मंदिर एवं मेले में श्रद्धालुओं की भीड़ के मद्देनजर व्यवस्थाओं की समीक्षा कर जरूरी निर्देश दिए गए। साथ ही मेला परिसर एवं मंदिर की व्यवस्थाओं की जानकारी प्राप्त की।
जिला कलेक्टर अभय वर्मा ने मेले में स्वच्छता पर जोर देते हुए अस्थाई शौचालयों, पेयजल, सफाई एवं मेले में झूलों की सुरक्षा के बारे में कहा। साथ ही दुकानों के एलाटमेंट की जानकारी ली। एसपी डॉ. मोनिका शुक्ला ने यातायात एवं सुरक्षा व्यवस्था पर प्रकाश डालते हुए मंंदिर में भीड़ को नियंत्रित करने अतिरिक्त वालंटियर तैनात करने, दर्शनार्थियों की व्यवस्था जिगजैग आकार में करने की बात कही।
उन्होंने सीसीटीवी कैमरों की जानकारी लेते हुए जेबकतरों एवं मजनुओं पर पुलिस की पैनी नजर होने की बात कही। एसडीओपी सुमित केरकेट्टा ने यातायात को महाशिवरात्रि पर पूर्वानुसार डाइवर्ट किया गया है। पुलिस बल जगह जगह तैनात रहेगा। एसडीएम रानी बंसल ने प्रशासनिक तैयारियों के बारे में बताया। तहसीलदार संजय नागवंशी ने विस्तार से प्रकाश डालते हुए मेले की पूरी योजना के बारे में अवगत कराया। उन्होंने कहा कि मेले की ड्रोन कैमरों से निगरानी कर वीडियोग्राफी नपा द्वारा कराई जाएगी। पेयजल हेतु समीपी पंचायतों से दस टैंकर बुलाए हैं वहीं नपा के टेंकर एवं फायर ब्रिगेड मौजूद रहेगी। अनहोनी से निबटने मंदिर के द्वार पर एक एंबुलेंस तथा दूसरी मेला स्थल के पास होगी। विभिन्न विभागों के स्टाल इस दौरान लगाकर कंट्रोलरूम बनाया जाएगा। यहां डॉक्टरों की तैनाती कर चिकित्सा सुविधा भी रहेगी।

डमरूघाटी समिति अध्यक्ष अनिल लूनावत ने सभी अधिकारियों का स्वागत भाषण से किया।
संचालन करते हुए सचिव संदीप पलोड़ ने डमरूघाटी का इतिहास बताने से लेकर अब तक के आयोजनों की जानकारी दी। साथ ही ट्रस्ट पंजीयन के बारे में कहा। नपाध्यक्ष अनीता जायसवाल ने कहा कि मेले में श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। प्रकाश व्यवस्था, पेयजल, सफाई एवं अस्थाई शौचालय तथा वैकल्पिक मार्ग के बारे में बताया। मंदिर मार्ग पर परिसर में भी नपा द्वारा सभी व्यवस्थाएं ऐसी कराई जा रही हैं ताकि श्रद्धालुओं को परेयशानी न हो। इस अवसर पर एसडीओपी तेंदूखेड़ा, यातायात पुलिस, टीआई अरविंद दुबे, मंदिर समिति के डीके उपाध्याय, सुरेश राठी, अशोक काबरा, केदार अग्रवाल, मुकेश जैन, गोपाल मालपानी, बसंत डागा, डॉ उमाशंकर दुबे, रमेश अग्रवाल, रविशेखर जायसवाल, सतीश गुप्ता, अरुण अग्रवाल, नवनीत पलोड़, कन्हैया यादव, राव उदयप्रताप, आशीष दीक्षित, राजेंद्र जैन, अशोक जैन सहित मंदिर के पुजारी पं बालाराम शास्त्री नपा एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

narendra shrivastava Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned