अगस्त में भेजा फूड सैंपल, नवंबर तक नही आई जांच रिपोर्ट

शुद्ध के लिए युद्ध में जांच रिपोर्ट का अड़ंगा, 14 दिन की समयसीमा हुई हवा, 5 माह में भेजे 170 सैंपल और रिपोर्ट मिली मात्र 30 की

 

By: abishankar nagaich

Published: 27 Nov 2019, 10:44 PM IST

नरसिंहपुर. प्रदेश सरकार के शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में अब जांच रिपोर्ट का अड़ंगा लग गया है। सरकार के अभियान के तहत खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने व जिला प्रशासन की टीम ने तबाड़तोड़ कार्रवाई करते हुए फूड सैंपल एकत्रित किये और जांच के लिए भेजे, ताकि दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जा सके, लेकिन इन सैंपल की रिपोर्ट बीते तीन माह से नहीं आई है, जबकि 14 दिन में जांच रिपोर्ट भेजने का प्रावधान है। जिले में 1 जुलाई 2019 से 23 नवंबर के बीच जिला प्रशासन व खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम ने कुल 170 सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा है, जिसमें मात्र 30 की जांच रिपोर्ट की भोपाल स्थित राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला से भेजी गई है, जबकि 140 रिपोर्ट अबतक अप्राप्त है। जिन 30 सैंपल की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है, उसमें 15 सैंपल फेल हुए हैं।

9 प्रकरण दर्ज, 12 लाख से अधिक का जुर्माना
फेल हुए 15 प्रकरणों में से 9 में प्रकरण दर्ज किया है। इन मामलों में 12 लाख 35 हजार जुर्माना लगाया गया है। इसके अलावा दो प्रकरणों में रासुका की कार्रवाई व 1 प्रकरण में एफआइआर दर्ज कराई गई है। इधर, नगरपालिका द्वारा भी 7 खाद्य प्रतिष्ठानों पर 24 हजार का अर्थदंड आरोपित किया गया है।

प्रदेशभर में यही स्थिति
खाद्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिला सहित प्रदेशभर में जांच रिपोर्ट आने में देरी हो रही है। इसका कारण प्रदेशभर में चला अभियान है। भोपाल स्थित राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला में फूड सैंपल का अंबार लग गया है, जिसके चलते जांच रिपोर्ट आने में लेटलतीफी हो रही है।

फैक्ट फाइल
1 जुलाई से 23 नवंबर तक लिये सैंपल 170
अबतक मिली सैंपल की जांच रिपोर्ट 30
रिपोर्ट में फेल होने वाले सैंपल 15
अबतक नहीं मिली सैंपल की जांच रिपोर्ट 140
प्रकरणों में की रासुका की कार्रवाई 02
एफआइआर दर्ज करवाई 01
प्रकरणों में लगाया गया जुर्माना 12 लाख 35 हजार

इनका कहना है
अबतक कुल 30 सैंपल की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है, जिसमें 15 फेल हुए हैं। 9 प्रकरणों में न्यायालय द्वारा 12 लाख 35 हजार से अधिक जुर्माना लगाया गया है। भोपाल स्थित राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला में जांच रिपोर्ट के लिए चर्चा की गई है। जल्द ही अन्य सैंपल की रिपोर्ट प्राप्त होने पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
मनीष जैन, खाद्य सुरक्षा अधिकारी

abishankar nagaich
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned