पुलिस की कार्रवाई के बावजूद नहीं थम रहा स्मैक का अवैध कारोबार

नशा मुक्त भारत अभियान के तहत नरसिंहपुर जिले को नशा प्रभावित जिलों में शामिल किया गया है। इसे नशामुक्त बनाने के लिए यहां विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसके बावजूद यहां स्मैक का अवैध कारोबार थम नहीं रहा।

By: ajay khare

Published: 18 Jul 2021, 09:30 PM IST

नरसिंहपुर. नशा मुक्त भारत अभियान के तहत नरसिंहपुर जिले को नशा प्रभावित जिलों में शामिल किया गया है। इसे नशामुक्त बनाने के लिए यहां विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसके बावजूद यहां स्मैक का अवैध कारोबार थम नहीं रहा। जिले भर के थानों में स्मैक के मामले पकड़े जा रहे हैं पर न तो स्मैक की सप्लाई रुक रही और न ही इसके मुख्य सप्लायर पुलिस के हाथ चढ़ रहे हैं। पुलिस आज तक इस जिले को नशे की सप्लाई करने वालों को नहीं पकड़ सकी है जो दूसरे प्रांतों से यहां नशे की खेप लगातार भेज रहे हैं।
केस-१

1 लाख 40 हजार की 14 ग्राम स्मैक जब्त

सुआतला पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर उसके पास से करीब एक लाख चालीस हजार मूल्य की १४ ग्राम स्मैक बरामद की है। पुलिस के अनुसार थाना सुआतला अंतर्गत मुखबिर के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम अवरिया बायपास पर स्थित हनुमान मंदिर के पास के पास एक व्यक्ति आने वाला है जो अपने पास अवैध स्मैक रखे हुए है । जिस किसी ग्राहक को बेचने की फिराक में है। घेराबंदी क र आरोपी का पीछा कर गिरफ्त में लिया गया उससे अपना नाम कमलेश पिता कंछेदीलाल पटैल उम्र 43 साल निवासी चरगुवां थाना सुआतला बताया गया। तलाशी लेने पर उसके पेंट के जेब में रखी हुयी एक पुडिय़ा मिली जिसमें अवैध स्मैक रखी हुई थी। आरोपी के विरूद्ध थाना सुआतला में अपराध क्रमांक 324/2021 धारा 8/21 ख एनडीपीएस एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर आरोपी को न्यायालय पेश किया गया है।
------------------------------------------------------
केस-२-
1 लाख 50 हजार मूल्य की 15 ग्राम स्मैक जब्त
थाना तेन्दूखेडा अंतर्गत मुखबिर के माध्यम से सूचना प्राप्त हुयी कि ग्राम बांसखेड़ा रोड पर पुल के पास एक व्यक्ति आने वाला है जो अपने पास अवैध स्मैक रखे हुए है और किसी ग्राहक को बेचने की फिराक में है। मुखबिर से प्राप्त सूचना के आधार पर निर्धारित स्थान घेरावंदी की गयी। घेराबंदी के दौरान आरोपी संतोष पिता हेमराज लोधी उम्र 45 वर्ष निवासी चरगवां थाना सुआतला को पकड़ा गया। आरोपी संतोष लोधी की तलाशी लेने पर उसके पेंट के जेब में रखी हुयी अवैध स्मैक मिली। जिसकी कीमत करीब १ लाख ५० हजार रुपए थी।
----------------------------
केस-३
4 लाख 50 हजार कीमत की 45 ग्राम स्मैक जब्त
थाना कोतवाली अंतर्गत सूचना प्राप्त हुयी कि दो व्यक्ति जो अवैध मादक पदार्थ स्मैक की तस्करी में लिप्त हंै एवं अपने पास अधिक मात्रा में स्मैक रखे हुए हंै । किसी ग्राहक को बेचने के उद्देश्य से टट्टा पुल के पास खड़े होकर ग्राहक का इंतजार कर रहे हैं। टट्टा पुल के पास घेराबंदी कर दोनों आरोपियों मुकेश कहार पिता लखनलाल कहार निवासी शास्त्री वार्ड नरसिंहपुर एवं सुरेन्द्र उर्फ छुट्टन रजक पिता मंगल रजक निवासी काछी मोहल्ला नरसिंहपुर को गिरफ्तार किया गया उनके कब्जे से ४५ ग्राम अवैध स्मैक बरामद की गयी । बरामद की गयी स्मैक की कीमत लगभग 4 लाख 50 हजार रुपये थी।
-------------------
केस-४
2 लाख 50 हजार रुपए मूल्य की स्मैक जब्त
थाना गाडरवारा पुलिस की टीम ने चीचली बायपास पर गोल्डन सिटी, रॅायल पैलेस के पास घेराबंदी कर आरोपी वहीद पिता कन्छेदी खान उम्र 40 वर्ष निवासी ग्राम कामती को पकड़ा। आरोपी की तलाशी लेने पर उसके कब्जे से एक पुडिय़ा में 25 ग्राम अवैध स्मैक बरामद की गयी । जिसकी कीमत लगभग 2 लाख 50 हजार रुपये थी।
-----------------------
केस-५
५ लाख रुपए की 50 ग्राम अवैध स्मैक जब्त
थाना ठेमी पुलिस ने मुखबिर से प्राप्त सूचना के आधार पर घेराबंदी की । आरोपी नीलेश पिता प्रीतम लोधी उम्र 27 साल निवासी ग्राम बढैयाखेडा ने पुलिस को देखकर रोड के किनारे लगे खेत में छिपकर भागने का प्रयास किया किन्तु पुलिस टीम ने आरोपी को गिरफ्तार किया। आरोपी के पास से 50 ग्राम अवैध स्मैक जब्त की गई। जिसकी कीमत लगभग 5 लाख रुपए थी।
----------------------
केस-६
१ लाख ९० हजार रुपए की 19 ग्राम स्मैक जब्त
पुलिस को मुखबिर के माध्यम से प्राप्त हुयी थी आरोपी विश्वनाथ पटैल ग्राम कमोद में सांकल रोड मंदिर के पास किसी ग्राहक को स्मैक बेचने के उद्देश्य से घूम रहा है। ग्राम कमाद में सांकल रोड मंदिर के पास घेराबंदी की गयी। घेराबंदी के दौरान नहर पर एक मोटरसाईकिल के साथ खड़ा दिखा । उसे गिरफ्तार कर उसके पास से एक पैकेट में 19 ग्राम अवैध जब्त की गई जिसका बाजार मूल्य लगभग 1 लाख 90 हजार रुपए था।
-----------------------
वर्जन
जिले के १३ गांव सर्वाधिक नशा प्रभावित हैं जहां लोगों को नशे से दूर करने के लिए लगातार कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। जिस दिन लोग नशे के दुष्प्रभाव को लेकर पूरी तरह से जागरूक हो जाएंगे उस दिन नशा से दूर हो जाएंगे और अवैध नशे का कारोबार भी बंद हो जाएगा।
अंजना त्रिपाठी, उप संचालक पंचायत एवं सामाजिक न्याय

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned