अब तक सामने नहीं आया 14 लाख की शराब का दावेदार

प्रथम दृष्टया यह माना जा रहा है कि परिवहन की जा रही शराब अवैध थी।

By: ajay khare

Published: 20 Jul 2018, 08:16 PM IST

नरसिंहपुर। करीब एक सप्ताह पहले दादा महाराज के पास एक्सीडेंट के बाद जब्त की गई करीब १४ लाख की अंग्रेजी शराब का दावेदार अभी तक सामने नहीं आया है जिससे प्रथम दृष्टया यह माना जा रहा है कि परिवहन की जा रही शराब अवैध थी। रजिस्ट्रेशन नंबर के अनुसार गाड़ी क्रमांक एमपी २० जीए ०१७५ सिद्धबाबा वार्ड जबलपुर निवासी राजेश नामदेव के नाम पर रजिस्ट्रर्ड है जो गाड़ी का तीसरा ऑनर है।

पुलिस का कहना है कि इस पते पर तलाश करने पर वाहन मालिक नहीं मिला है और अब परिवहन विभाग को पत्र लिखकर वाहन के असली मालिक का पता करने का प्रयास किया जा रहा है। स्टेशनगंज थाना प्रभारी श्रंगेश राजपूत का कहना है कि अवैध शराब का पता लगाने के लिए आबकारी के संबंधित गोदामों से जानकारी जुटाई जा रही है। इसके अलावा जिला आबकारी विभाग को भी पत्र लिखा गया है। फिलहाल अभी तक कोई ऐसा व्यक्ति सामने नहीं आया है जिसने शराब के परिवहन और वाहन को लेकर अपना दावा किया हो।

अब तक सामने नहीं आया १४ लाख की शराब का दावेदार

नरसिंहपुर। करीब एक सप्ताह पहले दादा महाराज के पास एक्सीडेंट के बाद जब्त की गई करीब १४ लाख की अंग्रेजी शराब का दावेदार अभी तक सामने नहीं आया है जिससे प्रथम दृष्टया यह माना जा रहा है कि परिवहन की जा रही शराब अवैध थी। रजिस्ट्रेशन नंबर के अनुसार गाड़ी क्रमांक एमपी २० जीए ०१७५ सिद्धबाबा वार्ड जबलपुर निवासी राजेश नामदेव के नाम पर रजिस्ट्रर्ड है जो गाड़ी का तीसरा ऑनर है।
पुलिस का कहना है कि इस पते पर तलाश करने पर वाहन मालिक नहीं मिला है और अब परिवहन विभाग को पत्र लिखकर वाहन के असली मालिक का पता करने का प्रयास किया जा रहा है। स्टेशनगंज थाना प्रभारी श्रंगेश राजपूत का कहना है कि अवैध शराब का पता लगाने के लिए आबकारी के संबंधित गोदामों से जानकारी जुटाई जा रही है। इसके अलावा जिला आबकारी विभाग को भी पत्र लिखा गया है। फिलहाल अभी तक कोई ऐसा व्यक्ति सामने नहीं आया है जिसने शराब के परिवहन और वाहन को लेकर अपना दावा किया हो।

ajay khare
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned