किसानों ने जताया प्रस्तावित व्यापार समझौते को लेकर विरोध

किसानों ने जताया प्रस्तावित व्यापार समझौते को लेकर विरोध

By: Amit Sharma

Published: 18 Feb 2020, 01:29 PM IST

किसानों ने जताया प्रस्तावित व्यापार समझौते को लेकर विरोध
ज्ञापन सौंपकर बताये समझौते के दुष्परिणाम

नरसिहपुर-सोमवार को राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के तत्वाधान में किसानों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर को सौंपकर प्रस्तावित भारत-अमेरिका व्यापार समझौते के दुष्परिणामों की जानकारी दी ओर इस किसानों के लिए घातक बताया। इस अवसर पर महासंघ की युवा इकाई के महाकौशल प्रांत के अध्यक्ष ऋ षिराज पटैल, जिला युवा इकाई अध्यक्ष कमल सिंह लोधी,जिला उपाध्यक्ष राजेश लोधी, जिला महामंत्री मातवर सिह, जिला संगठन मंत्री रवीन्द्र सिंह आदि ने ज्ञापन के माध्यम से बताया कि 24-25 फरवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति भारत यात्रा पर आ रहे हैं। इस दौर के दौरान भारत अमेरिका के बीच व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर हो सकते हैं।जिसमें हर साल 42 हजार करोड़ रूपये के कृषि,दूध,मुर्गा पालन आदि उत्पादों का अमेरिका से आयात करना होगा। यदि यह समझौता होता है तो इसकी सीधी मार देश के किसानों पर पड़ेगी और उसको उत्पाद पर कम दाम मिलने लगें। ज्ञापन में बताया गया है कि अमेरिका की तुलना में भारत में नामात्र का अनुदान किसानो को मिलता है और किसान को लागत मूल्य भी निकालने में परेशानी होती है। इसके अलावा अमेरिका ओर भारत में जनसंख्या अनुपात भी अलग है। किसानो ने कहा कि एक तरफ केन्द्र सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का दावा करती है पर दूसरी और इस तरह के किसान विरोधी हस्ताक्षर करने का प्रयास कर रही है। यदि यह समझौता हुआ तो किसानों की स्थिति और भी बदहाल हो जायेगी व आय तो दोगुनी नही होगी बल्कि आत्महत्या बढऩे लगेंगी। ज्ञापन देते समय तहसील उपाध्यक्ष नरसिहपुर लखन पटैल,तहसील अध्यक्ष गाडरवारा कुणाल कौरव, तहसील उपाध्यक्ष गाडरवारा हिरेन्द्र कौरव, संजय रजक, तेजबल सिह ासहित अन्य लोग मौजूद रहे। इसके पहले महासंघ के कृषि मंडी के समीप स्थित जिला कार्यालय में जिले के किसानों की बैठक हुृई एवं जिला कार्यालय कृृषि मंडी से वाहन रैली निकालकर जनपद मैदान किसान पहुंचे और काली पटटी बांधकर नारेबाजी करते हुए नरसिह भवन जाकर ज्ञापन सौंपा गया।

Amit Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned