कचरा डम्प करने नहीं मिली सरकारी भूमि

कचरा डम्प करने नहीं मिली सरकारी भूमि

Narendra Shrivastava | Publish: May, 17 2018 09:36:32 PM (IST) Narsinghpur, Madhya Pradesh, India

बदबू से रहवासी हलाकान, अहमना नाले में डाला जा रहा कचरा, नाले की गहराई भी हो रही कम, समस्या समाधान की मांग

गोटेगंाव. नगरपालिका के सफाई कर्मचारियों द्वारा जहां पर वार्डों से निकलने वाला कचरा डम्प किया जाता था वहां पर नया बस स्टैंड का निर्माण हो गया है। मगर नगरपालिका ने अभी तक वार्डों से निकलने वाले कचरे को डम्प करने के लिए कहीं पर भी सरकारी भूमि की स्वीकृति प्राप्त नहीं की है।
नगरपालिका द्वारा अहमना नाले के किनारे कई सालों से कचरे को डम्प किया जा रहा है। जिसके कारण जहां एक ओर नाले की गहराई खत्म हो रही है वहीं दूसरी ओर कचरे से उत्पन्न होने वाली बदबू से आस पास रहने वाले लोगों को हलाकान होना पड़ रहा है। जहां एक ओर स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है वहीं दूसरी ओर निकलने वाले कचरे को डम्प करने के लिए प्रशासन के द्वारा नगरीय इलाके से दूर सरकारी भूमि मांगने पर भी प्रदान नहीं की है जिसके कारण इधर उधर कई दिनों तक वार्डों से निकलने वाला कचरा पड़ा रहता है।
सफाई कर्मचारियों ने बताया कि वह क्या कर सकते हैं जहां पर थोड़ी बहुत जगह मिल जाती है। वहां पर हाथ ठेला वाले कचरे को डाल देते हैं जब यहां पर अधिक कचरा एकत्रित हो जाता है तब ट्रॉली वाले उठा कर नाले के किनारे डम्प कर देते हैं। लाठगांव रोड से लेकर सरकारी स्कूलों के इर्द गिर्द मौजूद जगहों पर कचरे का लम्बे समय तक ढेर लगा रहता है।
नगरपालिका का कहना है कि वार्डों से निकलने वाले कचरे को डम्प करने के लिए फाइल कलेक्टर के पास पहुंचाई गई है उनके माध्यम से फाइल कमिश्नर के पास पहुंची है मगर अभी तक किसी प्रकार की कोई मंजूरी जमीन के संबंध में प्राप्त नहीं हुई है। रहवासियों ने मांग की है कि जिला प्रशासन उक्त समस्या का समाधान करने जल्द समुचित कदम उठाए। कचरे के कारण बदबू से परेशानी तो है ही साथ में मच्छर व जीव जंतुओं का भी खतरा बना रहता है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned