बारिश से मूंग फसल के बर्बाद होने का अंदेशा, किसान चिंतित

-बारिश से भींगी फसलों से आने लगी है दुर्गंध
-बारिश न थमी तो खेतों की फसलों के भी चौपट होने के आसार

By: Ajay Chaturvedi

Published: 15 Jun 2021, 02:36 PM IST

नरसिंहपुर. दो दिनों की राहत के बाद फिर से शुरू हुई बारिश से किसानों की परेशानी बढ़ गई है। खास तौर पर मूंग व उड़द की खेती करने वाले किसान ज्यादा ही परेशान हैं। उनका कहना है कि अगर ऐसे ही मौसम बना रहा तो सारी फसल के सड़ने का खतरा पैदा हो सकता है।

जिले में सोमवार सुबह से दोपहर 2 बजे तक मौसम साफ रहा लेकिन दोपहर बाद अचानक तेज हवाओं के साथ फिर बारिश शुरू हो गई। बारिश का सिलसिला देर शाम तक जारी रहा जिससे जहां किसानों के माथे पर शिकन दिखाई दी तो वहीं छोटे व फुटपाथ वाले व्यापारी भी परेशान नजर आए।

ऐसे ही रहा तो सब हो जाएगा बर्बाद
उधर किसानों का कहना है कि मौसम यदि इसी तरह बना रहा तो पहले हुई बारिश के कारण जो फसलें पानी से तर हुई थीं और खेतों में पड़ी है उनमें सुरक्षित उपज होने की संभावना पूरी तरह समाप्त हो जाएगी। साथ ही जैसे-तैसे जो उपज सूखने के बाद सुरक्षित की गई है वह भी अधिक नमी से खराब होगी, क्योंकि जो उपज थ्रेसिंग के बाद निकली है वह भी नमीयुक्त है। ऐसे में न तो इस उपज को समर्थन मूल्य पर दाम मिलेगा और न ही मंडियों में इसकी खरीदी हो पाएगी।

भींगी फसल को फिर ढकना पड़ा
बता दें कि पिछले दिनों हुई बारिश में फसलें पूरी तरह से भींग गई थीं। किसान उन गीली फसलों को सुखाने की जुगत में लगे रहे। अब सोमवार दोपहर बाद से शुरू बारिश में उन फसलों को फिर से तिरपाल से ढकना पड़ा। ये गीली फसलों से अब दुर्गंध आने लगी है।

नरसिंहपुर में खरीद प्रभावित
दोपहर के बाद आई बारिश से नरसिंहपुर मंडी में मूंग की खरीद का कार्य भी प्रभावित हुआ। यहां 5 से 6 हजार क्विंटल के करीब मूंग की आवक रही और सौदा की कार्रवाई शुरू हुई ही थी कि तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू होने से खरीद बंद कनी पड़ी।

गोटेगांव में मूंग फसल को क्षति
उधर गोटेगांव में भी बारिश के चलते मूंग की फसल को काफी नुकसान पहुंचा है। बताया जा रहा है कि शनिवा और रविवार को बारिश से मिली राहत के दौरान किसानों ने भींगी फसल को सुखाकर थ्रेसिंग कर ली थी और जो उपज निकली है उसे घरों के सामने सड़कों पर, खलिहानों में सुखाया जा रहा है। ग्राम सिमरिया में कई किसानों की उपज घरों के सामने सूख रही है। तकरीबन हर जगह किसान मूंग की फसल को सुखाने में जुटे है।

इमझिरा सहित आसपास के क्षेत्रों में बीते दिनों हुई बारिश से क्षेत्र में सैकड़ों किसानों की फसल बर्बाद हो गई है। खेतों में भरे पानी के कारण कटी हुई फसल सड़ने और अंकुरित होने लगी है वहीं खड़ी फसल भी खराब हो गई है। इमझिरा क्षेत्र के ग्राम खैरुआ, उमाहा, ईश्वरपुर, काचरकोना आदि क्षेत्रों में फसल के लिए काफी नुकसान बताया जा रहा है।

गाडरवारा में गिरा पेड़, बिजली आपूर्ति बाधित

गाडरवारा में तेज हवाओं के साथ आई बारिश के चलते स्वास्थ्य केंद्र रोड पर सड़क किनारे लगा एक पेड़ गिर गया। साथ ही यहां घंटो बिजली की आपूर्ति बाधित रही। तेंदूखेड़ा, करेली, नरसिंहपुर क्षेत्र में भी बारिश की झड़ी ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दीं। मौसम साफ देख जो लोग बिना छाता के घरों से निकले थे उन्हें बारिश आने पर भागते हुए इधर-उधर छुपना पड़ा जबकि कई भीगते हुए घरों तक पहुंचे। बारिश ने लंबे समय बाद लौटी बाजारों की रौनक को भी प्रभावित कर दिया। फुटपाथ पर दुकान लगा कर रोजी-रोटी चलाने वाले दुकानदारों को आनन-फानन में अपनी दुकान समेटनी पड़ी।

भारतीय किसान संघ ने मूंग की फसल के सर्वे की उठाई मांग

सोमवार को भारतीय किसान संघ की सांईखेड़ा तहसील इकाई ने बैठक कर किसानों से संबंधित समस्याओं को लेकर नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बरसात में खराब हुई मूंग की फसल का सर्वे कराकर मुआवजा दिलाने, मूंग के पंजीयन केंद्र बढ़ाने के साथ सोसाइटी में तीन काउंटर चालू कराने, मूंग खरीदी केंद्र कृषि उपज मंडी सांईंखेड़ा में बनाने की मांग की। साथ ही गेहूं खरीदी के बाद जिन किसानों का भुगतान रह गया है उन्हें शीघ्र भुगतान दिलाए जाने जैसी अन्य मांगों का निराकरण करने जोर दिया।

नायब तहसीलदार ने किसान संघ को बताया की सर्वे कार्य प्रारंभ किया जा रहा है। प्रत्येक गांव में प्रत्येक किसान की मूंग का सर्वे किया जाएगा। साथ ही ज्ञापन में उल्लेखित सभी मांगों का हल कराने का आश्वासन दिया। इसके अलावा जिला सेवा सहकारी केंद्रीय बैंक सांईखेड़ा के प्रबंधक को ज्ञापन सौंपकर मूंग पंजीयन काउंटर बढ़ाने की मांग की गई। ज्ञापन देते समय भारतीय किसान संघ के जिला मंत्री राकेश खेमरिया, साहब सिंह लोधी, राजेंद्र शर्मा, नितिन तिवारी, स्वप्निल सोनी सहित अनेक किसान उपस्थित रहे।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned