scriptIndian Railways, Itarsi, Katni, Jabalpur, Passenger Train, Express, Pr | मुसीबत का सफर साबित हो रही ‘मेमू’ ट्रेन | Patrika News

मुसीबत का सफर साबित हो रही ‘मेमू’ ट्रेन

यात्रियों को लग रहा एक्सप्रेस का किराया

नरसिंहपुर

Updated: July 01, 2022 11:35:37 pm

नरसिंहपुर. इटारसी से सतना के लिए चलने वाली दो पैसेंजर गाडिय़ां बंद कर दी गई हैं। उनकी जगह चलाई जा रही मेमू गाड़ी यात्रियों के लिए मुसीबत का सफर साबित हो रही हैं। इसमें एक्सप्रेस का किराया वसूला जा रहा है और यात्रियों को बैठने के लिए सीट भी नहीं मिल रही। इससे पूरे सफर में एक ओर जहां यात्री रेलवे, जन प्रतिनिधियों को कोसते हैं, वहीं दूसरी ओर असुविधाजनक सफर के साथ ही उनकी जेब भी खाली हो रही है।
कोरोना की पहली लहर के बाद जब सभी ट्रेनें बंद की गईं तो पैसेंजर शटल भी बंद कर दी गईं। इटारसी से होकर सतना और कटनी के लिए पूर्व में दो पैसेंजर गाडियां चलाई जाती थीं। सुबह-सुबह चलने वाली इन दोनों गाडिय़ों से हर वर्ग को राहत थी, लेकिन कोरोना के बाद दोनों शटल बंद कर इनकी जगह मेमू गाड़ी चालू कर दी गई, लो लोगों के लिए परेशानी का सफर साबित हो रही है। पूर्व में इटारसी से सतना के लिए और इटारसी से पटना के लिए कटनी के लिए पैसेंजर और फास्ट पैसेंजर नाम से 2 गाडिय़ां चलाई जाती थीं। जिससे इटारसी से लेकर सतना तक सफर करने वालों को काफी सुविधा थी।
14-14 डिब्बों की 2 गाडिय़ों की जगह 7 डिब्बों की एक ट्रेन चलाई

यात्रियों को लग रहा एक्सप्रेस का किराया
यात्रियों को बैठने के लिए सीट नहीं मिल रही।

शटल व फास्ट पैसेंजर में 14 डिब्बे होते थे। रेलवे ने 14-14 डिब्बों की दो गाडिय़ां बंद कर उनकी जगह एक गाड़ी चला दी। अंदाजा लगाया जा सकता है कि 28 डिब्बों के यात्री 7 डिब्बों में कैसे समाते होंगे। पर मरता क्या न करता की तर्ज पर लोग मजबूरी में इस गाड़ी से सफर करने के लिए बाध्य हो रहे हैं।
हालात ये हैं कि लोगों को गाड़ी के अंदर घुसने और गाड़ी से उतरने में हर स्टेशन पर मारामारी का सामना करना पड़ता है। नरसिंहपुर स्टेशन पर ट्रेन आती है तो पुलिस लगाई जाती है, ताकि लोग ट्रेन से उतर सके और यात्री ट्रेन में चढ़ सकें। यही स्थिति जबलपुर, मदन महल से लेकर इटारसी तक बन रही है। दूसरा सबसे बड़ा सवाल यह है कि मेमू गाड़ी इटारसी से कटनी तक के लिए नहीं चलाई जा सकती। यह गाड़ी अधिकतम 100 किमील तक के लिए ही चलाई जा सकती थी। पर रेलवे यात्रियों को मुसीबत में डाल कर इस गाड़ी का संचालन किया जा रहा है। पैसेंजर गाडिय़ों में नरसिंहपुर से लेकर जबलपुर पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राओं को, छोटे व्यापारियों को, नरसिंहपुर से जबलपुर प्राइवेट नौकरी करने वालों को अप-डाउन करने में काफी सुविधा थी। काफी कम किराए में अपनी यात्रा पूरी करते थे। सीट भी आसानी से मिलती थी। पैसेंजर गाड़ी में यदि कोई इटारसी से सतना जाता था तो उसे लेटने के लिए भी सीट मिल जाती थी। नहीं तो ऊपर की बर्थ पर आराम से अपना सफर पूरा करता था। लेकिन मेमू गाड़ी में तो ठीक से बैठ नहीं पाते। दूसरा इस गाड़ी के डिब्बे में खिडक़ी में जालियां लगी हैं। यदि कोई इटारसी से कटनी तक सफर करता है तो भूखा प्यासा ही बना रहता है। क्योंकि खाने पीने के लिए खिडक़ी से खाद्य सामग्री व पानी की बोतल तक नहीं खरीद पाता।
रेलवे को हो रहा फायदा यात्रियों की हो रही जेब खाली-इतना ही नहीं रेलवे पैसेंजर गाड़ी की जगह मेमू गाड़ी में एक्सप्रेस का किराया वसूल कर रही है। इससे लोगों की जेब पर भार पड़ रहा है । पूर्व में यात्री जहां पैसेंजर गाड़ी से काफी कम किराए में जहां अपना सफर पूरा करते थे, वहीं अब लोगों को चार गुना ज्यादा किराया देना पड़ रहा है। कोरोना काल में लोगों की नौकरियां चली गईं और हजारों लोग कम वेतन पर काम कर रहे हैं। ऐसे में लोग आर्थिक तंगी के बावजूद पैसेंजर की जगह मेमू एक्सप्रेस ट्रेन से महंगा सफर करने को मजबूर हैं।
इनका कहना है
रेलवे प्रबंधन से इस बारे में कई बार बात की है। मेमू में एक्सप्रेस की जगह पैसेंजर का किराया वसूलने की भी बात रखी। डिब्बे बढ़ाने को भी कहा। कल फिर जीएम से बात करेंगे। उनसे मांग करेंगे कि मेमू को बंद कर फिर से पुरानी शटल चलाई जाएं।
कैलाश सोनी, राज्य सभा सांसद
यात्रियों की मांग पर जन प्रतिनिधियों ने मेमू के डिब्बे बढ़ाने की मांग बैठक में रखी है। पुरानी शटल गाडिय़ां शुरू करने के संबंध में कोई जानकारी नहीं है।
पीके स्वामी, स्टेशन प्रबंधक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

रोहिंग्या शरणार्थियों को फ्लैट देने की खबर है झूठी, गृह मंत्रालय ने कहा- केंद्र ने ऐसा कोई आदेश नहीं दियागुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, वरिष्ठ नेता नरेश रावल और राजू परमार ने थामी भाजपा की कमानलालू यादव ने बताया 2024 का प्लान, बोले- तानाशाही सरकार को हटाना हमारा मकसद, सुशील मोदी को बताया झूठाBJP के नए संसदीय बोर्ड और चुनाव समिति का गठन, गडकरी व शिवराज की छुट्टी, देखिए कौन-कौन नेता शामिलकिडनैंपिग के आरोपी हैं बिहार के कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह, सरेंडर वाले दिन ही ली शपथ, नीतीश बोले-मुझे जानकारी नहींदिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने लॉन्च किया ‘मेक इंडिया नंबर-1’ कैंपेन, पूछा - आजादी के 75 वर्ष बाद भी हम बाकी देशों से पीछे क्यों?सुप्रीम कोर्ट ने 'रेवड़ी कल्चर' के खिलाफ सभी पक्षों से मांगे सुझाव, 22 अगस्त तक दिया वक्तशिवमोगा तनाव पर कर्नाटक BJP नेता केएस ईश्वरप्पा का विवादित बयान- मुस्लिम यहां शांति से रहे या पाकिस्तान चले जाएं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.