गुड़ की मीठी सुगंध से महके भोपाल और इंदौर के हाट बाजार

एक जिला एक उत्पाद को लेकर भोपाल और इंदौर के हाट बाजार में लगाए गए तीन दिवसीय करेली गुड़ मेला में दूसरे दिन भी करेली के गुड़ की मीठी मीठी सुगंध ने ग्राहकों को अपनी ओर खींचा।

By: ajay khare

Published: 09 Jan 2021, 09:31 PM IST

नरसिंहपुर. एक जिला एक उत्पाद को लेकर भोपाल और इंदौर के हाट बाजार में लगाए गए तीन दिवसीय करेली गुड़ मेला में दूसरे दिन भी करेली के गुड़ की मीठी मीठी सुगंध ने ग्राहकों को अपनी ओर खींचा। लोगों ने करेली के गुड़ और गाडरवारा की दाल की जमकर खरीदी की। इसके अलावा गुड़ से बनाए गए अन्य उत्पादों को भी खरीदा। मेला में डॉक्टर एके तिवारी निदेशक दलहन विकास निदेशालय भोपाल, केएस टेकाम अपर संचालक कृषि, बीएल बिलैया संयुक्त संचालक कृषि भोपाल, जितेंद्र सिंह संयुक्त संचालक कृषि होशंगाबाद, एसके सोनानिया उप संचालक कृषि भोपाल, अवनीश चतुर्वेदी उप संचालक संचालनालय भोपाल, एवं लगभग 450 किसानों ने अपनी उपस्थिति दर्र्ज कराई। मेला में न राजेश त्रिपाठी उप संचालक कृषि नरसिंहपुर द्वारा करेली गुड़ एवं गाडरवारा की तुअर दाल के विशेषता के बारे में प्रकाश डाला गया। जितेंद्र सिंह संयुक्त संचालक कृषि होशंगाबाद द्वारा नरसिंहपुर के जैविक उत्पादों के बारे में बताया गया। कृषक राकेश दुबे, करताज एवं कृष्ण पाल सिंह चिरचिटा द्वारा जैविक गुड़ उत्पादन पद्धति के बारे में अवगत कराया गया। नरसिंहपुर जिले से 40 कृषकों द्वारा 20 स्टाल गुड, तुअर दाल के लगाए हैं। जिसमें गुड़ विभिन्न फ्लेवर्स काली मिर्च, इलायची, अदरक, आंवला में उपलब्ध है। विभिन्न आकार के गुड़, गुड़ पाउडर, एवं राब, शीरा, विक्रय हेतु विभिन्न पैकिंग में उपलब्ध कराया गया है। गौरतलब है कि नरसिंहपुर जिले के 40 से 50 किसान, स्व सहायता समूह पारंपरिक तरीके से तुअर की देशी प्रजातियों ेंंऔर शोध के बाद तैयार की गई नवीनतम प्रजातियों से तुअर का उत्पादन करते हैं। गाडरवारा की दाल शीघ्र पकने के लिए मशहूर है । मेला का समय सुबह 11 से रात्रि 9 बजे तक रखा गया है।

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned